निजामुद्दीन मरकज : क्राइम ब्रांच ने की 800 जमातियों से पूछताछ, घर वापसी पर है रोक

  • सोमवार तक चिन्हित जमातियों से क्राइम ब्रांच पूछताछ पूरा कर लेगी।
  • 1900 विदेशी जमातियों के खिलाफ क्राइम ब्रांच ने लुकआउट सर्कुलर जारी किए थे।
  • तबलीगी जमात के मरकज में चीन समेत 67 देशों से 2041 विदेशी आए थे।

By: Dhirendra

Updated: 23 May 2020, 02:17 PM IST

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ( Coronavirus ) और लॉकडाउन ( Lockdown ) के बीच भले ही निजामुद्दीन मरकज ( Nizamuddin) का मामला शांत है, लेकिन दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच ( Crime Branch ) ने तबलीगी जमात मरकज में आए विदेशी जमातियों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। अभी तक क्राइम ब्रांच 800 विदेशी जमातियों से पूछताछ कर चुकी है। शेष जमातियों से पूछताछ जारी है।

बता दें कि शुक्रवार को दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच ने 41.1 CRPC के तहत तबलीगी जमात से जुड़े विदेशियों को नोटिस जारी किया था।

निजामुद्दीन मरकज से जुड़े 916 विदेशी जमातियों को क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया है। इनमें से 800 से पूछताछ पूरी हो चुकी है। सभी से सोमवार तक क्राइम ब्रांच पूछताछ पूरी कर लेगी। इनके अलावा जो विदेशी जमाती दिल्ली सहित देश के अन्य इलाकों में पकड़े गए थे, उन्हें भी स्थानीय स्तर पर क्वारंटाइन किया गया है।

India-China Border : लद्दाख सहित 4 LAC लोकेशनों पर ड्रैगन की मंशा क्या है?

विदेशी जमातियों से पूछताछ के मकसद यह है कि इन्होंने किस तरह से वीजा नियमों में गड़बड़ी की है। फिलहाल क्राइम ब्रांच के अधिकारी विदेशी जमातियों से एक-एक कर पूछताछ करने के बाद उनके बयान दर्ज कर रही है।

दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच के अधिकारी दस्तावेजों की जांच कर और इनसे पूछताछ कर यह पता लगाना चाहती है कि आखिरकार इन्होंने किस आधार पर वीजा हासिल किया। वीजा का दुरुपयोग किस मकसद से किया।

विदेशी जमातियों के खिलाफ जारी हुआ था लुकआउट नोटिस

निजामुद्दीन मरकज पहुंचे 1900 विदेशी जमातियों के खिलाफ क्राइम ब्रांच ने लुकआउट नोटिस ( Lookout Notice ) जारी किए थे, ताकि जमाती बिना जांच अपने मुल्क न जा सकें। इसमें से 916 विदेशी जमातियों को मरकज से बाहर निकाले जाने के बाद दिल्ली के क्वारांटाइन सेंटर में रखा गया था। शेष जमाती पुलिस से बचने के मकसद से देश के अन्य इलाकों में चले गए थे। दिल्ली के बाहर से जितने भी विदेशी जमाती पकड़े गए हैं, वहां की एजेंसियों ने इनके पासपोर्ट जब्त कर क्राइम ब्रांच को इसकी जानकारी दी है।

मरकज में शामिल हुए थे 67 देशों के 2041 जमाती

दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच की जांच में खुलासा हुआ कि निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात ( Tablighi Jamaat ) के मरकज में चीन समेत 67 देशों से 2041 विदेशी आए थे। इनमें से इंडोनेशिया के 553, बांग्लादेश के 497, थाईलैंड के 151, किरगिस्तान के 145 और मलेशिया के 118 लोग शामिल हैं। इसके अलावा अन्य 62 देशों से 577 लोग शामिल हैं।

Delhi : पहली बार 24 घंटे में सामने आए 660 नए मामले, कोरोना मरीजों की संख्या 12,000 के पार

इसके अलावा अभी तक की जांच में क्राइम ब्रांच ने दो बार मरकज, मौलाना साद के घर और शामली स्थित फार्म हाउस पर छापेमारी की। कुल 47 लोगों से पूछताछ की गई और 40 लोगों के बयान दर्ज किए गए हैं। जमात मुख्यालय समेत 11 बैंक खाते, 18 फोन और मौलाना के छह करीबी लोगों से पूछताछ। हवाला नेटवर्क से जुड़े 5 लोगों, एक ट्रस्ट के 3 लोगों और जमातियों को बाहर भेजने वाले नौ टूर एंड ट्रैवल्स एजेंटों से पूछताछ की है।

Show More
Dhirendra Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned