scriptSigns are found before infection | संक्रमण के पहले ही मिल जाते हैं ये संकेत, दिखते ही सतर्क हो जाएं तो नहीं होगा कोरोना | Patrika News

संक्रमण के पहले ही मिल जाते हैं ये संकेत, दिखते ही सतर्क हो जाएं तो नहीं होगा कोरोना

संकेत समझना जरूरी

भोपाल

Published: January 26, 2022 04:32:04 pm

भोपाल. मध्यप्रदेश में जहां एक ओर 73 वें गणतंत्र दिवस की धूम चल रही है वहीं कोरोना का कहर भी बरपा हुआ है. प्रदेश में हालांकि पिछले 4 दिनों में नए केस उच्चतम स्थिति में नहीं आए हैं पर केस ज्यादा कम भी नहीं हुए हैं. रोज करीब 10 हजार केस सामने आ रहे हैं. इधर डॉक्टर्स और एक्सपर्ट ने कुछ ऐसे संकेत बताए हैं जिससे कोरोना का संक्रमण रोका जा सकता है.

sub.png

दुनियाभर के डॉक्टर्स और एक्सपर्ट इस तथ्य की पुष्टि कर चुके हैं कि कोरोना को रोकने के लिए इम्यूनिटी यानि शरीर की प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होना जरूरी है. ओमिक्रॉन से बचने के लिए भी एक्सपर्ट इम्यूनिटी को मजबूत करने की सलाह देते आ रहे हैं. इम्यूनिटी को मजबूत करने के लिए लोग कई तरीके अपना भी रहे हैं.

यह भी पढ़ें : कोरोना का खतरनाक साइड इफेक्ट, हर तीसरा बच्चा प्रभावित, जानिए क्या कह रहे डॉक्टर्स

इसके बाद भी कई कारणों इम्यूनिटी कमजोर हो जाती है या बनी रहती है. खंडवा के डा.प्रवीण महात्रे के मुताबिक अच्छी बात ये है कि इसके कुछ संकेत भी रहते हैं. इन संकेतों को पहचानकर अगर आप सतर्क हो जाएं और कमजोर इम्यूनिटी को मजबूत करने के प्रयास प्रारंभ कर दें तो कोरोना से बच सकते हैं. दरअसल इम्यूनिटी बढ़ने में काफी वक्त लगता है इसलिए इम्यूनिटी कमजोर होने के संकेत समझना और जरूरी हो जाता है.

यह भी पढ़ें : ओमिक्रोन का ये है सबसे पहला लक्षण, दिखे तो तुरंत हो जाएं सावधान

omicron_new.png

— इम्यूनिटी का संबंध आंत और पेट से होता है. एक्सपर्ट के अनुसार शरीर में लगभग 70% प्रतिरक्षा-बढ़ाने वाले ऊतक हमारी आंत में होते हैं. पेट की समस्याओं जैसे दस्त, सूजन, कब्ज आदि से लगातार पीड़ित होना कमजोर इम्यूनिटी का परिणाम हो सकते हैं.

यह भी पढ़ें : बेहद खतरनाक है ओमिक्रोन, इस अंग को कर रहा खराब, जानिए कैसे करें बचाव

— कमजोर इम्यूनिटी का पहला संकेत अधिक तनाव है. एक्सपर्ट बताते हैं कि इम्यूनिटी पर सबसे अधिक प्रभाव तनाव का पड़ता है. अगर कोई अधिक तनाव लेता है, तो जाहिर सी बात है उसकी इम्यूनिटी काफी कमजोर रहेगी.

यह भी पढ़ें : बिगड़े हालात, हर आठवें मरीज को लगी ऑक्सीजन, वेंटिलेटर की भी जरूरत

— शरीर के घाव भरने में अधिक समय लगता है, तो यह भी कमजोर इम्यूनिटी का संकेत हो सकता है.
— रात में 7-8 घंटे की नींद लेने के बाद भी काफी सुस्त महसूस होना इम्यूनिटी कमजोर होने की निशानी हो सकती है.

यह भी पढ़ें : वेक्सीन लगवानेवालों पर भी बढ़ा खतरा, दिखें ये लक्षण तो हो जाएं सावधान

— वयस्कों को साल में 2-3 बार सर्दी-जुकाम होना आम बात है, लेकिन सर्दी जुकाम अधिक लंबे समय तक बना रहता है या बार-बार होता है तो ये कमजोर इम्यूनिटी के संकेत हैं.

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Amravati Murder Case: उमेश कोल्हे की हत्या का मास्टरमाइंड नागपुर से गिरफ्तार, अब तक 7 आरोपी दबोचे गए, NIA ने भी दर्ज किया केसमोहम्‍मद जुबैर की जमानत याचिका हुई खारिज,दिल्ली की अदालत ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजाSharad Pawar Controversial Post: अभिनेत्री केतकी चितले ने लगाए गंभीर आरोप, कहा- हिरासत के दौरान मेरे सीने पर मारा गया, छेड़खानी की गईIndian of the World: देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस को यूके पार्लियामेंट में मिला यह पुरस्कार, पीएम मोदी को सराहाGujarat Covid: गुजरात में 24 घंटे में मिले कोरोना के 580 नए मरीजयूपी के स्कूलों में हर 3 महीने में होगी परीक्षा, देखे क्या है तैयारीराज्यसभा में 31 फीसदी सांसद दागी, 87 फीसदी करोड़पतिकांग्रेस पार्टी ने जेपी नड्डा को BJP नेता द्वारा राहुल गांधी से जुड़ी वीडियो शेयर करने पर लिखी चिट्ठी, कहा - 'मांगे माफी, वरना करेंगे कानूनी कार्रवाई'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.