script 2000 स्वयंसेवकों को लेकर स्पेशल ट्रेन रवाना, घर-परिवार के साथ करेंगे रामलला के दर्शन | Indore to ayodhya special train departure on 4 february for rss VHP workers ram temple glimpse | Patrika News

2000 स्वयंसेवकों को लेकर स्पेशल ट्रेन रवाना, घर-परिवार के साथ करेंगे रामलला के दर्शन

locationइंदौरPublished: Feb 04, 2024 03:35:05 pm

Submitted by:

Sanjana Kumar

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और विहिप ने प्रमुख स्वयंसेवकों को रामलल्ला के दर्शन कराने की तैयारी की थी। देशभर से इसके लिए विशेष ट्रेनें चलाई जा रही हैं। इसी क्रम में अब एमपी के मालवा प्रांत के संघ और विहिप के प्रमुख स्वयंसेवक, कार्यकर्ताओं का जत्था कल रामलल्ला के दर्शन करने रवाना हो गए हैं, पढ़ें पूरी खबर...

indore_to_ayodhya_dham_special_train_for_rss_vhp_workers_departure_on_fourth_february.jpg

रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का उत्सव संपन्न होने के बाद राम भक्तों को रामलला के दर्शन का इंतजार है। इस बीच रेलवे की ओर से कई स्पेशल ट्रेन भी शुरू की गई हैं। वहीं अब राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और विहिप ने प्रमुख स्वयंसेवकों को रामलला के दर्शन कराने की तैयारी की है। इन प्रमुख स्वयंसेवकों को रामलला के दर्शन कराने इंदौर से स्पेशल ट्रेन आज रवाना हो गई है।

स्वयंसेवकों, कारसेवकों के लिए है ये स्पेशल ट्रेन

हर कोई अयोध्या में रामलला के दर्शन करने जाना चाहता है। इसी भावना को ध्यान में रखते हुए संघ और विहिप ने अपने पुराने स्वयंसेवकों, कारसेवकों और विभिन्न अनुषांगिक संगठनों के कार्यकर्ताओं को दर्शन कराने ले जा रहा है। 4 फरवरी को इंदौर से स्पेशल ट्रेन रवाना हो गई है, जो अगले दिन सुबह सवा 5 बजे अयोध्या धाम पहुंचेगी। योजना के अनुसार ये स्वयंसेवक और कार्यकर्ता 6 फरवरी की सुबह दर्शन कराए जाएंगे और शाम को वापसी की ट्रेन है।

मालवा प्रांत की ट्रेन

ये ट्रेन मालवा प्रांत की है, जिसमें 28 जिले हैं। जब संगठन ने ट्रेन को लेकर स्वयंसेवकों का चयन शुरू किया तो आंकड़ा बढ़ गया। प्रत्येक जिले से कम से कम 75 की संख्या सामने आई है, लेकिन ट्रेन की क्षमता 1300 यात्रियों की ही थी, जिसमें बाद में कोच बढ़ाए गए। अब 2000 कार्यकर्ता ट्रेन से गए हैं। आपको बता दें कि इस स्पेशल ट्रेन का प्रस्ताव रेल मंत्रालय को भेजा था। भीड़ से बचने के लिए देशभर में अलग-अलग शेड्यूल तय किया गया था।

सिर्फ ट्रेन का किराया ले रहे

अयोध्या यात्रा को लेकर कार्यकर्ताओं से स्लीपर कोच के 650 रुपए शुल्क लिया जा रहा है और एसी कोच के लिए 1300 रुपए। ये सिर्फ ट्रेन का टिकट है। वहीं खाने-पीने और ठहरने की व्यवस्था संगठन अपने स्तर पर कर रहा है। संघ ने अयोध्या दर्शन करने जाने वाली फेहरिस्त में भाजपाइयों को स्थान नहीं दिया है, लेकिन विहिप, बजरंग दल, सेवा भारती, क्रीड़ा भारती, एबीवीपी आदि के प्रतिनिधि जाएंगे। यात्रा में कार्यकर्ता परिवार के साथ, दोस्तों के साथ जा रहे हैं।

दो दिन रुक सकते हैं वर्कर्स

पूरे प्रांत से 2000 कार्यकर्ता रामलला के दर्शन करने जाए रहे हैं। इंदौर से सुबह सवा सात बजे ट्रेन रवाना होगी और अगले दिन सुबह 5 बजे अयोध्या धाम पहुंचाएगी। यहां प्राण-प्रतिष्ठा के अवसर पर साधु-संतों और मेहमानों के लिए बनाए गए टैंट सिटी में ये सभी कार्यकर्ता ठहरेंगे। एक कार्यकर्ता दो दिन तक यहां रह सकता है।

इनका कहना है

संघ और विहिप ने स्पेशल ट्रेन की व्यवस्था की है। मालवा प्रांत के सभी कार्यकर्ता और स्वयंसेवक इन ट्रेनों में रिजर्वेशन कराया था। 2000 से ज्यादा कार्यकर्ता गए हैं। कुछ अपने निजी वाहनों से रवाना हुए हैं। संघ की ओर से रहने, खाने-पीने की व्यवस्था की गई है।

ट्रेंडिंग वीडियो