गणपति को आज ये वस्तु चढ़ाते ही बन जाएंगे सभी बिगड़े काम!

बुधवार गणपति साधना-आराधना का सबसे शुभ दिन...

भोपाल। आज बुधवार है और इस दिन के कारक देवता श्री गणेश माने जाते हैं। इन्हें बुद्धि का भी स्वामी माना जाता है। ऐसे में यदि आप भी श्री गणेश से खास आशीर्वाद पाना चाहते हैं, तो इस दिन श्री गणपति की पूजा में एक खास चीज का उपयोग करना खास माना गया है।

पंडित सुनील शर्मा के अनुसार सनातन परंपरा में तमाम संस्कारों और देवी-देवताओं की साधना में प्रयोग लाया जाने वाला पान आपकी जिंदगी में सुख-समृद्धि और सम्मान बढ़ाने का सबसे बड़ा माध्यम हो सकता है।

चूंकि बुधवार गणपति साधना-आराधना का सबसे शुभ दिन होता है, ऐसे में पान से जुड़ा यह अचूक उपाय करने से हर समस्या का समाधान मिल जाता है। गणेश जी की कृपा से सभी मनोकामनाएं शीघ्र पूरी होती है।

Pt.sunil Sharma

गणपति को इस तरह चढ़ाएं पान
भगवान गणेश सभी तरह की बाधाओं को दूर करने वाले हैं। गणपति की पूजा में पान का प्रयोग सभी प्रकार की सिद्धि प्रदान करने वाला माना गया है।

यदि आपको तमाम कोशिशों के बावजूद काम में सफलता नहीं मिल रही है तो आप बुधवार के दिन गणेश जी में मंदिर में जाकर पान के पत्ते के साथ सुपारी और इलायची चढ़ाएं। निश्चित रूप से बाधाएं दूर होंगी और काम पूरा होगा। वैवाहिक जीवन में मिठास लाने के लिए गणपति को मीठा पान चढ़ाएं।

इस उपाय से मिलेगी नौकरी!
यदि तमाम कोशिशों के बाद रोजी-रोजगार या फिर कोई कार्य विशेष में सफलता नहीं मिल रही है तो आप एक पान का का पत्ता अपने जेब में डालकर घर से निकले। ज्योतिष का यह उपाय निश्चित रूप से आपको कार्य में सफलता दिलाएगा। इसकी शुरुआत बुधवार से करें। बुधवार के दिन पान का सेवन करने से आत्मविश्वास बढ़ता है।

 

श्री गणेश के प्रमुख मंत्र

गणपतिजी का बीज मंत्र 'गं' है। इनसे युक्त मंत्र- 'ॐ गं गणपतये नमः' का जप करने से सभी कामनाओं की पूर्ति होती है। षडाक्षर मंत्र का जप आर्थिक प्रगति व समृद्धि प्रदायक है।

- ॐ वक्रतुंडाय हुम्‌
किसी के द्वारा नेष्ट के लिए की गई क्रिया को नष्ट करने के लिए, विविध कामनाओं की पूर्ति के लिए उच्छिष्ट गणपति की साधना करना चाहिए। इनका जप करते समय मुंह में गुड़, लौंग, इलायची, पताशा, ताम्बुल, सुपारी होना चाहिए। यह साधना अक्षय भंडार प्रदान करने वाली है। इसमें पवित्रता-अपवित्रता का विशेष बंधन नहीं है।

उच्छिष्ट गणपति का मंत्र

- ॐ हस्ति पिशाचि लिखे स्वाहा
आलस्य, निराशा, कलह, विघ्न दूर करने के लिए विघ्नराज रूप की आराधना का यह मंत्र जपें -

- गं क्षिप्रप्रसादनाय नम:

विघ्न को दूर करके धन व आत्मबल की प्राप्ति के लिए हेरम्ब गणपति का मंत्र जपें -

- 'ॐ गं नमः'

 

रोजगार की प्राप्ति व आर्थिक वृद्धि के लिए लक्ष्मी विनायक मंत्र का जप करें-

- ॐ श्रीं गं सौभ्याय गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा।

विवाह में आने वाले दोषों को दूर करने वालों को त्रैलोक्य मोहन गणेश मंत्र का जप करने से शीघ्र विवाह व अनुकूल जीवनसाथी की प्राप्ति होती है-

- ॐ वक्रतुण्डैक दंष्ट्राय क्लीं ह्रीं श्रीं गं गणपते वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा।

इन मंत्रों के अतिरिक्त गणपति अथर्वशीर्ष, संकटनाशन गणेश स्तोत्र, गणेशकवच, संतान गणपति स्तोत्र, ऋणहर्ता गणपति स्तोत्र, मयूरेश स्तोत्र, गणेश चालीसा का पाठ करने से गणेशजी की कृपा प्राप्त होती है।

दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned