नहरी पानी के साथ इस बार खाद की कमी का भी करना पड़ सकता है सामना

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. इस बार रबी सीजन में नहरी पानी के साथ ही डीएपी की कमी का सामना भी किसानों को करना पड़ सकता है। समय पूर्व डीएपी का प्रबंधन करने को लेकर गुरुवार को कृषि विभाग कार्यालय में कृषि अधिकारियों ने डीएपी उर्वरक की कमी रहने पर फास्फोस उर्वरक को बढ़ावा देने की बात कही।

 

By: Purushottam Jha

Published: 23 Sep 2021, 08:54 PM IST

नहरी पानी के साथ इस बार खाद की कमी का भी करना पड़ सकता है सामना
-कृषि विभाग के उप निदेशक ने दी जानकारी

हनुमानगढ़. इस बार रबी सीजन में नहरी पानी के साथ ही डीएपी की कमी का सामना भी किसानों को करना पड़ सकता है। समय पूर्व डीएपी का प्रबंधन करने को लेकर गुरुवार को कृषि विभाग कार्यालय में कृषि अधिकारियों ने डीएपी उर्वरक की कमी रहने पर फास्फोस उर्वरक को बढ़ावा देने की बात कही। बैठक में उर्वरक निर्माता और विक्रय कंपनी के प्रतिनिधि मौजूद रहे। उप निदेशक दानाराम गोदारा ने कहा कि डीएपी की कमी रहती है तो एसएसपी उर्वरक को बढ़ावा दिया जाए। इस मौके पर गेहूं की बजाय सरसों व चने की बिजाई अधिक क्षेत्रफल में करने की सलाह दी। सहायक निदेशक स्वर्ण सिंह अराईं, कृषि पर्यवेक्षक जगदीश दूधवाल, नंदराम भाकर, कृषि आदान विक्रेता संघ के जिलाध्यक्ष बालकिशन गोल्याण, विजय रौंता आदि मौजूद रहे।

इंदिरागांधी नहर में चार में एक समूह का रेग्यूलेशन लागू
-किसान संगठन उक्त रेग्यूलेशन का कर रहे विरोध
हनुमानगढ़. इंदिरागांधी नहर में २३ सितम्बर से चार में एक समूह का रेग्यूलेशन लागू कर दिया गया। २३ सितम्बर २०२१ से दो जनवरी २०२२ तक इंदिरागांधी नहर को चार में एक समूह में चलाने का रेग्यूलेशन मंजूर किया गया है। इस अवधि में नहरों में ६४०० क्यूसेक पानी चलाया जाएगा। बांधों में पानी की आवक नहीं होने पर दो जनवरी के बाद इंदिरागांधी नहर में केवल पेयजल के तौर पर ३००० क्यूसेक चलाने का रेग्यूलेशन जारी किया गया है। वर्तमान में लागू सिंचाई रेग्यूलेशन के अनुसार सूरतगढ़, एनडीआर-रावतसर, अनूपगढ़ व पूगल नहरों को वरीयता के हिसाब से चलाने की बात अधिकारी कह रहे हैं। गौरतलब है कि २१ सितम्बर को हुई जल परामर्शदात्री समिति की बैठक में भाजपा विधायकों ने विभाग के उक्त रेग्यूलेशन का विरोध किया था। अब किसान संगठन भी इस रेग्यूलेशन को लेकर आंदोलन कर रहे हैं। किसानों की मांग है कि इंदिरागांधी नहर को चार में दो समूह में चलाया जाए। जिससे रबी फसलों की समय पर बिजाई हो सके। किसानों के विरोध बीच विभाग ने चार में एक समूह का रेग्यूलेशन लागू कर दिया है।

Purushottam Jha Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned