धूप, बारिश, बादल अभी और करेंगे परेशान, निकलता रहेगा पसीना, बढ़ेगी उमस

धूप, बारिश, बादल अभी और करेंगे परेशान, निकलता रहेगा पसीना, बढ़ेगी उमस

 

By: Lalit kostha

Published: 11 Sep 2020, 01:30 PM IST

जबलपुर। शहर में तेज धूप और उसम बनी हुई है। गुरुवार को सुबह से धूप की तपिश बनी रही। उसम और चिपचिपी गर्मी से लोग बेचैन रहे। सडक़ों पर निकलते ही पसीना-पसीना हुए। रात में बारिश वाले बादल कुछ जगह पर मेहरबान हुए। इसके बाद चली सर्द हवा से थोड़ी राहत मिली। ]

फिर बदला मौसम. सुबह से उमस और तेज धूप, शाम को बारिश के बाद मिली राहत

इसके पहले दोपहर में धूप चुभ रही थी। गुरुवार को दिन में उमस के साथ पारा भी चढ़ा। तापमान सामान्य से अधिक बना रहा। दोपहर बाद आसमान में हल्के बादल आने से उमस और गर्मी से कुछ राहत मिली। हवा के सम्पर्क में आने पर गर्मी कम महसूस हुई। लेकिन अभी जैसा मौसम बना हुआ है उसमें दिन में चिपचिपी गर्मी ने परेशान कर दिया है। घर के अंदर उमस और बाहर चुभने वाली धूप है। हवा की धीमी गति से रात को भी उमस से राहत नहीं है।

 

अधारताल स्थित मौसम विज्ञान केन्द्र के अनुसार बुधवार को अधिकतम तापमान 33.2 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 24.0 डिग्री सेल्सियस था। अधिकतम तापमान में गुरुवार को करीब 0.7 डिग्री की वृद्धि दर्ज की गई। यह बढकऱ 33.9 डिग्री सेल्सियस हो गया। सामान्य से 3 डिग्री सेल्सियस तक ज्यादा बना रहा। न्यूनतम तापमान में बुधवार के मुकाबले करीब 0.8 डिग्री की वृद्धि हुई। यह सामान्य से एक डिग्री ज्यादा बना रहा। आद्र्रता सुबह के समय 80 प्रतिशत और शाम को 72 प्रतिशत थीं। उत्तर-पश्चिम हवा 3 किलोमीटर प्रतिघंटा की गति से चलीं। मौसम विज्ञान केन्द्र के प्रभारी बीजू जॉन जैकब के अनुसार गुरुवार को दिन में बारिश नहीं हुई है। सीजन में अभी तक 981.7 मिमी वर्षा रेकॉर्ड है। उमस और गर्मी बढऩे के साथ स्थानी प्रभाव से हल्की वर्षा की सम्भावना है। शुक्रवार को सम्भाग के जिलों में कुछ स्थानों पर गरज-चमक के साथ हल्की से मध्यम वर्षा का अनुमान है।

पानी भरा : बारिश से मदन महल स्टेशन-कछपुरा ओवर ब्रिज लिंक रोड पर चंडी माता मंदिर के पास नाली के ओवरफ्लो होने से जलभराव हो गया। सूचना पर नगर निगम की टीम मौके पर पहुंची।

बिजली के तार पर पेड़ की डाल गिरी : रामपुर स्थित नगर निगम के जोन कार्यालय के सामने बिजली के तार पर पेड़ की डाल गिर गई। सूचना पर निगम के उद्यान विभाग की टीम मौके पर पहुंची और टूटी हुई डाल को काट कर हटाया।

बरगी बांध के दो गेट बंद, एक से निकासी
बरगी डैम के जलग्रहण क्षेत्र में बारिश थमने के बाद गुरुवार शाम 4.30 बजे बांध के दो गेट बंद कर दिए गए। अब एक गेट से लगभग 12 हजार क्यूसेक पानी की निकासी की जा रही है। चार दिन से डैम का जल स्तर अधिकतम जलभराव स्तर तक बना हुआ है। बांध के कैचमेंट इलाकों मंडला, डिंडोरी, सिवनी में रुक-रुक कर बारिश होने से डैम के कंट्रोल रूम से लगातार नजर रखी जा रही है।

ये है स्थिति
422.76 मीटर है मौजूदा जलस्तर
422.76 मीटर अधिकतम स्तर
02 गेट शाम 4.30 बजे बंद
12219 क्यूसेक पानी की निकासी
17658 क्यूसेक पानी की आवक

Show More
Lalit kostha Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned