आतंकवाद से मिलकर लड़ेंगे ईरान और पाकिस्तान, बॉर्डर रिएक्शन फोर्स बनाने का फैसला

आतंकवाद से मिलकर लड़ेंगे ईरान और पाकिस्तान, बॉर्डर रिएक्शन फोर्स बनाने का फैसला

Mohit Saxena | Updated: 23 Apr 2019, 11:25:33 AM (IST) गल्फ

  • सीमा तनाव कम करने के लिए बनी सहमति
  • बलूचिस्तान में 14 पाक जावानों की हत्या कर दी गई थी
  • निपटने के लिए रिएक्शन फोर्स का होना अनिवार्य है

तेहरान। ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने सोमवार को घोषणा की कि वह और देश के दौरे पर आने वाले पाक प्रधानमंत्री इमरान खान संयुक्त सीमा रिएक्शन फोर्स बनाने पर सहमत हुए हैं। उन्होंने कहा कि आतंकवाद से लड़ने के लिए इस तरह के बल की आवश्यकता है। मीडिया से रूहानी ने कहा कि दोनों देशों की सीमा पर तनाव काफी बढ़ गया है। इससे निपटने के लिए इस तरह की एक रिएक्शन फोर्स का होना अनिवार्य है।

ये भी पढ़े: श्रीलंका में सीरियल ब्लास्ट, धमाके बाद मची अफरा-तफरी, देखें तस्वीरें

14 जवानों की हत्या कर दी थी

इमरान खान का यह पहला ईरानी दौरा है। रिएक्शन फोर्स का मुद्दा तब सामने आया, जब बीते दिनों ईरान के कुछ बंदूकधारियों ने पाकिस्तान के 14 जवानों की हत्या कर दी थी। खान का कहना है कि रिएक्शन फोर्स को लेकर वह अपने ईरानी समकक्ष के साथ बैठक करेंगे और मामले पर गहन चर्चा करने वाले हैं। रविवार को दो दिवसीय यात्रा शुरू करने वाले पाकिस्तानी प्रमुख ने कहा कि उन्हें भरोसा है कि दोनों देशों को अपनी मिट्टी से आतंकवादी गतिविधियां नहीं मिलेंगी। ईरान का दावा है कि पाकिस्तान की सीमा पर आतंकवाद बढ़ता जा रहा है। यहां से सुन्नी जेहादी आतंकी संगठन वारदात को अंजाम देने में सक्रिय रहते हैं। वहीं शनिवार को पाकिस्तान का कहना है कि ईरानी सीमा से उसे आतंकवाद के कई सबूत हासिल हुए हैं। यहां पर कई आतंकी कैंप पाए गए हैं।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned