scriptलव मैरिज का खौफनाक अंत, पिता बोले- हमने तो बेटी खिलखिलाती हुई विदा की थी, क्या पता था लौटेगी नहीं | Love Mahouti had bid farewell to my daughter smiling brightly, who knew she would not return | Patrika News
औरैया

लव मैरिज का खौफनाक अंत, पिता बोले- हमने तो बेटी खिलखिलाती हुई विदा की थी, क्या पता था लौटेगी नहीं

Auraiya Crime News: उत्तर प्रदेश के लखनऊ की युवती को पहले सोशल मीडिया पर प्यार हुआ, फिर दोनों ने शादी कर ली। कुछ दिनों बाद दोनों में विवाद होने लगा। इसके बाद युवती का शव एक बगीचे में मिला।

औरैयाJun 10, 2024 / 08:26 am

Aman Pandey

सांकेतिक तस्वीर

Auraiya Crime News: बेटी की खुशियों के लिए सुमित के साथ शादी की। हैसियत के मुताबिक दहेज दिया। लेकिन सुमित के परिवार की इच्छाएं पूरी नहीं हुईं। दहेज के लिए बेटी को ससुराल में प्रताड़ित किया जाने लगा। जिसे मैंने कभी थपकी भी नहीं दी। उस पर जुल्म होने की बात सुनकर सह नहीं सका। दो बार बेटी को घर लाया। मगर सुमित दबाव बनाकर विदा करा ले गया। आखिरी बार को बेटी हंसती हुई घर से विदा होकर गई थी। पति के साथ पल्लवी पांच जून को उन्नाव में मौसी के घर भी गई थी। छह जून की शाम सुमित पत्नी के साथ औरेया के लिए उन्नाव से निकला। इसके बाद सात जून को पल्लवी का शव मिला। हम सोच भी नहीं सकते थे कि जीवन भर साथ निभाने की कसमें खाने वाला सुमित बेटी को मार देगा। यह शब्द फेसबुक फ्रेंड से लव मैरिज करने वाली पल्लवी के पिता के हैं।

हत्या से पहले सुमित ने बंद किया था पल्लवी का मोबाइल

मोतीनगर निवासी रामशंकर ने बताया कि निवाजखेड़ा स्थित साईं संस्था ने कन्या विवाह कराया था। इसमें 24 फरवरी को उन्होंने बेटी पल्लवी की शादी उसके फेसबुक फ्रेंड सुमित से की थी। ससुराल पहुंचने के बाद ही दहेज के लिए पल्लवी को प्रताड़ित किया जाने लगा। मारपीट के कारण वह बेटी को पहली बार होली में और फिर मई में वापस ले आए थे। पल्लवी को वापस ले जाने के लिए सुमित 29 मई को घर आया। ससुर के पैर छूकर अपने किए पर माफी मांगते हुए भविष्य में गलती नहीं करने की बात कही। इस भरोसे पर रामशंकर और उनकी पत्नी मनीषा ने बेटी को हंसते हुए विदा कर दिया।

सात जून को 9 बजे के बाद स्विच ऑफ हो गया मोबाइल

रामशंकर बताते हैं कि पांच जून को सुमित के साथ पल्लवी उन्नाव धानीखेड़ा में मौसी के घर पहुंची थी। एक रात मौसी के घर में रुक कर। छह जून की शाम को ससुराल जाने के लिए पल्लवी पति के साथ स्टेशन पहुंची। ट्रेन में बैठने के बजाए सुमित पत्नी को लेकर रात भर प्लेटफार्म पर रहा। सात जून की सुबह करीब नौ बजे राम शंकर की बेटी से फोन पर बात हुई। जिसके बाद फोन स्विच ऑफ हो गया। एसची मीडिया के रिपोर्ट के मुताबिक, राम शंकर ने बताया कि वह खैरियत लेने के लिए बेटी को कॉल करते रहे। फोन नहीं उठा। सुमित का मोबाइल भी स्विच ऑफ था। जिससे राम शंकर परेशान हो गए। सात जून की शाम करीब छह बजे दिबियापुर थाने से दरोगा ने फोन कर राम शंकर को पल्लवी की हत्या किए जाने की जानकारी दी।

Hindi News/ Auraiya / लव मैरिज का खौफनाक अंत, पिता बोले- हमने तो बेटी खिलखिलाती हुई विदा की थी, क्या पता था लौटेगी नहीं

ट्रेंडिंग वीडियो