scriptधराशायी होने का खतरा, मिट्टी के कटाव से धंसक रहा उज्जैन का विश्व प्रसिद्ध मंदिर | Ujjain Govardhan Dhari Shri Krishna Temple of Ram Janardan Temple News | Patrika News
भोपाल

धराशायी होने का खतरा, मिट्टी के कटाव से धंसक रहा उज्जैन का विश्व प्रसिद्ध मंदिर

Ujjain Govardhan Dhari Shri Krishna Temple of Ram Janardan Temple News प्रसिद्ध मंदिर गोवर्धनधारी श्रीकृष्ण मंदिर भी है जोकि 400 साल पुराना है। बुरी बात यह है कि इस विश्व प्रसिद्ध मंदिर के ढह जाने का खतरा बढ़ रहा है।

भोपालMay 15, 2024 / 09:50 pm

deepak deewan

Ujjain Govardhan Dhari Shri Krishna Temple of Ram Janardan Temple News

Ujjain Govardhan Dhari Shri Krishna Temple of Ram Janardan Temple News

Ujjain Govardhan Dhari Shri Krishna Temple of Ram Janardan Temple News -एमपी के उज्जैन Ujjain को मंदिरों की नगरी के रूप में जाना जाता है। यहां महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर तो है ही, कई अन्य विख्यात मंदिर भी हैं जहां पूजन—अर्चन करने दुनियाभर से लोग आते हैं। उज्जैन में महाकाल के अलावा मंगलनाथ मंदिर, गढ़ कालिका मंदिर में भी भक्तों की कतार लगी रहती है। ऐसा ही एक प्रसिद्ध मंदिर गोवर्धनधारी श्रीकृष्ण मंदिर भी है जोकि 400 साल पुराना है। बुरी बात यह है कि इस विश्व प्रसिद्ध मंदिर के ढह जाने का खतरा बढ़ रहा है।
उज्जैन के अंकपात मार्ग पर श्री रामजनार्दन मंदिर परिसर में बना गोवर्धनधारी श्रीकृष्ण मंदिर धीरे धीरे झुक रहा है। मंदिर से सटे विष्णु सागर के पानी से मिट्टी का कटाव हो रहा है। इससे मंदिर धंसक रहा है, उसकी नींव धंसक रही है जिससे मंदिर झुकता जा रहा है। यही स्थिति बनी रही तो श्रीकृष्ण मंदिर कभी भी धराशायी हो सकता है।
यह भी पढ़ें : Ladli Behna Yojana : लाड़ली बहनों को मिलेंगे 3 हजार रुपए, पूर्व सीएम शिवराजसिंह चौहान का बड़ा ऐलान

जानकारी बताते हैं कि गोवर्धन सागर के पानी के कारण परिसर का एक हिस्सा नीचे धंस रहा है। गोवर्धनधारी भगवान श्रीकृष्ण का मंदिर भी यहीं है। मिट्टी के कटाव के कारण श्रीकृष्ण मंदिर झुकता जा रहा है।
गोवर्धनधारी श्रीकृष्ण की दुर्लभ प्रतिमा
मध्यप्रदेश पुरातत्व विभाग ने राम जनार्दन मंदिर को राज्य संरक्षित स्मारक घोषित किया है। इस परिसर में कई मंदिर और दुर्लभ मूर्तियां हैं जिससे इनका महत्व बढ गया है। गोवर्धनधारी श्रीकृष्ण मंदिर की प्रतिमा एक हजार साल पुरानी है। मूर्ति के पद पीठ पर देवनागरी लिपि में एक पंक्ति का अभिलेख है, जिसपर गोधर्वनधारी श्रीकृष्ण लिखा है। अब मिट्टी के कटाव से बचाकर मंदिर के संरक्षण के लिए जरूरी कदम उठाने की अपेक्षा की जा रही है।

Hindi News/ Bhopal / धराशायी होने का खतरा, मिट्टी के कटाव से धंसक रहा उज्जैन का विश्व प्रसिद्ध मंदिर

loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो