scriptActivation of Dalit-tribal organizations | दलित-आदिवासी संगठनों की सक्रियता से भाजपा की चिंता बढ़ी | Patrika News

दलित-आदिवासी संगठनों की सक्रियता से भाजपा की चिंता बढ़ी

भाजपा की नई चिंता...

भोपाल

Published: January 16, 2018 08:58:40 am

भोपाल। महाराष्ट्र के कोरेगांव हादसे के बाद दक्षिणी मध्यप्रदेश में दलित और आदिवासी संगठनों की सक्रियता अचानक बढ़ गई। ये संगठन भाजपा और सरकार के खिलाफ लामबंदी कर रहे हैं। इस मामले भाजपा के एक विधायक ने पूरी जानकारी मुख्यमंत्री को सौंपी है। मध्यप्रदेश के दक्षिणी हिस्से के बैतूल, छिंदवाडा़, सिवनी, बालाघाट और बुरहानपुर जिले में पिछले दिनों भीमा कोरगांव हादसे की लपटें पहुंची थी। इसमें भी बुरहानपुर में तो सड़कों विरोध नजर आया था।

BjP

इस घटना के बाद इनमें से कुछ जिलों में भाजपा और सरकार के खिलाफ कुछ संगठन एक जुट होने लगे हैं। इन संगठनों का सरकार के प्रति सीधा सीधा विरोध तो नजर नहीं आ रहा है लेकिन बैतूल और छिंदवाड़ा जिले में कई जगहों पर बैठकें कर के अपने हक को हासिल करने की रणनीति बनाई जा रही है। भाजपा के एक प्रदेश स्तर के पदाधिकारी और विधायक ने इस मामले में मुख्यमंत्री को शिकायत करके आगाह भी किया है। उधर इस मामले में भाजपा प्रदेश संगठन को भी सूचना दी गई है।

भाजपा विधायक के मुताबिक अगर अभी डैमेज कंट्रोल नहीं किया जाता है तो अगले चुनाव में पार्टी को इन इलाकों में इन संगठनों की एकजुटता से मुश्किल का सामना करना पड़ सकता है। चुनावी साल में इस तरह के संगठनों का एकजुट होना भाजपा के लिए नया सिरदर्द साबित हो सकता है। इसी के चलते पार्टी ने इन इलाकों में अनुसूचित जाति और जनजाति वर्ग को फोकस करके योजनाएं बनाना शुरू कर दी है।

सूत्रों के मुताबिक बैतूल जिले में ही दस संगठन है, जो आपस में एकजुट हुए हैं। इसमें आदिवासी युवा विकास परिषद, महार युवा प्रकोष्ठ, बहुजन मुक्ति मोर्चा, आदिवासी समाज, सिख संगठन, बहुजन क्रांति मोर्चा, महात्मा फूले संगठन शामिल है। इनमें से कुछ संगठन सार्वजनिक रूप से मंच पर आकर भी अपना विरोध जता चुके हैं। उधर छिंदवाड़ा के साथ ही महाकौशल के दूसरे जिलों में गोंडवाना गणतंत्र पार्टी पहले ही आदिवासियों को भाजपा के खिलाफ एकजुट करने का काम करती रही है।

बूथ स्तर पर नमो एप डाउनलोड करेगी भाजपा
इधर, भाजपा सोशल मीडिया के जरिए लोगों तक पहुंचने की जुगाड़ में जुट गई है। पार्टी ने तय किया है कि प्रदेश में ज्यादा से ज्यादा लोगों के मोबाइल फोन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का एप होना चाहिए। भाजपा प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत ने सभी प्रदेश पदाधिकारियों को चिट्ठी लिखी है।

भगत ने चिट्ठी में निर्देश दिए हैं पार्टी पदाधिकारी अपने कार्यक्रमों में बूथ स्तर तक स्टॉल लगाए और लोगों के मोबाइल फोन में नमो और शिवराज एप डाउनलोड करवाएं। इसके पीछे पार्टी का मकसद चुनावी साल में सरकार की योजनाओं का प्रचार कर जनमत तैयार करना है। गौरतलब है दो दिन पहले ही भाजपा सोशल मीडिया प्रकोष्ठ की बैठक में तय किया कि विधानसभा सीट पर 20 हजार लोगों को वाट्सएप से जोड़ेगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Maharashtra : फ्लोर टेस्ट से गायब क्यों रहे MVA के 11 MLAs, कारण जानकर Congress की उड़ी नींदCBSE Board Result 2022: सीबीएसई 10वीं-12वीं का परिणाम कब करेगा जारी, cbseresults.nic.in पर देखें लेटेस्ट अपडेटफिर गोलीबारी से दहला अमेरिका: फ्रीडम डे परेड में फायरिंग से 6 लोगों की मौत, 57 घायलबुजुर्ग महिला से कैफे में मिले राहुल गांधी, कांग्रेस ने बताया बिना स्क्रिप्ट का शुद्ध प्रेमभूंकप के झटकों से थर्राया अंडमान निकोबार, रिक्टर स्कैल पर 5 मापी गई तीव्रताEknath Shinde Property: मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे से 12 गुना ज्यादा अमीर हैं शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, जानें किसके पास कितनी संपत्तिपश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री के आवास में घुसने वाले शख्स ने परिसर को समझ लिया था कोलकाता पुलिस का मुख्यालयसिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद कार में पिस्तौल लहराते हुए जश्न मनाते दिखे हत्यारे, वायरल हुआ वीडियो
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.