बेंगलूरु . दो युवकों की तत्परता से बड़ा ट्रेन हादसा टल गया और सैकड़ों ट्रेन यात्रियों की जान बच गई। शनिवार दोपहर 12:44 बजे बेलगावी से हुब्बली की ओर रवाना हुई ट्रेन संख्या 11304 मनुगुरु एक्सप्रेस बेलगावी जिले की खानापुर तहसील में गांधीनगर के पास किमी क्रमांक 582-600/700 के बीच से गुजर रही थी। उसी समय ट्रैक के पास से गुजरने वाली सड़क से बाइक पर सवार दो युवक रियाज (25) और तौफीक (24) गंतव्य की ओर जा रहे थे। तभी उन्होंने ट्रैक पर धराशायी एक पेड़ देखा। युवकों ने पाया कि एक ट्रेन तेजी से उसी ओर जा रही है, तो उन्हें हादसे का अंदेशा हो गया। उन्होंने पटरियों के पास आकर रूमाल हिलाकर चालक को इशारा करने का प्रयास किया। मगर जब लगा कि चालक उनका संकेत नहीं समझ सके तो दोनों युवकों ने ट्रेन की ही दिशा में पटरियों पर तेजी से दौडऩा शुरू कर दिया। चालक को अनहोनी की आशंका हुई तो उसने आपात ब्रेक लगाकर ट्रेन रोक दी। युवकों ने चालकों को आगे पटरी पर पेड़ पड़े होने की जानकारी दी, जो वहां से कुछ ही दूरी पर था। यदि सही समय पर ट्रेन नहीं रुकती तो बड़ा हादसा हो सकता था। इस पर ट्रेन के स्टाफ ने नजदीकी स्टेशन को इस संबंध में सूचना भेजी। चालकों और यात्रियों ने रियाज, तौफीक की तारीफ की और उन्हें कुछ प्रोत्साहन राशि देनी चाही, लेकिन युवकों ने विनम्रतापूर्वक लेने से मना कर दिया। इसके बाद ट्रेन के स्टाफ ने दोनों युवकों की मोबाइल कैमरे से तस्वीर ली और उन्हें सरकार से पुरस्कार दिलाने का प्रयास करने का आश्वासन दिया।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned