आर्थिक तंगी से जूझ रहे जावेद हैदर, एक्टर के पास बच्ची के स्कूल फीस भरने तक के नहीं हैं पैसे

By: Shweta Dhobhal
| Published: 27 Jul 2021, 12:56 PM IST
आर्थिक तंगी से जूझ रहे जावेद हैदर, एक्टर के पास बच्ची के स्कूल फीस भरने तक के नहीं हैं पैसे
Javed Haider financial crisis his daughter expelled from School

एक्टर जावेद हैदर इस वक्त आर्थिक तंगी से गुजर रहे हैं। उनके पास इतने भी पैसे नहीं हैं कि वो अपनी बच्ची की स्कूल फीस तक भी भर पाएं।

 

नई दिल्ली। कोरोना महामारी की वजह से देश में लॉकडाउन लगने से आम से लेकर खास तक की हालत खराब हो गई है। लॉकडाउन लगने से सभी तरह के काम धंधे बंद हो गए हैं। लॉकडाउन का असर सिनेमा जगत पर भी देखना मिला। टीवी से लेकर बॉलीवुड तक में काम करने वाले कई आर्टिस्ट आर्थिक तंगी से जूझते हुए दिखाई दिए। कई सेलेब्स ने पैसों की कमी और काम ना होने की वजह से आत्महत्या कर ली। ऐसे में अब एक्टर जावेद हैदर को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है। जावेद अख्तर की बेटी को ऑनलाइन क्लास से निकाल दिया गया है। जिसकी वजह फीस ना भर पाना है।

बच्ची के फीस तक भरने के नहीं पैसे

टीवी से लेकर बॉलीवुड तक में काम कर चुक जावेद अख्तर आज काफी परेशानियों का सामना कर रहे हैं। एक्टर के पास बेटी के फीस भरने तक के पैसे नही हैं। हाल ही में जावेद ने एक पत्रिका को इंटरव्यू में बताया कि उनकी एक बेटी है। जो कि 8वीं क्लास में पढ़ती हैं। उसके पिता होने के नाते उन्होंने पूरी कोशिश की वो अपनी बच्ची को पूरी पढ़ाई करा सकें। जावेद ने बताया कि जब तक काम चल रहा था। तब तक कोई परेशानी नहीं थी। लेकिन कुछ समय से उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

लॉकडाउन की वजह से उनकी बेटी की ऑनलाइन क्लास चल रही है। पहले तीन महीने तो स्कूल वालों ने फीस माफ कर दी थी। फिर उन्हें हर महीने 2500 रुपए फीस भरनी थी। जावेद ने बताया कि वो स्कूल गए तो एडमिनिस्ट्रेशन ने बताया कि पहले तीन महीने की फीस माफ कर दी थी।

 

यह भी पढ़ें- बॉलीवुड की ये मशहूर अभिनेत्रियां हो चुकी हैं Oops मूमेंट का शिकार

बच्ची को निकाल दिया ऑनलाइन क्लास से बाहर

जावेद हैदर ने आगे बताया कि उन्हें समझ नहीं आता कि स्कूल वाले बच्चों के माता-पिता पर रहम क्यों नहीं करते हैं? एक्टर ने बताया कि कुछ समय तक वो अपनी बच्ची की फीस भर पाए थे। कुछ समय से वो फीस नहीं भर पा रहे हैं। जिसकी वजह से उनकी बेटी को क्लास से बहार निकाल दिया गया। जिसके बाद उन्होंने कहीं से पैसों का इंतजाम किया और बच्ची की फीस भर दी। जिसके बाद उनकी बेटी को वापस एडमिशन दिया गया।

लोगों ने नहीं मांगी मदद

आर्थिक स्थिति से परेशान जावेद हैदर ने अपनी बताया कि कई लोगों ने उनसे कहा कि 'वो मदद मांग लें, लेकिन उन्हें महसूस हुआ कि उन्होंने अपने काम से नाम कमाया है। ऐसे में किसी से उन्हें मदद मांगना अच्छा नहीं लगा। जावेद बताते हैं कि जब आप किसी से पैसा मांगते हैं तो फिर आपको लोग इग्नोर करना शुरू कर देते हैं। जो कि मुसीबत बन जाती है।'

यही नहीं जावेद ने बताया कि 'काम के लिए भी कॉल करते हैं तो वो भी इग्नोर करते हैं। ऐसे में डर लगता है कि जो काम मिलना भी होता होगा वो हाथ से ना निकल जाए। अभिनेता ने बताया कि परेशानी से बाहर निकलने के लिए उन्होंने अपनी बीवी के जेवर और घर के पेपर तक गिरवी रख दिए। जिनसे काम चल रहा है।'

 

यह भी पढ़ें- उम्र में बड़े और छोटे एक्टर्स संग इंटीमेट कर चुकी हैं ऐश्वर्या राय, नाराज़ हुईं थीं जया बच्चन

बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट किया था डेब्यू

 

आपको बतातें चलें कि जावेद हैदर ने यादों की बारात से बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट डेब्यू किया। ये फिल्म 1973 में रिलीज़ हुई। जावेद हैदर ने कई फिल्मों में काम किया। इस वक्त जावेद हैदर काफी समय से घर पर ही हैं। उनके पास कोई काम भी नहीं है।