UP: राम मंदिर के लिए करना होगा नवरात्रि तक इंतजार, अक्टूबर में ही शुरू होगा मस्जिद का भी निर्माण

- अब नवरात्रि से शुरू होगा भव्य राम मंदिर (Ram Mandir) का निर्माण
- विहिप ने दिए संकेत सावन में नहीं होगा शिलान्यास
इनसेट
- अक्टूबर में पांच एकड़ जमीन पर होगा मस्जिद का निर्माण कार्य

By: Karishma Lalwani

Published: 06 Jul 2020, 04:39 PM IST

अयोध्या. अयोध्या में भगवान राम के भव्य मंदिर (Ram Mandir) के निर्माण के लिए भक्तों को अब नवरात्रि (Navratri 2020) तक इंतजार करना होगा क्योंकि मंदिर का निर्माण अब अक्टूबर में शुरू होगा। सावन का महीना शुरू हो चुका है और सावन, भादों और कुंआर के इन तीन महीनों में अब कोई शुभ काम नहीं हो सकते हैं इसलिए अब अक्तूबर में पड़ने वाले शारदीय नवरात्र में ही मंदिर निर्माण के लिए शिलान्यास पूजन की तैयारी की जा रही है। विश्व हिन्दू परिषद ने इस बात के संकेत दिए हैं कि राम मंदिर का शिलान्यास सावन में नहीं होगा। उधर, सुन्नी वक्फ बोर्ड (Sunni Waqf Board) ने भी तय किया है कि मस्जिद निर्माण के लिए दी गई पांच एकड़ जमीन पर भी निर्माण कार्य अक्टूबर में शुरू किया जाए।

संतों ने पीएम मोदी को लिखा पत्र

अयोध्या में करीब 78 एकड़ के परिसर में बाकी अन्य इमारतों और अन्य निर्माण के लिए काम जारी है। भूमि परिशोधन के लिए आध्यात्मिक, धार्मिक और नैष्ठिक अनुष्ठान जारी हैं। विश्व हिन्दू परिषद् (Wishwa Hindu Parishad) का मानना है कि देश भर में कोरोना की स्थिति पूरी तरह काबू में आ जाने और समस्त परिस्थितियां अनुकूल रहने पर दुर्गापूजा के दौरान भूमिपूजन किया जा सकता है।

26 जून को विहिप की बैठक में निर्णय के बाद संतों ने पीएम मोदी (PM Modi) को पत्र लिखकर भगवान राम के मंदिर का शिलान्यास करने के लिए अयोध्या आने का आग्रह किया था। राम मंदिर का शिलान्यास अक्टूबर में प्रस्तावित है। इस शिलान्यास कार्यक्रम को एक भव्य आयोजन बनाने के लिए बड़े पैमाने पर इसकी ब्रांडिंग भी की जाएगी।

अक्टूबर में मस्जिद का निर्माण

दूसरी ओर मस्जिद पक्ष की ओर से भी अक्टूबर में काम शुरू करने का ऐलान किया गया है। सुन्नी वक्फ बोर्ड की ओर से कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा मस्जिद निर्माण के लिए दी गई जमीन का निर्माण अक्टूबर में शुरू किया जाए।ये ऐलान सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड का कार्यकाल 6 महीने बढ़ाने को मंजूरी मिलने के बाद ही हुआ है। वक्फ बोर्ड के चेयरमैन जुफैर फारूकी ने कहा कि यूपी सरकार की ओर से अयोध्या के निकट तय की गई पांच एकड़ जमीन पर मस्जिद निर्माण के लिए 14 सदस्यों वाली मस्जिद निर्माण कमेटी बना दी गई है। इसमें इस्लाम के वरिष्ठ धर्मगुरु और आर्किटेक्ट भी शामिल हैं।

फारूकी के अनुसार कार्यकाल का विस्तार होने के बाद बोर्ड की पहली मीटिंग इसी महीने आनलाइन होगी। मीटिंग में अयोध्या में सरकार की ओर से मिली जमीन पर मस्जिद निर्माण के लिए पहले लाए गए प्रस्तावों की पुष्टि भी की जाएगी।

ये भी पढ़ें: Ram Mandir: मॉडल नहींं बदला जाएगा राम मंदिर का डिजाइन, पिंक स्टोन से किया जाएगा भव्य निर्माण

PM Narendra Modi Ram Mandir
Show More
Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned