script थोड़ा अरर्जेंट है...45 हजार रुपए चाहिए! | chomu | Patrika News

थोड़ा अरर्जेंट है...45 हजार रुपए चाहिए!

locationबगरूPublished: Feb 10, 2024 06:34:42 pm

Submitted by:

Kailash Barala

-सभापति की फर्जी वाट्सएप प्रोफाइल बनाकर मदद के बहाने मांगे पैसे
-साइबर जालसाज हो रहे सक्रिय

थोड़ा अरर्जेंट है...45 हजार रुपए चाहिए!
chomu
चौमूं.
थोड़ा अरर्जेंट हंै, 45 हजार रुपए चाहिए। पिताजी बीमारी है। थोड़े से पैसों की जरूरत है। 10 हजार रुपए फोन पे कर दो। चौमूं नगर परिषद के सभापति की वाट्सएप पर फर्जी प्रोफाइल बनाकर परिचित लोगों से मैसेज के जरिए रुपए मांगे जा रहे हैं। हालांकि किसी के ठगी का शिकार होने की सूचना नहीं मिली है। मामला सामने आने पर सभापति विष्णु कुमार सैनी ने थाने में शिकायत की और सोशल मीडिया के जरिए लोगों से पैसे नहीं देने अपील की। ताकि कोई ठगी का शिकार नहीं हो सके। शहर के अनेक लोगों को वाट्सएप पर मैसेज के जरिए मदद के बहाने पैसे मांगे गए है। उल्लेखनीय है कि साइबर ठग जालसाजी से ठगी के नीत नए रास्ते अपना रहे है। बैंक के अधिकारी बनकर लिंक के माध्यम से ठगी करने का काम पुराना होने के साथ ही अब साइबर जालसाज सोशल मीडिया अकाउंट को हैक कर और फर्जी प्रोफाइल बनाकर लोगों को ठग रहे है। चौमूं शहर सहित ग्रामीण इलाकों ठगी करने वाले गिरोह फर्जी प्रोफाइल के जरिए लोगों से पैसे मांग चुके है। बांसा निवासी लालचंद,ख्चौमूं शहर निवासी अशोक कुमार जाट ने बताया कि पिछले दिनों उनकी फर्जी वाट्सएप प्रोफाइल बनाकर परिचित लोगों से रुपए मांगे गए थे।(कासं.)

इमरजेंसी है, अभी पैसे चाहिए
शहर निवासी सोहनलाल ने बताया कि शनिवार को उसके वाट्सएफ पर मैसेज आया और उसने इमजेंसी बताते हुए 20 हजार रुपए की मांग की। उस वाट्सएप पर सभापति की फोटो लगाई हुई थी। एक बार तो उसने पैसे भेजने के लिए फोन पे नंबर भी मांग लिए थे, लेकिन बाद में ख्याल आया कि एक बार कॉल कर जानकारी ली जाए। फोन किया तो माजरा समझ आया। मैसेज करने वाले व्यक्ति को उलहाना दिया तो ब्लॉक कर दिया।


अस्पताल में मां भर्ती, पैसों की जरूरत
चौमूं शहर निवासी सतीश कुमार ने बताया कि उसके पास वाट्सएप पर सभापति की फोटो लगी प्रोफाइल से 45 हजार रुपए मांगे गए। उसने अपनी मां के अस्पताल में भर्ती होने की बात कही। साथ ही उसने फोन पे नंबर भी भेजे। इसको लेकर उसने सभापति से कॉल की तो समझ आया कि यह कोई ठग है। बाद में उसने नंबर ब्लॉक कर दिए।


यह रखें सावधानी
चौमूं थाना प्रभारी प्रदीप शर्मा ने बताया कि साइबर ठगों से सावधानी बरतने की जरूरत है। इसको लेकर समय-समय पर सोशल मीडिश्या पर लोगों को आगाह किया जाता है। वाट्सएप पर कोई भी करीबी बनकर मदद मांग रहा है तो सबसे पहले उसे कॉल कीजिए। किसी ओटीपी की जानकारी नहीं देनी चाहिए। पैसे मांगने की स्थिति में परिचित से क्रॉस चेक कर लेना चाहिए। साथ ही सोशल मीडिया पर किसी भी अनचाही ई मेल, एसएमएस या मैसेज से आए अटैचमेंट को खोलने या क्लिक करने से बचना चाहिए। अगर वाट्सएप अकाउंट हैक हुआ है तो आपकों तुरंत ही वाट्सएप रिसेट कर लेना चाहिए।

ट्रेंडिंग वीडियो