scriptchhatisgarh state incharge of Bjp Omprakash Mathur exclusive interview | Special Interview: ना नया, ना पुराना, पार्टी का श्रेष्ठ कार्यकर्ता ही मुख्यमंत्री बनेगा | Patrika News

Special Interview: ना नया, ना पुराना, पार्टी का श्रेष्ठ कार्यकर्ता ही मुख्यमंत्री बनेगा

locationनई दिल्लीPublished: Dec 05, 2023 08:49:45 am

Interview of Omprakash Mathur: पिछले वर्ष अक्टूबर में छत्तीसगढ़ भाजपा प्रदेश प्रभारी के रुप में नियुक्ति होने के बाद ही भाजपा के वरिष्ठ नेता ओम माथुर ने आक्रामक रुख से स्पष्ट कर दिया था कि भाजपा इस चुनाव में आक्रामक अंदाज में उतरने जा रही है। प्रधानमंत्री आवास योजना हो या दूसरे मुद्दे। सरकार को घेरने के लिए माथुर ने जो रणनीति बनाई, उसी का नतीजा चुनाव परिणाम में भाजपा को बहुमत मिला है। माथुर कहते हैं यह परिणाम एक-दो महीने की मेहनत से नहीं बल्कि एक साल तक कार्यकर्ताओं के अथक प्रयास के कारण आए हैं। ओम माथुर से साक्षात्कार के प्रमुख अंश...

om_mathur.jpg

प्रश्न- आपने जीत की रणनीति किन बिंदुओं को ध्यान में रखकर बनाई?

उत्तर- हमने तीन प्रमुख बिंदुओं को रणनीतिक रूप से अपने सामने रखा। पहला कांग्रेस सरकार के भ्रष्टाचार को उजाकर करते हुए हर आदमी तक पहुंचाना हमारा लक्ष्य था। दूसरा लक्ष्य प्रधानमंत्री आवास को बड़ा मुद्दा बनाना। तीसरा लक्ष्य केेंद्र की लोक कल्याणकारी योजनाओं को कार्यकर्ताओं के जरिए प्रचारित करना। इसके लिए हमने बूथ से लेकर प्रदेश स्तर तक अपनी पूरी ताकत लगा दी थी।

प्रश्न-छत्तीसगढ़ की विकट परिस्थितियों में हासिल इस जीत में आप अपनी भूमिका कैसे देखते हैं?

उत्तर-इस जीत का श्रेय मुझे नहीं जाता है। यह ओमप्रकाश माथुर की जीत नहीं है, बल्कि भाजपा के प्रत्येक कार्यकर्ता की जीत है। कार्यकर्ता जब सक्रिय हो जाता है, उसका स्वाभिमान जाग जाता है तो जीत से कोई रोक नहीं सकता है। मैंने मंडल, संभाग और जिला स्तर की बैठकें करके कार्यकर्ताओं को सक्रिय किया है। मैंने केवल अपनी जिम्मेदारी निभाई है। जीत का श्रेय केवल कार्यकर्ताओं को ही जाता है।

प्रश्न- नई सरकार की तीन प्राथमिकताएं क्या होंगी?

उत्तर- हमारा संकल्प पत्र ही हमारी प्राथमिकताएं हैं। यह छत्तीसगढ़ की गारंटी नहीं है, बल्कि मोदी की गारंटी है, जिस पर जनता भरोसा करती है। उसी पर सबसे पहले हमें अमल करना है। हमारी पहली प्राथमिकता जनता को भयमुक्त अच्छी सरकार देना है। इसके अलावा यहां के खनिज संसाधनों का सही उपयोग और छत्तीसगढ़ को पर्यटन के क्षेत्र में स्थापित करना हमारी प्राथमिकताओं में शामिल है। हम छत्तीसगढ़ को पूरे देश में श्रेष्ठ प्रदेश के रुप में स्थापित करना चाहते हैं।

प्रश्न- कार्यकर्ताओं के साथ काम करने के आपके तीन प्रमुख सूत्र क्या हैं?

उत्तर-हम संवाद, सम्मान और आत्मीयता के सूत्र पर काम करते है। हम अपने प्रत्येक कार्यकर्ता के साथ संवाद करते हैं पूरे सम्मान के साथ। हम आपस मेंं कोई बैरियर खड़ा नहीं करते हैं। मैं रात में 12 बजे भी पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ मीटिंग करता हूं और उनकी बात सुनता हूूं। यही कारण है कि पार्टी में कोई मतभेद नहीं होता है। उदाहरण देखिए-हमने छत्तीसगढ़ में 55 सीटों पर टिकट बदल दिए, लेकिन कहीं कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई। कारण, यह आपसी संवाद का नतीजा है।

प्रश्न- कांग्रेस सरकार की विफलता के क्या कारण हैं?

उत्तर- कांग्रेस सरकार ने पिछले पांच साल में कुछ भी नहीं किया है। खुद का और आलाकमान का घर भरना सरकार चलाना नहीं होता है। जनता से झूठे वादे किए और प्रदेश में विकास पूरी तरह से रोक दिया। जनता में ये अपना भरोसा ही कायम नहीं कर पाए। भूपेश पर भरोसा की लाइन को बाद में बदलकर कांग्रेस पर भरोसा कर दिया गया। इससे आप समझ सकते हैं। ढाई-ढाई साल का फार्मूला होने के बाद भी जब वह अमल में नहीं लाया गया तो नतीजा आप सरगुजा मेंं देख ही रहे हो। पूरी 14 सीटें इन्हें खोनी पड़ी है। बात भरोसे की ही है।

प्रश्न- आपको कैसे भरोसा हुआ कि भाजपा छत्तीसगढ़ जीत रही है?

उत्तर- जब मैं पहली बार छत्तीसगढ़ आया था, तभी मुझे महसूस हो गया था कि हम कांग्रेस सरकार को उखाड़ फेंकेंगे। उत्तर प्रदेश में भी हमने अपने प्रदेश अध्यक्ष और कार्यकर्ताओं के साथ इसी तरह की रणनीति पर काम किया था, जिसका नतीजा हमें भारी बहुमत के रुप में मिला।

प्रश्न- लोकसभा के लिए आपकी क्या रणनीति है?

उत्तर- जनता का भरोसा देखिए। हम लोकसभा की सभी 11 सीटें जीतेंगे और काफी अच्छे अंतर से जीतेंगे।

यह भी पढ़ें - कौन बनेगा नया सीएम! दिल्ली में मंथन, पटेल-जोशी शाह से मिले, क्या नए प्रयोग करेगी बीजेपी

ट्रेंडिंग वीडियो