Mutual Funds: फंड इंडस्ट्री का पहला फीचर बूस्टर एसटीपी लॉन्च

अगर आप म्यूचुअल फंड ( Mutual Funds ) की एसटीपी यानी सिस्टेमैटिक ट्रांसफर प्लान ( Systematic Transfer Plan ) में निवेश करते हैं तो इसके लिए आपको बूस्टर एसटीपी के बारे में भी सोचना चाहिए। रिटर्न के आंकड़े बताते हैं कि यह स्कीम आपके निवेश पर रिटर्न को बूस्ट करने में मदद करती है। देश के बड़े फंड हाउसों में से एक आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल म्यूचुअल फंड ( ICICI Prudential Mutual Fund ) ने बूस्टर एसटीपी ( stp ) लॉन्च किया है।

By: Narendra Kumar Solanki

Published: 07 Aug 2021, 09:38 AM IST

मुंबई। अगर आप म्यूचुअल फंड की एसटीपी यानी सिस्टेमैटिक ट्रांसफर प्लान में निवेश करते हैं तो इसके लिए आपको बूस्टर एसटीपी के बारे में भी सोचना चाहिए। रिटर्न के आंकड़े बताते हैं कि यह स्कीम आपके निवेश पर रिटर्न को बूस्ट करने में मदद करती है। देश के बड़े फंड हाउसों में से एक आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल म्यूचुअल फंड ने बूस्टर एसटीपी लॉन्च किया है। इसके अगर रिटर्न को हम देखें तो पता चलता है कि किसी ने जनवरी 2019 में अगर बूस्टर एसटीपी में 12 लाख रुपए का निवेश किया होगा, तो यह 21 जुलाई 2021 को 21,41,997 रुपए हो गया है। यानी सालाना रिटर्न का औसत (सीएजीआर) दर 25.1 फीसदी रहा है। यही निवेश अगर लांग ड्यूरेशन के साथ नॉर्मल एसटीपी में देखें तो उसमें इसका वैल्यू 17,16,488 रुपए हुआ है। यानी 14.19 फीसदी का रिटर्न रहा है, जबकि कम समय के लिए नॉर्मल एसटीपी में 12 लाख रुपए के निवेश का वैल्यू 17,22,978 रुपए हुआ है। यानी इसमें 15 फीसदी सीएजीआर की दर से रिटर्न रहा है।
इंडस्ट्री का यह पहला फीचर लॉन्च
म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री का यह पहला फीचर लॉन्च किया गया है। यह एक ऐसा फीचर है, जो सिस्टेमैटिक ट्रांसफर प्लान को ही बढ़ाता है। इसमें फंड का यूनिट होल्डर बाजार के वैल्यूएशन के आधार पर किसी एक स्कीम से दूसरी स्कीम में अपने पैसे को एक समय के बाद ट्रांसफर कर सकता है। यूनिट होल्डर को इसके लिए उस बेस इंस्टॉलमेंट की रकम को देने की जरूरत होगी, जिसे वह दूसरी स्कीम में ट्रांसफर करना चाहता है।
छोटा सा अमाउंट भी कर सकते है निवेश
आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल की बूस्टर एसटीपी स्कीम के जरिए महंगे बाजार में एक छोटा सा अमाउंट भी निवेश किया जा सकता है। इसके विपरीत, जब बाजार का मूल्यांकन सस्ता हो तब निवेश को बढ़ा देना चाहिए। उदाहरण के लिए, अगर बेस इंस्टॉलमेंट की रकम एक लाख रुपए है तो इसे एक गुना से लेकर 5 गुना तक के बीच में निवेश करना चाहिए। मतलब 10 हजार रुपए से 5 लाख रुपए का निवेश करना चाहिए। यह बाजार के मूल्यांकन आधार पर होना चाहिए। 1 से 5 गुना का वैल्यूएशन इसलिए तय किया गया है, क्योंकि इसे इक्विटी वैल्यूएशन इंडेक्स के आधार पर टेस्ट किया गया है।
रुपए की लागत के एवरेज का फायदा
आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल म्यूचुअल फंड के प्रोडक्ट डवलपमेंट के प्रमुख चिंतन हरिया कहते हैं कि बूस्टर एसटीपी रुपए की लागत के एवरेज का फायदा देती है। वे कहते हैं कि निवेशक बाजार के उतार-चढ़ाव के दौरान एक सही उद्देश्य को तय कर सकता है। परिणाम स्वरूप यह फीचर उन निवेशकों के लिए अच्छा है जो एकमुश्त पैसा निवेश करना चाहते हैं और लंबे समय में इसका लाभ उठाना चाहते हैं। आंकड़े बताते हैं कि निफ्टी 50 इंडेक्स में बूस्टर एसटीपी का रिटर्न 11.7 फीसदी रहा है, जबकि सामान्य एसटीपी का रिटर्न 9.6 फीसदी रहा है। निफ्टी 500 के इंडेक्स में देखें तो यह रिटर्न 12.3 फीसदी और 9.9 फीसदी का रहा है। निफ्टी स्माल कैप में बूस्टर एसटीपी का रिटर्न 12.5 और सामान्य एसटीपी का रिटर्न 9.8 फीसदी रहा है।

Narendra Kumar Solanki Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned