शिवराज बोले- नरेन्द्र मोदी को जिस नेता ने भी गाली दी वह गहरे गड्ढे में गया

शिवराज बोले- नरेन्द्र मोदी को जिस नेता ने भी गाली दी वह गहरे गड्ढे में गया
Narendra Modi

Pawan Tiwari | Updated: 23 Aug 2019, 03:06:19 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

  • नरेन्द्र मोदी को यूएई की सरकार अपने सर्वोच्च नागरिक सम्मान से सम्मानित कर रही है।

भोपाल. मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान एक बार फिर से कमलनाथ सरकार के साथ-साथ देश के सभी विपक्षियों पर हमला बोला है। शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को भोपाल में मीडिया से चर्चा करते हुए कहा - हमारे यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को यूएई की सरकार अपने सर्वोच्च नागरिक सम्मान से सम्मानित कर रही है। मोदी जी आज दुनिया के सर्वाधिक लोकप्रिय नेता हैं, विज़नरी लीडर हैं। आज केवल भारत नहीं, पूरी दुनिया उनका सम्मान कर रही है।

 

मोदी को गाली देने वाले गहरे गड्डे में
शिवराज सिंह चौहान ने कहा- जिस पार्टी या नेता ने नरेन्द्र मोदी जी को जितनी गाली दी, वह उतने ही गहरे गड्ढे में गया। आप आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश और बिहार को देख लीजिए। जहां जिसने जितनी गाली दी, जनता ने उसे उतने ही गहरे गड्ढे में भेजने का काम किया है।

 

सोनिया गांधी पर भी बोला हमला
शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर हमला बोलते हुए कहा- सोनियाजी ने कहा, जब राजीवजी पूर्ण बहुमत से प्रधानमंत्री बने तब भी डर का माहौल नहीं बनने दिया गया। हज़ारों सिख भाई-बहनों का क़त्लेआम किसने किया? किस पार्टी के कार्यकर्ता उस समय मॉब-लिचिंग के लिए निकले थे? लोगों को सरेआम ज़िंदा जला दिया गया था, क्या वह आतंक की पराकाष्ठा नहीं थी? बता दें कि राजीव गांधी के 75वीं जयंती के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सोनिया गांधी ने कहा था कि 1984 में राजीव गांधी ने पूर्ण बहुमत की सरकार बनाई थी लेकिन देश में भय का माहौल नहीं बनने दिया था।


कमलनाथ पर भी बोला हमला
शिवराज सिं चौहान ने कमलनाथ पर हमला बोलते हुए कहा- आज मैं एक बात से हैरान हूं, मुख्यमंत्री कमलनाथ जी की लंबी-चौड़ी चिट्ठी अखबारों में छपी है! अरे मुख्यमंत्री जी, किसानों को चिट्ठी नहीं, कर्ज़माफी चाहिए! आज जिन किसानों का कर्ज़ माफ नहीं हुआ वे डिफॉल्टर बन गए और अब 14% ब्याज़ देना पड़ रहा है, मैं पूछता हूं, यह ब्याज़ कौन भरेगा? कर्ज़माफी तो दूर की बात, यह कमलनाथ सरकार मक्के और सोयाबीन के रु.500/क्विंटल खा गई, धान का बोनस खा गई, गेहूं रु.2100/ क्विंटल बिकना था, उसके रु.160 भी नहीं मिल रहे हैं। चिट्ठियां लिखने से कुछ नहीं होगा, कर्ज़माफी की एकमुश्त राशि किसानों के खातों में जमा करें, तभी वे संतुष्ट होंगे। बता दें कि मध्यप्रदेश के सीएम कमल नाथ ने किसानों की कर्जमाफी को लेकर एक पत्र लिखा है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned