Ayodhya : गोंडा जिले के माझा इलाके में कुटीर उद्योग की शक्ल ले चुका है कच्ची शराब का कारोबार

Ayodhya : गोंडा जिले के माझा इलाके में कुटीर उद्योग की शक्ल ले चुका है कच्ची शराब का कारोबार

Anoop Kumar | Updated: 08 Aug 2019, 08:20:06 PM (IST) Ayodhya, Ayodhya, Uttar Pradesh, India

अयोध्या पुलिस की कार्यवाही में बड़े पैमाने पर सामने आया जानलेवा कारोबार का काला सच

अयोध्या : जिले में सरयू नदी ( Saryu Nadi ) के पार गोंडा ( Gonda ) जिले से अवैध रूप से बनी हजारों लीटर कच्ची शराब की सप्लाई की जा रही है। गोंडा इलाके का सरयू ( Saryu river ) का कछार कच्ची शराब ( Kachchi Sharab ) का हब बनता नजर आ रहा है। अयोध्या पुलिस ( ayodhya police ) व आबकारी विभाग ( Excise department ) की संयुक्त छापेमारी में इसका खुलासा हुआ है। संयुक्त टीम ने जब नदी के पार गोंडा जिले के माझा में छापा मारा तो अवैध शराब बनते देख अफसरों की आंखें फटी रह गई।केवल 2 ठिकाने पर छापेमारी मेंभारी मात्रा में लहन और कच्ची शराब ( Kachchi Sharab ) बरामद हुई।इसी गोंडा इलाके से अयोध्या जनपद में भारी मात्रा में शराब की सप्लाई होती है जिसका खुलासा पुलिस और आबकारी विभाग के संयुक्त छापेमारी में हुआ है।

ये भी पढ़ें - रामलला विराजमान के अधिवक्ता ने किया दावा पौराणिक ग्रंथों में है उल्लेख अयोध्या में उसी स्थान पर राम ने लिया जन्म

अयोध्या पुलिस की कार्यवाही में बड़े पैमाने पर सामने आया जानलेवा कारोबार का काला सच

जनपद के थाना कैंट( Cant Ayodhya ) क्षेत्र के मध्य कछार में जब आबकारी विभाग और पुलिस विभाग की संयुक्त टीम ने छापा मारा तो उस जगह तो कुछ नहीं मिला लेकिन नाव से जब दोनों टीमें सरयू के उस पार कछार में पहुंची तो आंखें खुली की खुली रह गई।पुलिस की टीम देखते ही अवैध शराब बनाने वाले तो फरार हो गए लेकिन पुलिस की टीम ने लगभग 50 हज़ार कुंतल लहन नष्ट किया और लगभग 500 लीटर शराब बरामद की।दरअसल इस समय सरयू नदी का जलस्तर बढ़ा होने के बावजूद उस पार माझा में अवैध शराब बनाने का धंधा चल रहा है। इसकी गुप्त जानकारी पुलिस को मिली तब डीएम अनुज झा ( DM Ayodhya )और एसएसपी आशीष तिवारी ( SSP Ayodhya Ashish Tiwari ) ने संयुक्त टीम बनाकर नदी के उस पार छापेमारी करवाई ।

ये भी पढ़ें - बड़ी खबर : निर्मोही अखाड़े ने कहा विवादित भूमि पर उनका दावा सन 1934 से है जबकि सुन्नी वक्फ बोर्ड ने किया 1961 में दावा

आबकारी विभाग और पुलिस की संयुक्त कार्यवाही में नष्ट की गयी हजारों लीटर अवैध कच्ची शराब और लहन

छापे में कैंट थाने की पुलिस व आबकारी विभाग के 4 इंस्पेक्टर अपनी टीम लेकर नदी के पार पहुंचे। सरयू पार 250 लीटर वाले ड्रम में शराब बनते देख कर अफसर चकित हो गए।पुलिस ने गुप्तारघाट के उस पार जंगल में चल रहे केवल दो ठिकानों को खंगाला। छापे की कार्रवाई का निर्देशन आबकारी इंस्पेक्टर नीरजा सिंह कर रही थी। छापे के दौरान देखा गया कि सरयू पार गोंडा इलाके में कच्ची शराब बनाने की मिनी डिस्टलरी चल रही है। अभी तो केवल दोनों टीमों ने केवल 2 ठिकानों पर अभियान चलाया था ऐसे ही गोंडा के और इलाकों में भी कच्ची शराब का धंधा कुटीर उद्योग बन कर उभर रहा है ।

ये भी पढ़ें - जम्मू कश्मीर के शोपियां ( Shopiyan ) और पुलवामा ( Pulwama ) का रहने वाला है दूल्हा रुखसार और अन्य बाराती

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned