scriptIndian Railway: Railways adopting innovations | Indian Railway: नवाचारों को अपना रहा रेलवे, अब ना आएगी जलभराव की स्थिति और ना ही फाटकों पर होंगे हादसे | Patrika News

Indian Railway: नवाचारों को अपना रहा रेलवे, अब ना आएगी जलभराव की स्थिति और ना ही फाटकों पर होंगे हादसे

रेलवे लगातार तकनीकों में नवाचार कर रहा है, ताकि ट्रेनों का संचालन प्रभावित ना हो। साथ ही यात्री समय पर अपने गंतव्य तक पहुंच सके। इस बार बारिश में स्टेशनों पर जलभराव की स्थिति देखने को मिली।

जयपुर

Published: September 12, 2022 01:56:50 pm

जयपुर। रेलवे लगातार तकनीकों में नवाचार कर रहा है, ताकि ट्रेनों का संचालन प्रभावित ना हो। साथ ही यात्री समय पर अपने गंतव्य तक पहुंच सके। इस बार बारिश में स्टेशनों पर जलभराव की स्थिति देखने को मिली। ऐसे में स्टेशनों के वार्ड में जलभराव के कारण ट्रेनों का संचालन प्रभावित हुआ। ट्रेनों के संचालन में आने वाले अवरोध को दूर करने के लिए अजमेर मंडल के दो स्टेशन आदर्श नगर और ब्यावर पर मल्टी सेक्शन डिजिटल एक्सल काउंटर यानी एमएसडीएसी का काम पूरा कर लिया गया है। साथ ही अजमेर, बीकानेर एवं जयपुर मंडल के कुल 13 स्टेशनों पर यह कार्य प्रगति पर है। सड़क उपयोगकर्ताओं की सुरक्षा और ट्रेन संचालन की सुगमता को बढ़ाने के लिए मंडलों में 47 में से 18 समपार फाटकों को इंटरलॉक किया गया है तथा अन्य पर कार्य प्रगति पर है।
 अब ना आएगी जलभराव की स्थिति और ना ही फाटकों पर हादसे
अब ना आएगी जलभराव की स्थिति और ना ही फाटकों पर हादसे
यह भी पढ़ेः Indian Railway: ट्रेन में सफर के लिए निकल रहे हैं तो जान लें कौन-कौनसी ट्रेन में हुआ परिवर्तन...

इसके साथ ही एसएण्डडी विभाग की ओर से आगामी वर्ष के दौरान सड़क उपयोगकर्ताओं और ट्रेन संचालन की सुरक्षा बढ़ाने के लिए मानवयुक्त समपार फाटकों को इंटरलॉक किया जाएगा। साथ ही अधिक सेक्शन क्षमता प्राप्त करने की दिशा में स्वचालित सिग्नलिंग के कार्य किए जाने और ट्रेन परिचालन में सुरक्षा बढ़ाने के लिए कवच का कार्य 1586 किलोमीटर में किए जाने के लक्ष्य रेलवे की ओर से निर्धारित किए गए हैं।
मैकेनिकल स्टेशनों को बदला जाएगा आधुनिक सिगनलिंग स्टेशनों में

उत्तर पश्चिम रेलवे के सीपीआरओ कैप्टन शशिकिरण ने बताया कि जोधपुर मंडल के 4 में से 2 पुराने मैकेनिकल स्टेशनों को आधुनिक सिगनलिंग स्टेशनों यानी ईआई में परिवर्तित किया गया है। जिससे स्टेशन यार्ड में दोनों दिशाओं से ट्रेनों के एक साथ आगमन एवं प्रस्थान की सुविधा होगी। साथ ही कम्प्यूटर की सहायता से स्टेशन मास्टर गाड़ी का संचालन कर सकेगा। इसी तरह बीकानेर मंडल में शेष मैकेनिकल स्टेशनों को आधुनिक सिग्नलिंग स्टेशनों में परिवर्तित करने का कार्य किया जा रहा है। इस तरह बीकानेर मंडल का कार्य पूरा होते ही सम्पूर्ण उत्तर पश्चिम रेलवे मैकेनिकल सिगनलिंग से मुक्त हो जाएगा।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

Swachh Survekshan 2022: लगातार छठी बार देश का सबसे साफ शहर बना इंदौर, सूरत दूसरे तो मुंबई तीसरे स्थान परअब 2.5 रुपये/किलोमीटर से ज्यादा दीजिए सिर्फ रोड का टोल! नए रेट लागूकांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए KN त्रिपाठी का नामांकन पत्र रद्द, मल्लिकार्जुन खड़गे और शशि थरूर में मुकाबला41 साल के शख्स को 142 साल की जेल, केरल की अदालत ने इस अपराध में सुनाई यह सजाBihar News: बिहार में और सख्त होगी शराबबंदी, पहली बार शराब पीते पकड़े गए तो घर पर चस्पा होंगे पोस्टर, दूसरी और तीसरी बार में मिलेगी ये सजास्वच्छता अभियान 2022 शुरू, 100 लाख किलो प्लास्टिक जमा करने का लक्ष्यसैनिटरी पैड के लिए IAS से भिड़ने वाली बिहार की लड़की को मुफ्त मिलेगा पैड, पढ़ाई का खर्च भी शून्यएयरपोर्ट पर 'राम' को देख भावुक हो गई बुजुर्ग महिला, छूने लगी अरुण गोविल के पैर, आस्था देख छलके आंसू
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.