scriptJoram flopped because of Animal Sam Bahadur Manoj Bajpayee got angry | Animal और सैम बहादुर की वजह से फ्लॉप हुई 'जोरम', मनोज बाजपेयी का बॉक्स ऑफिस पर फूटा गुस्सा | Patrika News

Animal और सैम बहादुर की वजह से फ्लॉप हुई 'जोरम', मनोज बाजपेयी का बॉक्स ऑफिस पर फूटा गुस्सा

Published: Dec 19, 2023 01:19:26 pm

Submitted by:

Adarsh Shivam

Manoj Bajpayee On Box Office Obsession: ‘एनिमल’ और ‘सैम बहादुर’ की रिलीज के एक हफ्ते बाद मनोज बाजपेयी की फिल्म 'जोरम' रिलीज हुई। इसका असर 'जोरम' की कमाई पर जबरदस्त पड़ा है।

joram_flopped_because_of_animal_sam_bahadur_manoj_bajpayee_got_angry_for_box_office_collection_.jpg
मनोज बाजपेयी की लेटेस्ट फिल्म 'जोरम' 8 दिसंबर को रिलीज हुई
Manoj Bajpayee On Box Office Obsession: बॉलीवुड के वर्सेटाइल एक्टर मनोज बाजपेयी ने हाल ही में खुलासा किया है, रणबीर कपूर की 'एनिमल’ की वजह से उनकी लेटेस्ट फिल्म 'जोरम' बॉक्स ऑफिस पर अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाई है। इस दौरान उन्होंने इस बात पर भी अफसोस जताया कि किसी फिल्म के बॉक्स ऑफिस कलेक्शन का क्रेज कैसे सिनेमा की कहानी और पवित्रता को नष्ट कर देती है। आइए जानते हैं मनोज बाजपेयी का कलेक्शन क्रेज पर क्यों फूटा गुस्सा?
जानिए मनोज बाजपेयी ने बॉक्स ऑफिस को लेकर क्या कहा
हाल ही में मनोज बाजपेयी ने न्यूज18 को दिए एक इंटरव्यू में कहा, “रिकॉर्ड बनाने की आवश्यकता ने निर्देशकों और निर्माताओं को मनी माइंडिड बना दिया है। मैंने हमेशा बॉक्स ऑफिस के प्रति जुनून के खिलाफ बोला है। मेरा हमेशा से मानना रहा है कि इसने हमारे देश में फिल्म निर्माण की संस्कृति को बर्बाद कर दिया है। लोगों के चेहरे पर नंबर फेंकना सही बात नहीं है।”
रणबीर कपूर की 'एनिमल' और विक्की कौशल की 'सैम बहादुर' 1 दिसंबर को रिलीज हुई। इसके एक हफ्ते बाद मनोज बाजपेयी की लेटेस्ट फिल्म 'जोरम' सिनेमाघरों में रिलीज हुई। इस फिल्म ने अलग-अलग इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल्स में काफी तारीफ हासिल की, लेकिन बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह फ्लॉप साबित हुई।
अपनी फिल्म पर कितना पैसा खर्च करते हैं मनोज ?
इस पर बात करते हुए मनोज बाजपेयी ने कहा, ''हम जानते थे कि 'एनिमल' और 'सैम बहादुर' दो बहुत बड़ी फिल्में हैं। दोनों फिल्मों पर काफी पैसा खर्च किया गया था। 'एनिमल' को लेकर एक प्रचार था और अब भी है। लेकिन हम अपनी फिल्म पर इतना पैसा खर्च नहीं कर सकते थे। क्योंकि 'जोरम' एक अलग तरह की फिल्म थी। हम इसे बढ़ावा देने और प्रचारित करने के लिए केवल एक निश्चित राशि ही खर्च कर सकते थे।”
मनोज बोले- 'कलेक्शन क्रेज ने सिनेमा की प्रामाणिकता को किया बर्बाद'
इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि वे अपनी फिल्म पर बहुत अधिक बोझ नहीं डालना चाहते थे और वे इसे लेकर बहुत व्यावहारिक और यथार्थवादी थे। मनोज बाजपेयी ने आगे बताया कि कैसे अधिक कलेक्शन क्रेज की चाहत ने सिनेमा की प्रामाणिकता को बर्बाद कर दिया है। उन्होंने इस बात पर भी निराशा व्यक्त की कि कैसे दर्शकों ने भी वही भाषा बोलना शुरू कर दिया है।
यह भी पढ़ें

ये बड़ा एक्‍टर अपनी गर्लफ्रेंड से मारपीट के चक्कर में पाया गया दोषी, फिल्मी करियर की लगी वाट

मनोज बाजपेयी ने कहा, ''उनके साथ बातचीत में, वे अचानक उस राशि का हवाला देंगे, जो एक फिल्म ने बनाई है। उनका मानना है कि अगर किसी फिल्म ने 100 करोड़ रुपये या उससे अधिक की कमाई की है, तो यह एक बहुत अच्छी फिल्म है और यह इस देश में सभी प्रकार के सम्मानों के लिए योग्य है।” फिल्म 'जोरम' लेखक और निर्देशक देवाशीष मखीजा हैं। इस फिल्म में मोहम्मद जीशान अय्यूब, राजश्री देशपांडे, तनिष्ठा चटर्जी और स्मिता तांबे भी हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो