निजी अस्पताल ने मांगे थे तीन लाख रुपए, सरकारी अस्पताल में 10 रुपए में हो गया इलाज

positive story: सोशल मीडिया पर अजय ने साझा की अपनी कहानी...।

By: Manish Gite

Published: 02 May 2021, 10:57 AM IST

भोपाल। अस्पतालों की व्यवस्था को लेकर लोग अक्सर ही कोसते हैं, लेकिन सरकारी अस्पताल से आ रही नकारात्मक खबरों के बीच यह खबर हर किसी को राहत देने वाली है। अजय कुमार कुर्मी खुराना जिनके फेफड़े खराब हो गए थे, निजी अस्पताल में तीन लाख रुपए की मांग की, लेकिन वे राजधानी के शासकीय हमीदिया अस्पताल (hamidia hospital bhopal) पहुंच गए। जहां उनका पूरा इलाज महज 10 रुपए में हो गया।

यह भी पढ़ेंः video story : 'मामा' शिवराज से बीमार और बेबस भाई की गुहार
यह भी पढ़ेंः Damoh By Election Result: दमोह उपचुनाव मतगणना LIVE

अजय कुमार कुर्मी खुराना ने अपना अनुभव सोशल मीडिया पर शेयर किया है। अजय ने लिखा है कि उसे और उसके बेटे को एक साथ बुखार आया था, हालांकि जांच में मैं निगेटव आया। परिवार के अन्य सदस्यों को बुखार आने पर मैंने दोबारा जेपी अस्पताल में एंटीजन टेस्ट कराया तो मैं और मेरा भाई, बहन समेत घर के पांच सदस्य पाजीटिव निकले। 6 दिन बाद भी मेरा बुखार कम नहीं हुआ, सिटी स्कैन कराया तो 50 प्रतिशत फेफड़े संक्रमित मिले। सीटी स्कैन में स्कोर 13/25 आया।

 

यह भी पढ़ेंः video story : युवक की हरकतों से परेशान महिला डॉक्टर का सोशल मीडिया पर छलका दर्द

यह भी पढ़ेंः पूरा किया जिंदगी भर साथ निभाने का वादा


हमने प्राइवेट अस्पताल में बात की तो कहा गया कि खर्च कम से कम तीन लाख रुपए आएगा। मुझे लगा मेरा इलाज नहीं हो पाएगा, लेकिन हिम्मत करके तुरंत हमीदिया अस्पताल में 10 रुपए की पर्ची कटवा कर कोविड वार्ड में भर्ती हो गया। मैंने अपनी बहन और भाई को भी हमीदिया में भर्ती होने के लिए बुला लिया। मैं और मेरी बहन एक ही वार्ड में थे, तो एक-दूसरे को सपोर्ट रहा। 4 दिन हो गए। मुझे 6 रेमडेसिविर इंजेक्शन लगने थे, पर हमीदिया अस्पताल से इंजेक्शन चोरी हो जाने की वजह से देरी हो गई। कुछ दिन बाद इंचेक्शन उपलब्ध हो गए। पहले दिन 2 इंजेक्शन लगे फिर रोज एक इंजेक्शन लगने लगा। मैं 27 अप्रैल को डिस्चार्ड हो गया। एक वृद्ध गंभीर मरीज के लिए मैंने अपना ऑक्सीजन बेड खाली किया था। इसी बीच भाई और बहन ठीक हो गए तो उन्हें भी डिस्चार्ज कर दिया गया।

 

यह भी पढ़ेंः मानवता की सेवा करना जुर्म? पुलिस ने 'ऑटो एंबुलेंस' चालक जावेद खान के खिलाफ की कार्रवाई

Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned