scriptSuryadev will do Ramlala's tilak Ramnavmi Ayodhya | अयोध्या में रामनवमी को सूर्यदेव करेंगे रामलला का तिलक, जानें इसके पीछे का विज्ञान | Patrika News

अयोध्या में रामनवमी को सूर्यदेव करेंगे रामलला का तिलक, जानें इसके पीछे का विज्ञान

locationअयोध्याPublished: Jan 16, 2024 06:13:14 pm

Submitted by:

Aman Kumar Pandey

अयोध्या में 22 जनवरी को रामलला मंदिर में विराजमान होने जा रहे हैं। रामलला की मूर्ति पर सूर्य तिलक की बात कही जा रही है।

ram lala
Ayodhya: अयोध्या के नव निर्मित राम मंदिर भवन में एक सिस्टम तैयार किया गया है। यह सिस्टम सूर्य के प्रकाश और लेंस का इस्तेमाल कर तैयार किया गया है। जिस वजह से गर्भगृह में विराजमान होने वाली रामलला की मूर्ति के माथे पर सूर्य की किरण प्रकाश मान होगी। रामनवमी के अवसर पर सूर्य की किरणें रामलला के माथे पर पड़ेगी जिससे उनका सूर्य तिलक होगा। पौराणिक कथाओं के अनुसार भगवान प्रभु श्री राम सूर्यवंशी थे। इसलिए उनके यहां सूर्य तिलक की परंपरा है।
सूर्य की किरणें इस दिन करेंगी तिलक

प्रभु श्री राम की प्रतिमा पर सूर्य तिलक कब होगा। किस समय होगा। इसको लेकर राम मंदिर निर्माण समिति के अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्रा ने कहा कि हर साल रामनवमी की तिथि पर सूर्य की किरण रामलला के प्रतिमा के मस्तिष्क पर तिलक करेंगी। उन्होंने बताया कि रामनवमी पर दोपहर 12 बजे सूर्य की किरणें रामलला के मस्तिष्क पर तिलक करेंगे। हनुमानगढ़ी मंदिर के महंत राजू दास ने बताया कि भगवान रामलला सूर्यवंशी थे। इसलिए सूर्य तिलक की परंपरा है।
वैज्ञानिकों ने तैयार किया मंदिर का डिजाइन

राम मंदिर की संरचनात्मक डिजाइन, सूर्य तिलक और संरचनात्मक स्वास्थ्य निगरानी का कार्य केंद्रीय भवन अनुसंधान संस्थान के वैज्ञानिकों ने किया है। मंदिर निर्माण में कार्यरत एक वैज्ञानिक ने बताया कि हर साल रामनवमी के दिन रामलला की मूर्ति के माथे पर सूर्य की किरणों से तिलक होगा। इसके लिए राम मंदिर के तीसरी मंजिल से लेकर रामलला की मूर्ति तक पाइपिंग और आप्टो मैकेनिकल सिस्टम की सहायता से सूर्य की किरणों को पहुंचाया जाएगा।

ट्रेंडिंग वीडियो