scriptदो गुटों में बंटा जाट आरक्षण आंदोलन...पूर्व मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने संभाला मोर्चा | Bharatpur-Dholpur Jat Reservation Movement | Patrika News

दो गुटों में बंटा जाट आरक्षण आंदोलन...पूर्व मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने संभाला मोर्चा

locationभरतपुरPublished: Jan 28, 2024 06:36:20 pm

Submitted by:

Meghshyam Parashar

-एक गुट का महापड़ाव, दूसरे दिन तीन फरवरी को बुलाई बैठक

दो गुटों में बंटा जाट आरक्षण आंदोलन...पूर्व मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने संभाला मोर्चा
दो गुटों में बंटा जाट आरक्षण आंदोलन...पूर्व मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने संभाला मोर्चा
केंद्रीय सेवाओं में आरक्षण की मांग को लेकर एक और गुट सामने आया है। जहां भरतपुर-धौलपुर जाट आरक्षण संघर्ष समिति का रविवार को 12वें दिन भी जयचोली के पास महापड़ाव जारी रहा तो दूसरे गुट ने आगरा-बीकानेर हाईवे स्थित जवाहर फार्म पर बैठक कर तीन फरवरी को भरतपुर शहर में एक गार्डन में बैठक बुलाने का निर्णय लिया है। इस गुट की बैठक में पूर्व मंत्री विश्वेंद्र सिंह मौजूद रहे हैं। हालांकि आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक नेमसिंह फौजदार ने स्पष्ट कर दिया है कि आरक्षण आंदोलन को लेकर हरेक बैठक, महापंचायत व धरने को समर्थन है, लेकिन हमारा महापड़ाव जयचोली के पास जारी रहेगा।
आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक नेम सिंह फौजदार ने बताया कि केंद्र की सेवाओं में आरक्षण की मांग को लेकर 17 जनवरी से महापड़ाव चल रहा है। 25 जनवरी को जिला कलक्टर से वार्ता हुई थी। सरकार से वार्ता के लिए पांच लोगों के नाम मांगे थे। केंद्र में सामाजिक न्याय अधिकारिता विभाग के मंत्री वीरेंद्र कुमार से मुख्यमंत्री भजन लाल शर्मा की बात हुई हैं। सीएम ने कमेटी गठित की है। इसमें दो मंत्री और दो विधायक हैं। पांच सदस्य हमारे हैं। केंद्र से वार्ता होगी। फाइल कहां रुक रही है, इस काम में सकारात्मक पहल हुई है। सीएम भजन लाल शर्मा ने जाट समाज की 11 सदस्य कमेटी को वार्ता के लिए जयपुर बुलाया था। अध्यक्षता करण सिंह पहलवान ने की। महापड़ाव को पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष भारत सिंह उर्फ शैतान सिंह, दौलत सिंह, महाराज सिंह, जोगेंद्र सिंह, शेर सिंह सरपंच मूढौता, जय सिंह, आरपी सिंह चौधरी, विमला चौधरी, रविता फौजदार, विक्रम सिंह, हुब्बी नेता, मोरध्वज, लेखराज सूबेदार, जय सिंह हवलदार, अब्दुल सरपंच, बरकत सरपंच, पदम सिंह, किशनसिंह, दिलीप सिंह एडवोकेट ने संबोधित किया। संचालन यतेंद्र उनापुर ने किया।
यह भी पढ़ें
जाट आरक्षण आंदोलन: अब राज्य सरकार के साथ फिर से होगी वार्ता

https://www.patrika.com/bharatpur-news/jat-reservation-movement-now-talks-will-be-held-again-with-the-government-8698090/

दो सदस्यों का कमेटी में शामिल होने से इंकार

भरतपुर-धौलपुर जाट आरक्षण संघर्ष समिति की ओर से जिन पांच लोगों की कमेटी बनाकर उन्हें केंद्र सरकार से वार्ता के लिए अधिकृत किया था। उनमें से दो सदस्य कुमरसिंह ततामड़ व नगला बीजा के सरपंच सुभाष सिंह ने बयान जारी कर कहा है कि कमेटी में मेरा नाम बगैर सहमति शामिल किया गया है। समाज में मुझसे भी सीनियर मौजूद हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो