मेट्रीमोनियल साइट के जरिये हुई शादी, 4 महीने बाद अचानक गायब हो गया पति, अब सामने आई ये बात

मेट्रीमोनियल साइट की मदद से युवती आरोपी भास्करन के सम्पर्क में आई और दोनो ने शादी कर ली। उसका पति 4 महीनों तक तो उसके साथ रहा, लेकिन एक दिन अचानक वो लापता हो गया। फिर सामने जो आया वो कर देगा हैरान...।

By: Faiz

Published: 05 Jul 2020, 08:41 AM IST

भोपाल/ मेट्रीमोनियल साइट ( Matrimonial site ) के जरिए सम्पर्क में आए युवक से शादी के 4 महीने बाद ही शातिर पति के हैरतअंगेज फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ है। आपको बता दें कि, राजधानी भोपाल के मिसरोद थाना इलाके में रहने वाली एक NGO संचालिका ने 30 जनवरी को रीति-रिवाज से बेंगलुरु निवासी भास्करन से शादी की। भास्करन पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर ( Software Engineer ) हैं, जो शहर में रहकर काम करता था।

 

पढ़ें ये खास खबर- फेरों से पहले दूल्हा के सामने आया दुल्हन का ऐसा वीडियो, मंडप के बजाए पहुंची जेल


मेट्रीमोनियल साइट दोनों ने किया था एक दूसरे को पसंद

मेट्रीमोनियल साइट की मदद से युवती भास्करन के सम्पर्क में आई और दोनो ने शादी कर ली। पत्नी की कहना है कि, उसका पति 4 महीनों तक तो उसके साथ रहा, लेकिन एक दिन अचानक वो लापता हो गया। युवती ने अपने पति की खोज में छान-बीन की तो जो सच्चाई उसके सामने आई, उसे जानकर उसके पैरों तले जमीन खिसक गई।

 

पढ़ें ये खास खबर- खुशखबरी : फसल बीमा पॉलिसी में हुआ बड़ा बदलाव, इस तरह मिलेगा किसानों को लाभ


युवती को बनाया शिकार, पर वो पहली नहीं थी

पुलिस के मुताबिक, एनजीओ संचालिका को जब अपने पति भास्करन पर शक हुआ और उसने उससे पूछताछ की तो वो युवती के शक से संबंधित हर बात को नकारता रहा।लेकिन जब उसने अपने स्तर से और सोशल मीडिया के जरिए जानकारी जुटाई तो पता चला कि, भास्करन पहले भी दो बार शादी कर चुका है। एनजीओ संचालिका उसकी तीसरी शिकार थी। भास्करन से जब संचालिका ने पूछा तो भास्करन ने तलाक होने की बात कही, लेकिन तलाक के दस्तावेज मांगने पर भास्करन डर गया और घर छोड़कर भाग निकला। पति भास्करन के गायब होने की शिकायत संचालिका ने महिला थाने में दर्ज कराई। पहले तो लॉकडाउन की वजह से पुलिस ने मामले को लेकर कोई गंभीरता नहीं दिखाई। बाद में महिला थाने ने मामले को मिसरोद थाना ट्रांसफर कर दिया।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned