scriptशक्ति कपूर को दर्जी बनाना चाहते थे उनके पिता, जानें उनसे जुड़ी ये रोचक बातें | shakti kapoor one of the most versitile actor of bollywood | Patrika News
बॉलीवुड

शक्ति कपूर को दर्जी बनाना चाहते थे उनके पिता, जानें उनसे जुड़ी ये रोचक बातें

9 Photos
2 years ago
1/9

शक्ति कपूर का वास्तविक नाम सुनील सिकंदरलाल कपूर है। उनका जन्म 3 सितंबर 1952 को हुआ। उन्हें अपना 'सुनील' नाम कमजोर लगा जिसे बदलकर उन्होंने शक्ति कर लिया। शक्ति कपूर ने दिल्ली युनिवर्सिटी के किरोड़ी मल कॉलेज से अध्ययन किया है। इसके अलावा एफटीआईआई से अभिनय की बारीकियां सीखीं।

2/9

शक्ति कपूर का जन्म दिल्ली के एक पंजाबी परिवार में हुआ। उनके पिता की कनॉट प्लेस पर टेलरिंग की दुकान थी। शक्ति कपूर के पिता चाहते थे कि वह फैमिली बिजनेस ही संभाले लेकिन वह फिल्मों में भाग्य अपनाना चाहते थे।

3/9

शक्ति कपूर एक बार अपने माता-पिता को अपनी फिल्म 'इंसानियत के दुश्मन' दिखाने ले गए। फिल्म में वे बलात्कार करते नजर आएं। यह देख उनकी मां भड़क गई और थिएटर छोड़ कर चली गई। पिता ने फटकार लगा दी कि सिर्फ लड़कियों को छेड़ने का काम करते हो। अच्छे रोल करो। हेमा मालिनी जैसी अभिनेत्री के साथ काम करो।

4/9

शक्ति कपूर की पत्नी शिवांगी कोल्हापुरे रिश्ते में फिल्म अभिनेत्री पद्मिनी कोल्हापुरे की बहन हैं। शिवांगी 'किस्मत' फिल्म कर रही थी जिसमें शक्ति भी थे। शिवांगी को शक्ति दिल दे बैठे। अपनी स्पोर्ट्स कार में घूमा कर उन्होंने शिवांगी का दिल जीत लिया और बाद में शादी भी कर ली।

5/9

मिथुन चक्रवर्ती की शक्ति कपूर बेहद इज्जत करते हैं। सभी महत्वपूर्ण सलाह वे मिथुन से ही लेते हैं। शक्ति का कहना है कि यदि मिथुन उन्हें तमाचा भी मार दें तो भी वे गुस्सा नहीं करेंगे।

6/9

शक्ति स्पोर्ट्स कार के शौकीन थे और कार खर्च में खूब पैसा खर्च करते थे। जीतेन्द्र, जिनके साथ शक्ति ने कई फिल्में की हैं, जितेन्द्र ने शक्ति को सलाह दी कि वे पैसा बरबाद न करें। प्रॉपर्टी खरीदें तो भविष्य अच्छा साबित होगा। शक्ति ने सलाह मानी। उनके दिल्ली में एक और मुंबई में तीन बंगले हैं।

7/9

शक्ति कपूर पर 100 से भी ज्यादा गाने फिल्माए गए हैं। चूंकि वे युवा हीरो जैसे लगते थे इसलिए संजय दत्त, मिथुन, गोविंदा के साथ उन पर कई गानों का फिल्मांकन हुआ। रॉकी में तो वे संजय दत्त के साथ डांस काम्पिटिशन में नजर आएं। शक्ति को इतना डांस करते देख अमजद खान ने उनका नाम डिस्को क्वीन रख दिया था।

8/9

शक्ति ने कई यादगार रोल निभाए। जैसे इंसाफ में इंस्पेक्टर भिंडे, अंदाज अपना अपना में क्राइम मास्टर गोगो, राजा बाबू का नंदू , तोहफा का किरदार आदि शामिल हैं। तोहफा में बोला गया शक्ति का संवाद 'आऊ... ललिता' बहुत पसंद किया गया। उन्होंने यह लाइन कॉपी की थी। तोहफा तेलुगु फिल्म 'देवता' का रीमेक थी और उसमें मोहन बाबू इसी अंदाज में बोलते हैं। उन्हें राजा बाबू के लिए ही फिल्मफेअर अवॉर्ड मिला।

9/9

कादर खान के साथ उनकी जोड़ी बहुत ही लोकप्रिय हुई। दोनों ने साथ में लगभग सौ फिल्में की। दर्शक दोनों को साथ देख कर ही खुश हो जाया करते थे। दोनों की लो‍कप्रियता का यह आलम था कि पोस्टर्स में हीरो-हीरोइन के साथ उन्हें भी स्थान दिया जाता था। कई फिल्मों में तो दोनों को हीरो-हीरोइन से ज्यादा पैसे मिले। शक्ति के अनुसार कादर खान उनके गुरु हैं।

Copyright © 2024 Patrika Group. All Rights Reserved.