बीजेपी के MLC ने कहा हां मेरे बाहुबली अंसारी बंधुओं से निजी सम्बन्ध हैं

बीजेपी के MLC ने कहा हां मेरे बाहुबली अंसारी बंधुओं से निजी सम्बन्ध हैं
MLC Vishal Singh Chanchal and Mukhtar Ansari

बीजेपी ज्वाइन करने के बाद भी बरकरार है विशाल सिंह का बाहुबली प्रेम।

Alok Tripathi

गाजीपुर. बीजेपी में नए-नए शामिल हुए गाजीपुर के एमएलसी विशाल सिंह चंचल का बाहुबली प्रेम कुलांचे मार रहा है। यह बात जग जाहिर है कि विशाल सिंह चंचल को एमएलसी बनाने में अंसारी बंधुओं का किस कदर योगदान है। भले ही वह इस एहसान का बदला बाहुबली अंसारी बंधुओं के साथ सपा ज्वाइन न करने से नहीं उतार पाए हों, लेकिन अभी भी कहीं न कहीं इस एहसान का उन्हें एहसास है। यही वजह है कि बीजेपी ज्वाइन करने के बाद भी एमएलसी विशाल चंचल को यह मानने में गुरेज नहीं कि बाहुबली अंसारी बंधुओं से उनके निजी सम्बनध हैं।





एमएलसी विशाल सिंह चंचल ने पत्रिका के साथ बातचीत में कहा है कि समाजवादी पार्टी के खिलाफ एमएलसी का चुनाव लड़ते समय उनका साथ हर दल जिसमें भाजपा भी शामिल है, ने दिया। में इसके लिये सभी का शुक्रगुजार हूं। पहले मैं निर्दल था, पर अब बीजेपी में आने के बाद भाजपा के प्रति मेरी विशेश जिम्मेदारी है। अब पार्टी के साथ-साथ विकास से जुड़ी बातों के लिये भी मैं हर वक्त तैयार हूं।





उन्होंने अंसारी बंधुओं के साथ सपा में न जाने और उनसे रिश्ते के सवाल पर वह मुस्कुरा दिये। कहा कि मैं अब बीजेपी का कार्यकर्ता हूं और मेरी निष्ठा अपनी पार्टी के प्रति है। पर अंसारी बंधुओं से मेरे निजी संबंधों की बात अलग है। विशाल सिंह चंचल ने कहा कि जब मैं निर्दल प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लड़ रहा था तो मेरी मदद अंसारी बंधुओं की पार्टी कौमी एकता दल के सा-साथ सभी ने की थी।





मनोज सिन्हा से नजदीकियों के बाद विशाल सिंह चंचल के भाजपा में शामिल होने से अटकलों का बाजार गर्म था कि उनके परिवार का कोई सदस्य जमानियां विधानसभा से भाजपा का उम्मीदवार बनकर मंत्री ओमप्रकाश सिंह और विपक्षियों को कड़ी टक्कर देगा के सवाल पर उन्होने सिरे से अटकलों को खारिज करते हुए कहा कि मै निर्दल प्रत्याशी के तौर पर एमएलसी चुनाव जीता हूं और मै चाहता हूं कि मै अच्छा और विकास परक कार्य करूं। जिसके चलते मै भाजपा जैसी राष्ट्रीय पार्टी में शामिल हुआ। वहीं बातों बातों में सदर विधानसभा के कोर्ट में लंबित मतदान पत्रों के गिनती की बात पर उन्होंने कहा कि कोर्ट जो फैसला करें उसका सभी को सम्मान करना चाहिए।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned