सहकारी बैंक में घोटाला : विधायक बोले- 100 करोड़ का है घोटाला, खाताधारक ने की आत्मदाह की कोशिश

सहकारी बैंक में घोटाला, जांच टीम के साथ दिखा निलंबित शाखा प्रभारी, खाताधारकों ने किया हंगामा। शाखा प्रभारी से की झूमाझटकी, खाते से 7.10 लाख रु.गायब तो युवक ने खुद पर डाला पेट्रोल। चंदेरी विधायक बोले- बैंक में हुआ 100 करोड़ का घोटाला, की सीबीआई जांच की मांग। राज्यमंत्री बोले कराएंगे उच्चस्तरीय जांच।

By: Faiz

Updated: 12 Oct 2021, 04:29 PM IST

अशोकनगर. अपने बैंक खातों से रुपए गायब होने से नाराज खाताधारकों ने जांच टीम के साथ निलंबित शाखा प्रभारी को देखा, तो धाताधारक भड़क गए और बैंक के सामने निलंबित शाखा प्रभारी से झूमाझटकी की व बैंक नहीं खुलने दी। वहीं अपने खाते से 7.10 लाख रुपए गायब होने से नाराज खाताधारक के पुत्र ने बैंक के बाहर खुद के ऊपर पेट्रोल डालकर आग लगाने तक का प्रयास किया। हंगामे के चलते बैंक दोपहर करीब 3 बजे खुल सकी।


मामला जिला सहकारी केंद्रीय बैंक शाखा चंदेरी का है। जांच टीम आने की सूचना पर खाताधारक सुबह से ही बैंक के पास पहुंच गए थे। जांच टीम के साथ निलंबित शाखा प्रभारी बृजेशदयाल श्रीवास्तव पहुंचे, तो खाताधारकों ने उनसे झूमाझटकी की। वहीं, बैंक के एक खाताधारक मोहसिन खान ने पेट्रोल डालकर खुद को आग लगाने का प्रयास किया, हालांकि, वहां मौजूद अन्य लोगों ने उसे किसी तरह बचा लिया।


बैंक के बाहर लोगों का हंगामा देख तहसीलदार ने सूचना दी, तो एसडीओपी पुलिस टीम के साथ पहुंचीं और लोगों को सख्ती से हटाया। वहीं, एसडीएम प्रथम कौशिक भी मौके पर पहुंचे। खाताधारकों का कहना था कि, जब निलंबित शाखा प्रभारी खुद जांच टीम के साथ हैं, तो निष्पक्ष जांच कैसे होगी? इससे काफी देर तक लोगों ने हंगामा किया और बाद में एसडीएम और पुलिस की समझाइश पर खाताधारक माने।

 

पढ़ें ये खास खबर- भोपाल और इंदौर के साथ अब MP के इन 3 शहरों में भी दौड़ेगी मेट्रो, सरकार ने की तैयारी


साढ़े चार घंटे देर से खुली शाखा, जांच शुरु

सुबह करीब साढ़े 10 दस बजे खुलने वाली सहकारी बैंक शाखा शाम को तीन बजे खुल सकी। इससे जिला सहकारी केंद्रीय बैंक गुना से आई चार सदस्यीय जांच टीम ने वहां मौजूद खाताधारकों को एक-एक करके बुलाया और उनसे खाते में जमा राशि की जानकारी ली और उसकी सूची तैयार की। इससे शाम तक बैंक शाखा के बाहर लोगों की भीड़ लगी रही। खाताधारकों का कहना है कि, उनकी मेहनत की कमाई को बैंक कर्मचारियों ने उनके खाते से निकाल लिया है और इस मामले की सीबीआई जांच कराई जाए और दोषियों के खिलाफ एफआईआर की जाए और खाताधारकों की गायब हुई राशि वापस दिलाई जाए।


विधायक ने कहा- करीब 100 करोड़ का है यह घोटाला

घटना की जानकारी लगते ही चंदेरी विधायक गोपाल सिंह चौहान भी मौके पर पहुंचे और उन्होंने कहा कि, बैंक कर्मचारियों ने लोगों के खातों से राशि निकाल ली। करीब 100 करोड़ रुपए का घोटाला चंदेरी सहकारी बैंक में हुआ है। विधायक ने कहा कि, अभी ज्यादातर किसानों को तो जानकारी ही नहीं है कि, ये गड़बड़ी हुई है, जब वो आकर अपने खाते चैक कराएंगे, तो घोटाले की हकीकत का पता चलेगा। साथ ही, विधायक ने कहा कि, अकेला केशियर इतना बड़ा घोटाला नहीं कर सकता। मामले में बैंक के अन्य कर्मचारी भी शामिल हैं। इसलिए मामले की सीबीआई जांच होना चाहिए। वहीं, एसडीएम ने कहा कि दो-तीन दिन में जांच पूरी हो जाएगी और जांच रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

 

पढ़ें ये खास खबर- महाकाल मंदिर में डांस करके फंसी महिला, माफी मांगने के बाद भी दर्ज हुई FIR


क्या कहते हैं जिम्मेदार?

मामले को लेकर चंदेरी एसडीएम प्रथम कौशिक का कहना है कि, शुक्रवार को शिकायत मिली, तो हमने बैंक शाखा को सील करा दिया था। आज बैंक का जांच दल गुना से आया तो यहां पहले से ही खाताधारकों की भीड़ इकट्ठा थी। इसी के चलते समय पर बैंक की सील नहीं खोल पाए और दोपहर में बैंक की सील खुल सकी। जांच दल शाम तक अपनी जांच पूरी करेगा और प्रारंभिक जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।


विधायक बोले- 100 करोड़ का है घोटाला

वहीं, चंदेरी विधायक गोपाल सिंह चौहान का कहना है कि, ये कोई छोटा मोटा नहीं बहुत बड़ा घोटाला हुआ है। लोगों के एफडीआर से फर्जी तरीके से राशि गायब हो गई। सभी कर्मचारियों की मिली भगत से ये गड़बड़ी हुई है। बैंक में पदस्थ सभी कर्मचारियों को हटाया जाए और मामले की सीबीआई से जांच कराई जाए।


इसलिए की आत्मदाह की कोशिश

खाते से पैसे गायब होने की चिंता में खुद पर पेट्रोल छिड़ककर आत्महत्या का प्रयास करने वाले बैंक के खाताधारक मोहसिन खान का कहना है कि, मेरे पिता ने 15 साल रुपए जोड़कर बहन की शादी करने के लिये इस बैंक में एफडी कराई थी। एफडी फरवरी में पूरी हुई और तब की पासबुक में 7 लाख 19 हजार 63 रुपए की इंट्री है। लेकिन स्टेटमेंट निकाला तो 7.10 लाख रुपए खाते से गायब हैं। जबकि, हमने न एफडी तोड़ी और न कोई विड्राल किया है। हमारी तो पूरी उम्मीदों पर पानी फिर गया, ऐसे में अब जीने का क्या फायदा, इसलिए मैंने खुद को आग लगाने का प्रयास किया।

 

पढ़ें ये खास खबर- Amitabh Bachchan Birthday : अमिताभ बच्चन का अजब दीवाना, अपने रिक्शा को बना लिया 'शहंशाह का मंदिर'


मामले की होगी उच्चस्तरीय जांच- राज्यमंत्री

मामले को लेकर राज्यमंत्री बृजेंद्रसिंह यादव ने कहा कि, लोगों ने अपने खाते चैक कराए तो सभी के खातों से राशि साफ थी और एफडी से भी रुपए गायब हैं, लोगों ने मुझे आवेदन दिया है। इसकी उच्चस्तरीय जांच कराएंगे, सहकारिता मंत्री से भी बात करूंगा और दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।


मामले की खास बातें-

- बैंक के कैशियर शाकिर अली ने 4 अक्टूबर को उत्तर प्रदेश के ललितपुर के पास ट्रेन से कटकर आत्महत्या कर ली थी, जिसके सुसाइड नोट से गड़बड़ी की जानकारी मिली।
- शाकिर अली जिला सहकारी केंद्रीय बैंक शाखा चंदेरी में चपरासी था और बैंक द्वारा उससे कैशियर का काम कराया जा रहा था, इससे बैंक की भूमिका संदिग्ध है।
- लोगों ने बैंक पहुंचकर अपने खातों की जांच कराई, तो उनके बैंक खातों से लाखों रुपए की राशि गायब थी, इससे लोगों के साथ विधायक ने नाराजगी जताई थी।
- चंदेरी एसडीएम ने बैंक शाखा को सील कर दिया था और सोमवार को नए स्टाफ के साथ बैंक शाखा खुलने के निर्देश एसडीएम ने दिए थे।
- जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के प्रधान कार्यालय गुना ने शाखा प्रभारी को निलंबित कर मामले की जांच के लिए चार सदस्यीय जांच टीम गठित की है।

 

देखें खबर से संबंधित वीडियो...

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned