आसाराम रेप केस: पीड़िता के साथ इन लोगों को भी था इंसाफ का इंतजार

आसाराम को रेप के आरोप में दोषी करार दिया गया है। पीड़िता के साथ कुछ ऐसे लोग भी थे जिन्हें इस फैसले का इंतजार था।

नई दिल्ली। जोधपुर कोर्ट ने यौन शोषण केस में आसाराम को बुधवार को फैसला सुनाते हुए दोषी करा दिया है। आसाराम को दोषी ठहराए जाने के साथ ही इंसाफ के लिए पीड़िता का लंबा इंतजार भी खत्म हो चुका है। लेकिन ये इंतजार सिर्फ रेप पीड़िता ही नहीं कर रही थी। इंसाफ का इंतजार इस केस के उन तमाम गवाहों के परिजनों को भी था, जिनकी हत्या कर दी और कई लोग जिन पर हमले हो चुके हैं।

आसाराम का बचाव कर रहे थे भाजपा और कांग्रेस के ये दिग्गज नेता

कृपाल सिंह और अमरुत प्रजापति की हत्या

बता दें कि आसाराम के खिलाफ चल रहे यौन शोषण में मुख्य गवाह कृपाल सिंह थे। उन्हें उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर के पुवायन इलाके में गोली मार दी गई थी। वहीं, आसाराम के करीबी रहें और बाद में सरकारी गवाह बने अमरुत प्रजापति की राजकोट में हत्या कर दी गई थी।

रसोइए की हत्या

आसाराम केस में अखिल गुप्ता नाम के एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। बता दें कि अखिल करीब 10 साल तक आसाराम के साबरमती आश्रम में रसोइया रहा था। वह सूरत में दो बहनों के साथ कथित रेप मामले में मुख्य गवाह था।

कुछ ऐसे हुई थी आसाराम की गिरफ्तारी, प्लेन से लाया गया था जोधपुर

करीबी डॉक्टर की हत्या
आसाराम के बेहद करीबी रहे दिनेश गुप्ता की उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में कथित तौर पर हत्या कर दी गई थी। वहीं, आयुर्वेद डॉक्टर अमरुत प्रजापति जिन्होंने 12 साल तक आसाराम और उनके परिवार का इलाज किया था। राजकोट में उनकी गोली मार दी गई थी। प्रजापति सूरत में दो बहनों के साथ कथित रेप मामले में सरकारी गवाह बने थे।

चाकू मार कर हत्या

आसाराम और उनके बेटे नारायण साईं के खास लोगों में से एक महेंद्र चावला की भी गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। चावला नारायण साईं के खिलाफ कथित रेप मामले में गवाह थे। वहीं पूर्व कार्यकर्ता सचान भी रेप मामले में गवाह हैं। उन पर जोधपुर कोर्ट के बाहर चाकू से हमला किया गया था। ऐस कई और भी लोग थे जो आसाराम के करीबी थे और रेप मामले में गवाह थे उनकी हत्या कर दी गई थी या हमला किया गया था।

 

Show More
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned