बिहार के पूर्व डीजीपी बन गए कथावाचक, अयोध्या में सुना रहे श्रीमद् भागवत कथा

- बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय एक बार फिर चर्चा में
- नए नए रुप धारण कर लोगों को चौंका देना पूर्व डीजीपी का शगल
- अब उनका नया ठिकाना बना रामलला की जन्मभूमि अयोध्या

By: Mahendra Pratap

Published: 27 Jun 2021, 01:57 PM IST

अयोध्या. Bihar former DGP Gupteshwar Pandey narrator बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय एक बार फिर चर्चा में आ गए हैं। नए नए रुप धारण कर लोगों को चौंका देना पूर्व डीजीपी का शगल है। अब उनका नया ठिकाना बना रामलला की जन्मभूमि अयोध्या, जहां वे अपने नए अवतार में नजर आ रहे हैं। पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने पीतांबर धारण कर लिया है। और अब वह कथा बांच रहे हैं। अयोध्या के हरी सुदर्शन आश्रम में कथावाचक पूर्व डीजीपी ने गीतोक्त संस्था के साथ श्रीमद्भागवत कथा का पाठ किया। उनकी कथा के लिए भारी संख्या में लोग जुट रहे हैं।

यूपी के 12 जेल अधीक्षकों का तबादला, तुरंत ज्वाइन करने के आदेश

कथा सुनते हुए रोने लगे :- पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने 15 जून से 22 जून तक अयोध्या में श्रीमद् भागवत कथा पाठ किया। श्रीमद् भागवत कथा सुनते वक्त वह वात्सल्य प्रेम इतना डूब जाते है कि वाचन करते समय रोने लगते हैं। इस कथा का प्रसारण जूम ऐप पर किया गया। वर्चुअली जुड़कर लोगों ने पाठ को सुना। सोशल मीडिया पर इसका वीडियो जमकर वायरल हो रहा है।

पूर्व डीजीपी के कई अवतार :- पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय के बारे में अगर बात करें तो अपनी नौकरी में वे बेहद सख्त और कड़क पुलिस अधिकारी माने जाते थे। पर अचानक उनको राजनीति का शौक चराया तो वीआरएस ले लिया। और जेडीयू में शामिल हो गए पर बिहार विधानसभा चुनाव में उन्हें टिकट नहीं मिला। तो अब वह कथावाचक की भूमिका में आ गए है।

नए अंदाज देते रहे हैं सरप्राइज :- इसके अलावा भी पूर्व डीजीपी अपने नए अंदाज से लोगों को सरप्राइज देते रहे थे। कभी अचानक महफिल में गजल गायक के रूप में तालियां बटोरी। नहीं तो खुले तालाब के किनारे गमछा लपेटकर नहाने चले गए। तो कभी पगड़ी बांधे गाय दुहने लगे। ये तस्वीरें सोशल मीडिया पर खूब छाई रही।

गोवर्धन और वृंदावन में करेंगे कथावाचन :- गुप्तेश्वर पांडेय आगे का कार्यक्रम गोवर्धन और वृंदावन में कथावाचन करने का है। गोवर्धन में 16 से 22 जुलाई तक और वृंदावन के भोगला आश्रम में 24 से 30 जुलाई तक श्रीमद् भागवत कथा पाठ करेंगे।

Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned