script16 साल बाद बीडीए में शामिल हुए 35 गांव, विकसित होगा टाउनशिप, चौड़ी सड़कें, मिलेंगी ये सुविधाएं | Patrika News
बरेली

16 साल बाद बीडीए में शामिल हुए 35 गांव, विकसित होगा टाउनशिप, चौड़ी सड़कें, मिलेंगी ये सुविधाएं

16 साल बाद बरेली विकास प्राधिकरण की सीमा में 35 गांव शामिल हो गए हैं। अब इन गांवों में भी शहर जैसी सुविधाएं मिलेंगी। शहर की तरह सड़कों का विस्तार, आवासीय योजना, उद्यान, ग्रीन बेल्ट, खेल मैदान, वाणिज्यिक, उद्योग के हिसाब से जमीन के भू-उपयोग तय किए जाएंगे।

बरेलीJun 26, 2024 / 11:06 am

Avanish Pandey

बरेली। 16 साल बाद बरेली विकास प्राधिकरण की सीमा में 35 गांव शामिल हो गए हैं। अब इन गांवों में भी शहर जैसी सुविधाएं मिलेंगी। शहर की तरह सड़कों का विस्तार, आवासीय योजना, उद्यान, ग्रीन बेल्ट, खेल मैदान, वाणिज्यिक, उद्योग के हिसाब से जमीन के भू-उपयोग तय किए जाएंगे। कई बड़ी टाउनशिप, पेयजल आपूर्ति जैसी योजनाओं की सौगात मिलेगी।
501.70 किमी में फैला है बीडीए का क्षेत्रफल

बीडीए का क्षेत्र वर्तमान में 501.70 वर्ग किलोमीटर में फैला है। 264 गांव को समेटे विकास प्राधिकरण क्षेत्र की आबादी करीब 14 लाख के करीब है। अब बीडीए अपनी विकास क्षेत्र का दायरा बढ़ाने जा रहा है। लखनऊ में कैबिनेट की बैठक में बीडीए के सीमा विस्तार के प्रस्ताव को मंजूरी मिल गई है। बीडीए सीमा विस्तार में सदर तहसील के 5, आंवला के 14 और फरीदपुर के 16 गांव शामिल हुए हैं। बरेली विकास प्राधिकरण द्वारा भी बदायूं रोड़ पर इंटीग्रेटिड टाउनशिप का विकास प्रस्तावित किया गया है। बीसलपुर रोड पर सीमा विस्तार चार गांव है। वर्तमान में बीसलपुर रोड पर बरेली विकास प्राधिकरण की सीमा नैयतपुर गांव तक है।
तेजी से होगा बरेली के इन क्षेत्रों का विकास

एक्सईएन एपीएन सिंह ने बताया कि 35 गांवों के मार्गों पर दो से तीन नई आवासीय योजनाएं विकसित की जाएंगी। वर्तमान में बीडीए ग्रेटर बरेली योजना को धरातल पर उतार चुका है। शाहजहांपुर रोड पर सीमा विस्तार 16 गांव शामिल हैं। यह रोड छह लेन चौड़ीकरण हो गया है। रामपुर रोड़ को शाहजहांपुर रोड से जोड़ने के लिए बड़े बाईपास का निर्माण भी हो चुका है। रामपुर रोड को बदांयू रोड होते हुए शाहजहांपुर रोड से जोड़ने के लिए नया बाईपास भी प्रस्तावित है। बदांयू रोड पर सीमा विस्तार 14 गांव हैं। बीडीए की बदांयू रोड पर वर्तमान सीमा रामगंगा नदी तक है।
वेयरहाउस, ट्रांसपोर्ट विकसित करेगा बीडीए

एमएसएमई सेक्टर के लिए बदायूं रोड पर विकसित की जा रही नई टाउनशिप में ही वेयरहाउस और ट्रांसपोर्ट की बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने की योजना पर काम होगा। परसाखेड़ा से बदायूं रोड को जोड़ने के लिए प्रस्तावित नए बाईपास के पास भी इसी तरह की सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी। नाथ धाम इंटिग्रेटेड टाउनशिप, लघु एवं मध्यम उद्योगों (एमएसएमई) और परसाखेड़ा इंडस्ट्रियल एरिया के पास ट्रांसपोर्टनगर योजना में वेयरहाउस और लॉजिस्टिक परियोजना पर काम होगा।
सदर तहसील के गांव

लहवरी, भगवतीपुर, कमुआ कलां, नरोत्तम नगला, भीकमपुर माफी।

आंवला के गांव

अखा एहतमाली, अखा मुस्तिकल, कोहनी परतापुर, मजनूपुर, भोजपुर, रफियाबाद, कैमुंआ, सरदार नगर, चाढ़पुर, आलमपुर जाफराबाद, नवदिया, बढ़रई कुईंया, मिलक मंशारामपुर, वाहनपुर।
फरीदपुर के गांव

दहलऊ, समोची, खमरिया, वाहनपुर, जेड़, मेगीनगला, गौसगंज सराय, नौगवां, उदयपुर मोहनलाल, सराय पट्टी सब्दलपुर, सरकड़ा, इनायतपुर, मकसूदनपुर, रसुईया, नवदिया देहा जब्ती, मटिया नगला।

16 साल पहले हुआ था सीमा विस्तार
बीडीए सचिव योगेंद्र कुमार ने बताया कि 1977 से अस्तित्व में आए बीडीए ने 19 अप्रैल, 1977 को 198 गांवों को अपने क्षेत्र में शामिल किया था। इसके बाद 23 मई 2008 को 66 गांव सम्मिलित कर विस्तार किया गया। अब बीडीए के क्षेत्र में 35 गांव शामिल होने के बाद गांवों की संख्या 299 हो गई है।

Hindi News/ Bareilly / 16 साल बाद बीडीए में शामिल हुए 35 गांव, विकसित होगा टाउनशिप, चौड़ी सड़कें, मिलेंगी ये सुविधाएं

ट्रेंडिंग वीडियो