scriptसंजीवनी से कम नहीं है ये फल, श्रीराम ने भी वनवास के दौरान खाया था, जानिए इसके फायदे | kandmool is no less than sanjeevani, Shri Ram also ate this fruit during his 14 years of exile, know the benefits | Patrika News
भोपाल

संजीवनी से कम नहीं है ये फल, श्रीराम ने भी वनवास के दौरान खाया था, जानिए इसके फायदे

Ram Kandmool : कंदमूल सेहत के लिए काफी फायदेमंद फल है। वेदों और पुराणों में भी इसका जिक्र किया गया है।

भोपालFeb 26, 2024 / 08:20 pm

Himanshu Singh

kandmool.jpg
भारतीय घरों में फल खाना हमेशा से ही सेहत के लिए फायदेमंद रहा है। आपने कई फल खाए होंगे, लेकिन ये फल अनोखा है। इस फल को भगवान श्रीराम ने अपने 14 साल के वनवास के दौरान खाया था। ऐसी मान्यता है कि वनवास के दौरान प्रभु श्रीराम, माता सीता औऱ लक्ष्मण ने सिर्फ इसी फल को खाया था। इस फल का नाम ‘कंदमूल’ और ये ‘राम कंदमूल’ के नाम से भी जाना जाता है। आइए इस फल के फायदे जानते हैं।


कंदमूल खाने से कई प्रकार के फायदे होते हैं। यह वजन घटाने में मददगार साबित होता है। इस फल में फाइबर की मात्रा अधिक होने से आपका पेट लंबे समय तक भरा रहता है। इसे खाने से फैट को आसानी से पचाया जा सकता है और वजन भी तेजी से घटाने में मदद करता है। बालों के लिए काफी फायदेमंद है ये फल , जिन लोगों के बाल तेजी से झड़ रहे हैं या सफेद हो रहे हैं उनके लिए यह फल काफी फायदेमंद है। इसमें कई एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं जो बालों काला करने में मददगार साबित होते हैं। कंदमूल का फल में विटामिन बी6 भरपूर मात्रा में पाया जाता है। जिससे बॉडी के फैट को कंट्रोल किया जा सकता है। साथ ही यह पाचन प्रक्रिया को भी सही रखता है। हीमोग्लोबिन भी बढ़ाता है कंदमूल। ये शरीर में आयरन की कमी को पूरा करता है। कई बार आयरन की कमी से मांसपेशियों में ऐंठन होती है। इसके सेवन से इस समस्या को कम किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें – VIDEO : हनुमान जी की आंखों से छलके आंसू, देखने के लिए उमड़ी भीड़, देखें वीडियो


एमपी के बालाघाट दक्षिण सामान्य वन मंडल लालबर्रा के ग्राम चिखलाबड्डी के बैगा आदिवासी अब कंदमूल से चिप्स बनाएंगे। बता दें कि यहां जंगलों में बैचांदी कंदमूल भारी मात्रा में पाया जाता है। जंगल में सैकड़ो बैगा आदिवासी परिवार रहते है। यहां कंदमूल सहित अन्य कुछ फल बेचकर अपना जीवन-यापन करते हैं। अब यहां वन विभाग ने आदिवासियों को रोजगार से जोड़ने के लिए कंदमूल से चिप्स बनाने की योजना तैयार की है जिससे की वोकल फॉर लोकल को बढ़ावा मिलेगा। आदिवासी भी आत्मनिर्भर बनेंगे।

Hindi News/ Bhopal / संजीवनी से कम नहीं है ये फल, श्रीराम ने भी वनवास के दौरान खाया था, जानिए इसके फायदे

ट्रेंडिंग वीडियो