scriptBJP MLA Balmukund Acharya travels by Jaipur Metro. pulls ip officials over seeing dirt | एक्शन मोड में बीजेपी विधायक बालमुकुंद आचार्य, मेट्रो में गंदगी देखकर हुए नाराज, अधिकारियों को लगाई लताड़ | Patrika News

एक्शन मोड में बीजेपी विधायक बालमुकुंद आचार्य, मेट्रो में गंदगी देखकर हुए नाराज, अधिकारियों को लगाई लताड़

locationजयपुरPublished: Feb 03, 2024 05:41:09 pm

विधायक बालमुकुंद ने बड़ी चौपड़ से चांदपोल तक मेट्रो की सवारी भी की। मेट्रो के कोच में गंदगी देखकर विधायक भड़क और अधिकारियों को जमकर लताड़ लगाई और तत्काल सफाई करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने मेट्रो में सफर कर रहे यात्रियों से फीडबैक भी लिया।

Balmukund Acharya

Balmukund Acharya Travels By Jaipur Metro : जयपुर की हवामहल सीट से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक बालमुकुंद आचार्य अपनी कार्य शैली से लगातार सुर्खियों में बने हुए हैं। उनके हाल ही में हिजाब को लेकर दिए बयान ने जहां एक नया विवाद खड़ा कर दिया, वहीं शनिवार को सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था को लेकर उन्होंने अधिकारियों की क्लास लगा दी। दरअसल, बालमुकुंद आचार्य आज सुबह बड़ी चौपड़ मेट्रो स्टेशन पहुंचे थे। इस दौरान स्टेशन पर शौचालय नहीं होने के चलते व्यपारियों ने उन्हें घेर लिया।

व्यपारियों का कहना था कि यहां शौचालय नहीं होने से काफी दिक्कतें होती हैं, जिसके बाद विधायक ने मेट्रो के अधिकारियों को बुलाकर वहां शौचालय बनाने के लिए कहा। इसके बाद विधायक बालमुकुंद ने बड़ी चौपड़ से चांदपोल तक मेट्रो की सवारी भी की। मेट्रो के कोच में गंदगी देखकर विधायक भड़क और अधिकारियों को जमकर लताड़ लगाई और तत्काल सफाई करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने मेट्रो में सफर कर रहे यात्रियों से फीडबैक भी लिया।

लो फ्लोर से भी किया सफर
मेट्रो में सफर करने के बाद विधायक ने रामगढ़ मोड तक लो फ्लोर बस से सफर किया। बस में वरिष्ठ यात्रियों की सीटों पर दूसरे यात्रियों को बैठा देख वह नाराज हो गए। इस पर लो फ्लोर अधिकारियों को लताड़ लगाते हुए उन्होंने व्यवस्था को ठीक करने के निर्देश दिए। उल्लेखनीय है कि पिछले साल हवामहल से चुनाव जीतने के बाद एक्शन मोड में नजर आए बालमुकुंद आचार्य अपने विधानसभा क्षेत्र में नॉन-वेज के ठेले देखकर नाराज हो गए थे।

यह भी पढ़ें

स्कूल में हिजाब विवाद पर बोले बालमुकुंदाचार्य... हमारे बच्चे भी लहंगा-चुन्नी पहनकर आएंगेे

उन्होंने तुरंत पुलिस अधिकारियों को फोन कर वहां से नॉन-वेज के ठेलों को हटाने के लिए निर्देश दिए थे। उनका कहना था कि नॉन वेज के इन स्टालों को लगाने वालों के पास वैध लाइसेंस नहीं है। ठेलों को हटाने के लिए अधिकारियों से हुई उनकी बातचीत का वीडियो वायरल हो गया था। इसके बाद कांग्रेस ने उनपर हमला बोलते हुए कहा था कि इस तरह की कारवाई करके नवनियुक्त विधायक लोगों को डराकर उनका रोजगार छीनना चाह रहे हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो