मां कपड़े धोने में व्यस्त,  खेेलते खेलते खदान में जा ग‍िरा मासूम,   जब तक मां को पता चला तो बहुत देर हो चुकी थी

खेल-खेल में खदान में गिर जाने से आठ साल के बालक की डूबने से मौत हो गई

By: tej narayan

Published: 24 May 2018, 07:43 PM IST

बिजौलियां।

कस्बे से 18 किलोमीटर दूर नयानगर खनन क्षेत्र में गुरुवार को दर्दनाक हादसा हुआ। खदान में मां-बेटे नहाने गए। मां कपड़े धोने में व्यस्तत हो गई। इस दौरान खेल-खेल में खदान में गिर जाने से आठ साल के बालक की डूबने से मौत हो गई। बिजौलियां थाना पुलिस ने ग्रामीणों के सहयोग से शव को बाहर निकाल कर पोस्टमार्टम कराया। घटना के बाद मां बेसुध हो गई।

 

READ: प्रधानमंत्री मातृत्व वन्दना योजना : भीलवाड़ा व हुरड़ा ने किया लक्ष्य पार, चार को कारण बताओ नोटिस


जानकारी के अनुसार अजमेर जिले के सालरमाला गांव निवासी सावरसिंह रावत पत्नी अमरी व बेटे कमलेश (8)के साथ कई वर्षो से नयानगर खनन क्षेत्र में रहकर मजदूरी कर रहे है। गुरुवार को अमरी बेटे कमलेश को लेकर नयानगर खनन क्षेत्र में बंद पड़ी खदान में भरे पानी में नहाने गई। अमरी कपड़े धोने में व्यस्तत हो गई। निकट ही खेल रहा कमलेश खेलते-खेलते पैर फिसलने से खदान में गिर गई। मां की चीख सुनकर आसपास मौजूद लोग दौड़कर आए। बालक की तलाश शुरू की गई। सूचना पर बिजौलियां पुलिस भी वहां पहुंच गई। काफी मशक्कत के बाद बालक को बाहर निकाला, लेकिन तब तक उसके प्राण-प्रखेरू उड़ गए।

 

READ: राजस्थान के इस शहर में बढ़ रहे हादसों को देखते हुए नगर परिषद ने लिया यह निर्णय, साथ ही दी कड़ी चेतावनी

 

मौत का कुआ बनी खदान
ऊपरमाल खनन क्षेत्र में करीब डेढ़ सौ प्लॉट व ब्लॉक की खनिज बाउंड्रियां है। सवा सौ चार हैक्टयर के क्षेत्रफल की खदान आवंटित है। बरसात में खदानों में पानी भर जाता है। खनन क्षेत्र के मजूदरों के अलावा आसपास के ग्रामीण भी इन खदानों मे कपड़े धोने औन नहाने आते है। प्रतिवर्ष चार-पांच हादसे खदानों के पानी मे डूबने से होते है। जो खदान खनन कार्य के लिए उपयोग में नही आती है उनका पानी खनन व्यवसायी नही निकालते है। एेसे में खदान मौत का कुआं बने हुए है।

tej narayan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned