इस महीने कम नहीं होगी सर्दी और परेशानी, मौसम विभाग की बड़ी भविष्यवाणी

Weather Update: लगातार हो रही बर्फबारी और बारिश को लेकर (Weather Forecast) आपदा प्रबंधन ने विस्तार से मंथन किया, मौसम विभाग द्धारा दी गई जानकारी (Uttarakhand Weather) पर भी (Uttarakhand News) चर्चा की (Weather News) गई...

By: Prateek

Updated: 09 Jan 2020, 09:31 PM IST

(देहरादून): उत्तराखंड में बर्फबारी और बारिश का कहर जारी है। मौसम विभाग की मानें तो आगामी 15 जनवरी तक ठंड से किसी भी तरह से राहत की कोई उम्मीद नहीं है। प्रदेश की 110 तहसीलों में से 65 तहसीलों में बर्फबारी और बारिश का असर काफी तगड़ा है। इस बीच आपदा प्रबंधन का मानना है कि इन तहसील क्षेत्रों में जनजीवन अगले माह ही सटीक रूप से पटरी पर लौटने की उम्मीद है। पहाड़ी इलाकों में पड़ रही इस सर्दी का असर राजस्थान, पंजाब, गुजरात जैसे राज्यों में भी महसूस किए जाने की संभावना है।

 

यह भी पढ़ें: झारखंड में खुलेगी 'ट्राइबल यूनिवर्सिटी', हेमंत सोरेन रखेंगे केंद्र सरकार के समक्ष मांग

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बर्फबारी और बारिश से प्रभावित जिलों की ताजा हालात की जानकारी ली और मुख्यसचिव उत्पल कुमार सिंह को कई जिलों में बंद मोटर मार्ग, ठप पड़ी बिजली व्यवस्था और पेयजल की किल्लत को दूर करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने मुख्यसचिव से सरकारी मशीनरी को अलर्ट करने को कहा है। साथ ही जिलाधिकारियों से भी प्रभावित गांवों पर खास नजर रखने के आदेश दिए हैं। इसके लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर जरूरी दवाइयां और चिकित्सकों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के आदेश दिए हैं।

यह भी पढ़ें: युवक की शादी हो रही थी दूसरी जगह, प्रेमिका के साथ मिलकर उठाया खौफनाक कदम


पिछले 5 दिनों से प्रदेश में लगातार हो रही बर्फबारी और बारिश को लेकर आपदा प्रबंधन ने विस्तार से मंथन किया। इसके अलावा अन्य विभागों पीडब्ल्यूडी,पेयजल और ऊर्जा विभाग के अधिकारियों के साथ भी स्थिति को सामान्य बनाने पर चर्चा की। मौसम विभाग द्धारा दी गई जानकारी पर भी चर्चा की गई। माना जा रहा है कि आगामी 15 जनवरी तक मौसम में कोई खास बदलाव के संकेत नहीं दिख रहे हैं। इस लिहाज से चंपावत, अल्मोड़ा, बागेश्वर, पिथौरागढ़, रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी और चमोली जनपदों के शहरी क्षेत्रों की स्थिति को सामान्य होने में एक पखवाड़ा का समय लग सकता है लेकिन दूर दराज के वे गांव जहां पैदल मार्ग ही एकमात्र विकल्प है वहां के हालात फरवरी के पहले ठीक होने की उम्मीद नहीं है।

 

इधर आपदा प्रबंधन के मुताबिक रुद्रप्रयाग, ऊखीमठ, थराली, मसूरी और धनोल्टी में बर्फबारी और बारिश का कहर जारी है। इसके अलावा गंगोत्री—यमुनोत्री हाईवे, देहरादून—सुवाखोली, हर्षिल—मुखबा, मुन्स्यारी मोटर मार्ग, धारचूला में तावाघाट नारायण आश्रम मोटर मार्ग,नैनीताल में बिड़ला—चुंगीरोड,देहरादून—चकराता और त्यूणी मोटर मार्ग विशेष रूप से प्रभावित है। मौसम विभाग और आपदा प्रबंधन ने माना है कि बर्फबारी और बारिश से इस माह प्रदेश के लोगों को राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। लोगों को मौसम की दुश्वारियां झेलनी होंगी।

उत्तराखंड की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

यह भी पढ़ें: तबरेज अंसारी की हत्या में BJP का हाथ, कांग्रेस MLA का बड़ा आरोप

latest weather update
Show More
Prateek Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned