scriptBikaner Range Police Inspector General created a new app for complaint | Good News: अब नहीं काटने होंगे थानों के चक्कर, 15 दिन में मिलेगा अपडेट, बस करें ये काम | Patrika News

Good News: अब नहीं काटने होंगे थानों के चक्कर, 15 दिन में मिलेगा अपडेट, बस करें ये काम

locationबीकानेरPublished: Jan 27, 2024 03:56:58 pm

Submitted by:

Rakesh Mishra

पंक्ति में खड़े अंतिम व्यक्ति को न्याय दिलाने के ध्येय वाक्य के साथ बीकानेर रेंज पुलिस ने नवाचार किया है। पुलिस के पास हर दिन सैकड़ों शिकायतें आती हैं, जिनका निस्तारण लंबे समय तक भी नहीं हो पाता और शिकायतकर्ता सुनवाई नहीं होने पर मुख्यालय पहुंचता है।

bikaner_police.jpg
पंक्ति में खड़े अंतिम व्यक्ति को न्याय दिलाने के ध्येय वाक्य के साथ बीकानेर रेंज पुलिस ने नवाचार किया है। पुलिस के पास हर दिन सैकड़ों शिकायतें आती हैं, जिनका निस्तारण लंबे समय तक भी नहीं हो पाता और शिकायतकर्ता सुनवाई नहीं होने पर मुख्यालय पहुंचता है। अब बीकानेर रेंज पुलिस महानिरीक्षक ओमप्रकाश ने इसका तोड़ निकाल लिया है। आईजी ने एक ऐसा एप बनवाया है, जो शिकायत का पूरा डाटा संग्रहित रखेगा। ऐप में शिकायत दर्ज होने पर 15 दिन में निस्तारण होगा। आईजी और एसपी के पास सिग्नल जाएगा। इस पर आईओ को तलब किया जाएगा। यह ऐप शिकायत निगरानी प्रणाली (सीएमएस) के तहत काम करेगा। सीएमएस पर आईजी कार्यालय की साइबर सेल निगरानी रखेगी। प्रदेश में इस तरह का यह पहला प्रयास है, जो पीड़ित को राहत देगा। पहले चरण में ऐप पुलिस कर्मचारियों-अधिकारियों के लिए सुलभ होगा। इसके बाद आमजन इसमें शिकायत खुद दर्ज कर सकेंगे।
बीकानेर में अधिक, अनूपगढ़ में कम
बीकानेर रेंज कार्यालय के आंकड़ों के मुताबिक, बीकानेर रेंज के बीकानेर, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ व अनूपगढ़ जिले में एक जनवरी 2023 से 25 जनवरी 2024 तक 41 हजार 870 शिकायत मिलीं, जिसमें से 32 हजार 458 का निस्तारण हुआ, जबकि 9 हजार 412 शिकायतें अभी तक पेंडिंग चल रही हैं। बीकानेर में सबसे अधिक शिकायतें हो रही हैं और अनूपगढ़ में सबसे कम हैं। शिकायतों का समय पर निस्तारण नहीं होने से शिकायतकर्ता जयपुर उच्चाधिकारियों के पास पहुंच रहे हैं।
इसलिए पड़ी जरूरत
बीकानेर रेंज पुलिस ने पुलिस पब्लिक पंचायत कार्यक्रम चलाकर गांवों में लोगों को पुलिस का मददगार बनाने की कोशिश की। आमजन से सामंजस्य बनाया। अपराध पर अंकुश लगाने के प्रयास किए। पीपीपी के बाद से लोग शिकायतें लेकर तो पुलिस के पास पहुंचने लगे, लेकिन शिकायतों का निस्तारण नहीें हो पा रहा था। शिकायतकर्ता महीनों तक पुलिस थाने के चक्कर काटते रहते
शिकायतों का आंकड़ा
जिला- शिकायत- निस्तारण- पेंडिंग
बीकानेर- 15677- 12918- 2759
श्रीगंगानगर- 13800- 11721- 2079
हनुमानगढ़- 9906- 6231- 3675
अनूपगढ़- 2487- 1588- 899

ऐसे करेंगे काम
- शिकायतकर्ता की एक आईडी बनेगी
- ऐप में शिकायत दर्ज होते ही उसे पीडीएफ मिलेगी, जिसमें आईओ के नाम, नंबर होंगे।
- 15 दिन में शिकायत का निस्तारण होगा।
- निस्तारण रिपोर्ट की एक कॉपी परिवादी को मिलेगी।
- 15 दिन में निस्तारण नहीं होने पर आईजी व एसपी को सिग्नल मिलेगा
यह भी पढ़ें

एप्रेन नहीं पहने था स्टाफ, भिड़ गए चिकित्सक और नर्सिंगकर्मी, अब आया ऐसा आदेश

ऐसे डाउनलोड करें सीएमएस ऐप
एंड्रायड फोन यूजर्स प्ले स्टोर में जाकर राजस्थान सीएमएस पर क्लिक कर ऐप डाउनलोड कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें

राजस्थान की धरती बनेगी युद्धाभ्यास की गवाह, ये दो देश होंगे आमने-सामने

ट्रेंडिंग वीडियो