पाप मुक्ति का सर्टिफिकेट तक मिलता है यहां, जानिये कैसे?

इस शिव मंदिर में भक्तों को मिल है पापों से मुक्ति...

By: दीपेश तिवारी

Published: 13 May 2020, 11:13 AM IST

आज तक आपने चरित्र को लेकर, मूलनिवासी को लेकर या शिक्षण संबंधी या फिर फिर किसी प्रतियोगिता में भाग लेकर सफलता का सर्टिफिकेट जरूर पाया होगा। लेकिन क्या आप जानते हैं कि हमारे देश में शिव का ऐसा अनोखा मंदिर भी मौजूद है, जहां पाप मुक्ति का सर्टिफिकेट मिलता है। यदि नहीं तो आज हम आपको उस मंदिर के बारे में बताते हैं जहां ये सर्टिफिकेट मिलता है...

सनातन धर्म मे भगवान शिव आदि पंच देवों में से एक माने जाते हैं। ऐसे में देश में जगह जगह भगवान शिव के मंदिर भी हैं, वहीं ऐसे कई मंदिर हैं जहां समय समय पर चमत्कार भी होते रहते हैं। दरअसल हर शिव मंदिर की अपनी अलग विशेषता है और सभी मंदिरों का अपना अलग महत्व है। सभी मंदिरों की मान्यताएं भी अलग हैं, इन्हीं मान्यताओं के अनुसार देश के एक शिव मंदिर के बारे में माना जाता है की वहां भक्तों को पापों से मुक्ति मिल जाती है।

MUST READ : ऐसा मंदिर, जहां निवास करती हैं धरती की सबसे जागृत महाकाली! पूरी होती से सारी मनोकामनाएं

https://www.patrika.com/temples/earth-s-most-awakened-mahakali-is-here-6091678/

गौतमेश्‍वर शिव मंदिर: एक अद्भुत मंदिर
शिव मंदिरों की महिमा तो अपंरपार है ही लेकिन इतनी अद्भुत होगी शायद ही आपने सोचा हो। पाप मुक्ति का सर्टिफिकेट देने वाला यह मंदिर राजस्‍थान के प्रतापगढ़ में स्‍थापित है। इसका नाम है गौतमेश्‍वर शिव मंदिर...

महर्षि गौतम से शुरू हुई थी परंपरा
मान्‍यता है कि सप्‍तऋषियों में से एक गौतम ऋषि पर एक बार गौहत्‍या का कलंक लग गया था। उस समय वह प्रतापगढ़ के इसी मंदिर में स्थित सरोवर में स्‍नान करने आए थे।

MUST READ : यहां हुआ था शिव-पार्वती का विवाह, फेरे वाले अग्निकुंड में आज भी जलती रहती है दिव्य लौ

https://www.patrika.com/pilgrimage-trips/land-of-lord-shiv-parvati-marriage-6085339/

इसके बाद ही उन्‍हें गौहत्‍या के कलंक के मुक्ति मिली थी। कहा जाता है इसके बाद से गौतमेश्‍वर स्थित मंदिर के इस सरोवर में जो भी स्‍नान करता है। उसे पाप से मुक्ति मिल जाती है।

पुजारी खुद देते हैं सर्टिफिकेट
गौतमेश्‍वर शिव मंदिर के इस मोक्षदायिनी कुंड में स्‍नान करने के बाद पुजारी उसे पाप मुक्ति का सर्टिफिकेट देते हैं। स्‍थानीय निवासी बताते हैं कि आज भी यदि किसी पर जीव हत्‍या का पाप लगता है या फिर कारणवश उसे समाज से निष्‍कासित कर दिया जाता है, तो ऐसे लोग मोक्षदायिनी कुंड में डुबकी लगाने जरूर आते हैं। पुजारी बताते हैं कि भोलेनाथ की कृपा से इस मंदिर में भक्‍तों के सभी पापों का नाश हो जाता है।

historic temple of Rajasthan : Unique Temple Of Shiv Where you get a certificate of Sin relief
Show More
दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned