script Good News: नौकरी करने वालों को सरकार का तोहफा, PF पर बढ़ाया ब्याज, जानें कितना हुआ इंटरेस्ट रेट | Government's gift to employed people, EPFO increased interest on PF | Patrika News

Good News: नौकरी करने वालों को सरकार का तोहफा, PF पर बढ़ाया ब्याज, जानें कितना हुआ इंटरेस्ट रेट

locationनई दिल्लीPublished: Feb 10, 2024 02:34:45 pm

Submitted by:

Akash Sharma

EPFO Interest Rate: मार्च 2022 में ईपीएफओ ने अपने 6 करोड़ से अधिक ग्राहकों के लिए 2021-22 के लिए EPF पर ब्याज को घटाकर चार दशक के निचले स्तर 8.1 प्रतिशत कर दिया था। यह 2020-21 में 8.5 प्रतिशत था। EPFO के टॉप बॉडी, सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज (सीबीटी ) ने शनिवार को अपनी बैठक में 2023-24 के लिए ईपीएफ पर इंटरेस्ट रेट बढ़ाने का निर्णय लिया है।

EPFO
EPFO

सरकार ने नौकरी करने वालों को बड़ी खुशखबरी दे दी है। उन लोगों के पीएफ पर ब्याज बढ़ा दिया गया है। रिटायरमेंट बॉडी ईपीएफओ ने देश के लाखों कर्मचारियों को बड़ी सौगात दी है। ईपीएफओ ने 2023-24 के लिए कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ ) जमा पर 8.25 फीसदी का तीन साल की उच्च ब्याज दर तय की गई है। मार्च 2023 में कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने 2022-23 के लिए EPF पर ब्याज दर को 2021-22 में 8.15 फीसदी कर दिया था।

कितना हुया इंटरेस्ट रेट

बता दें कि मार्च 2022 में ईपीएफओ ने अपने 6 करोड़ से अधिक ग्राहकों के लिए 2021-22 के लिए EPF पर ब्याज को घटाकर चार दशक के निचले स्तर 8.1 प्रतिशत कर दिया था। यह 2020-21 में 8.5 प्रतिशत था। यह 1977-78 में ईपीएफ ब्याज दर सबसे कम 8 प्रतिशत थी। EPFO के टॉप बॉडी, सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज (सीबीटी ) ने शनिवार को अपनी बैठक में 2023-24 के लिए ईपीएफ पर 8.25 प्रतिशत इंटरेस्ट रेट प्रदान करने का निर्णय लिया है। EPF जमा पर मार्च 2021 में CBT की ओर से 2020-21 में 8.5 प्रतिशत ब्याज दर करने का निर्णय लिया गया था।

नई ब्याज दर कब तक होगी लागू

CBT के फैसले के बाद 2023-24 के लिए ईपीएफ जमा पर ब्याज दर सहमति के लिए वित्त मंत्रालय भेजा जाएगा। सरकार की मंजूरी मिलने के बाद 2023-24 के लिए ईपीएफ पर ब्याज दर ईपीएफओ के 6 करोड़ से ज्यादा ग्राहकों के खातों में जमा कर दी जाएगी। बता दें कि सरकार से मंजूरी मिलने के बाद इंटरेस्ट रेट प्रभावी हो जाती हैं। इससे पहले मार्च 2020 में ईपीएफओ ने 2019-20 के लिए भविष्य निधि जमा पर ब्याज दर को घटाकर सात साल के निचले स्तर 8.5 प्रतिशत कर दिया था। वहीं 2018-19 के लिए यह 8.65 प्रतिशत थी।
ये भी पढ़ें: म्यूचुअल फंड SIP में रिकॉर्ड 18,839 करोड़ का निवेश, इक्विटी इन्वेस्टमेंट 28 फीसदी बढ़ा

ट्रेंडिंग वीडियो