रॉयटर्स सर्वे: आम जनता को फिर लग सकता है महंगाई का जोरदार झटका

- रिटेल इंफ्लेशन में तेजी आने का जताया गया है अनुमान
- महंगाई की दर 16 महीने के निचले स्तर पर आने के बाद अब बढ़ सकती है

By: विकास गुप्ता

Published: 11 Mar 2021, 12:40 PM IST

नई दिल्ली। आने वाले दिनों में आम लोगों को एक बार फिर से महंगाई का झटका लग सकता है। यह हम नहीं कह रहे हैं, बल्कि एक सर्वे इस बात की तस्दीक कर रहा है। रॉयटर्स सर्वे के मुताबिक, फरवरी महीने में रिटेल इंफ्लेशन यानी खुदरा महंगाई दर बढ़कर 4.83 फीसदी पर पहुंचने का अनुमान जताया गया है। इससे पहले जनवरी के महीने में खुदरा महंगाई दर 4.06 फीसदी रही थी।

सर्वे में कहा गया है कि पेट्रोलियम के अलावा फूड इंफ्लेशन में तेजी का भी असर दिख रहा है। इस समय पेट्रोल-डीजल का रेट आसमान छू रहा है। देश के कई शहरों में पेट्रोल 100 रुपए प्रति लीटर बिक रहा है, जबकि कच्चा तेल एक साल में पहली बार 70 डॉलर के स्तर को पार कर गया है। आरबीआइ के गवर्नर शक्तिकांत दास ने भी कहा था कि अगर पेट्रोल और डीजल की कीमत पर कंट्रोल नहीं किया जाता है, तो ट्रांसपोर्टेशन कॉस्ट बढ़ जाएगी और खुदरा महंगाई में तेजी आएगी।

ऐसा रहा जनवरी का हाल-
जनवरी में खुदरा महंगाई दर 16 महीने के न्यूनतम स्तर पर पहुंच गई थी। रिटेल महंगाई दर 4.06त्न रही। दिसंबर, 2020 में यह दर 4.59त्न रही थी, जबकि नवंबर में महंगाई दर 7.6त्न रही थी। जनवरी में फूड इंफ्लेशन रेट 1.89 फीसदी रहा था, जबकि दिसंबर में यह 3.41 फीसदी रहा था। कीमत में कटौती को लेकर दास ने टैक्स में कटौती का सुझाव दिया था।

जनवरी में इंफ्रा आउटपुट 0.10 % -
स र्वे रिपोर्ट के मुताबिक, इंडस्ट्रियल आउटपुट जनवरी में बढ़कर 0.90 फीसदी रह सकता है। आउटपुट जनवरी में 0.10 फीसदी रह सकता है। दिसंबर में इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन 1.04 फीसदी रहा था। सरकार की तरफ से जारी डेटा के मुताबिक, जनवरी में इंफ्रा आउटपुट 0.10 फीसदी की रफ्तार से बढ़ा था।

बिगड़ रहा है किचन का बजट -
रिटेल इंफ्लेशन में तेजी आने से लोगों के लिए किचन का बजट मुश्किल हो जाएगा। पिछले एक महीने में एलपीजी गैस की कीमत में 125 रुपए की बढ़ोतरी हुई है। जनवरी के महीने में कीमत में कोई उछाल नहीं आया था, लेकिन दिसंबर में इसके रेट में 100 रुपए का उछाल आया था। जिस तरह क्रूड ऑयल की कीमत बढ़ रही है, उसके कारण आने वाले दिनों में पेट्रोल-डीजल के रेट में और उछाल की संभावना है। इससे खुदरा महंगाई पर दबाव बढ़ेगा।

Show More
विकास गुप्ता
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned