scripteducation minister madan took teacher's test in front of students | VIDEO : शिक्षा मंत्री मदन दिलावर ने स्टूडेंट्स के सामने ले डाली टीचर की 'क्लास', देखें टीचर पास हुई कि फेल? | Patrika News

VIDEO : शिक्षा मंत्री मदन दिलावर ने स्टूडेंट्स के सामने ले डाली टीचर की 'क्लास', देखें टीचर पास हुई कि फेल?

locationजयपुरPublished: Feb 01, 2024 09:52:00 am

Submitted by:

Nakul Devarshi

Rajasthan News : शिक्षा मंत्री मदन दिलावर एक सरकार स्कूल में औचक निरिक्षण करने पहुंचे। यहां व्यवस्थाओं का जायज़ा लेने के बीच उन्होंने स्कूल टीचर्स का हाथों-हाथ टेस्ट भी ले लिया।

education minister madan took teacher's test in front of students

राजस्थान की भजन लाल सरकार के शिक्षा मंत्री मदन दिलावर का 'एक्शन मोड' इन दिनों चर्चा में हैं। राजधानी जयपुर में शिक्षण व्यवस्थाओं की 'ग्राउंड रिपोर्ट' जानने के लिए शिक्षा मंत्री बुधवार को दौरे पर निकले। इस दौरान वे चाकसू के एक सरकार स्कूल में औचक निरिक्षण करने पहुंचे। यहां व्यवस्थाओं का जायज़ा लेने के बीच उन्होंने स्कूल टीचर्स का हाथों-हाथ टेस्ट भी ले लिया।

शिक्षा मंत्री ने एक क्लास में पढ़ा रही टीचर को बोर्ड पर "सौंदर्य" और "ब्रम्हचारिणी" शब्द लिखने को कहे। लेकिन टीचर इन शब्दों को सही से लिख नहीं सकीं। इसपर शिक्षा मंत्री हंसकर निरिक्षण में आगे को निकल गए।

शिक्षा मंत्री ने यहां टीचर के अलावा स्टूडेंट्स से भी सौंदर्य, आशीर्वाद और ब्रह्मचारिणी जैसे शब्द बोर्ड पर लिखवाकर उनके शब्द और भाषा ज्ञान को परखा। वहीं बच्चों से संस्कृत के श्लोक और उनके अर्थ पूछकर उनके अध्ययन स्तर की जांच की।

दिए विशेष दिशा-निर्देश
शिक्षा मंत्री मदन दिलावर ने जयपुर में सांगानेर, चाकसू और शिवदासपुरा क्षेत्रों में सरकारी विद्यालयों का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने विद्यालयों में अध्यापकों की मौके पर उपस्थिति की जांच की और स्कूल परिसर में स्वच्छता और शौचालयों की साफ-सफाई के बारे में विशेष निर्देश प्रदान किए।

उन्होंने विद्यालयों के निरीक्षण के दौरान मौके पर मौजूद शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी विद्यालयों में कोई भी शिक्षक स्वेच्छा से बिना सक्षम स्वीकृति के अवकाश पर नहीं रहे। इस व्यवस्था को विद्यालयों में लागू करने के लिए आदेश जारी किया जाए। उन्होंने कहा कि सभी शिक्षक शाला दर्पण पोर्टल पर केवल आवेदन करके अवकाश पर नहीं रहे, सभी संस्था प्रधान अवकाश के प्रकरणों में ऑनलाइन स्वीकृति जारी करे, उसके बाद ही कोई शिक्षक अवकाश पर जाए, यह व्यवस्था सभी स्कूलों में सुनिश्चित की जाए।

दिलावर ने इस दौरान अधिकारियों को विद्यालयों में लगे एक्सेस टीचर्स की सूचना भी प्रस्तुत करने के निर्देश दिए, जो स्वीकृत पदों के अतिरिक्त कार्य कर रहे हैं। इसके अलावा कलक्टर, एसडीएम या सीईओ कार्यालयों में प्रतिनियुक्ति पर लगे शिक्षकों को कार्य मुक्त कराने के भी निर्देश दिए।

ट्रेंडिंग वीडियो