बसपा के राष्ट्रीय कॉडिनेटर पर हमले पर भड़की सुप्रीमो, कहा घिनौनी हरकतों से बाज आए कांग्रेस

बसपा के राष्ट्रीय कॉर्डिनेटर और प्रदेश प्रभारी के मुंह पर कालिख पोतने का मामला, बसपा प्रमुख मायावती ने लगाए कांग्रेस पर आरोप

पुनीत शर्मा / जयपुर। Rajasthan में दूसरी बार बसपा विधायक ( BSP MLA ) दल का कांग्रेस ( Congress ) में विलय होने के बाद पार्टी में बवाल खड़ा हो गया है। राजधानी जयपुर में मंगलवार सुबह पार्टी कार्यालय के सामने ही ऐसा नजारा देखने को मिला। कई नाराज कार्यकर्ता कार्यालय के बाहर पहुंचे और पार्टी के राष्ट्रीय कॉर्डिनेटर रामजी गौतम और प्रदेश प्रभारी सीताराम का मुंह काला कर दिया और जूतों की माला पहनाकर गधों पर बैठाकर घुमाया। इस घटना की गूंज बसपा अध्यक्ष मायावती ( Mayawati ) तक भी पहुंची और उन्होंने ट्वीट कर प्रदेश कांग्रेस पर आरोप जड़ दिए और कहा कि कांग्रेस अम्बेडकरवादी मूवमेंट के खिलाफ चल रही है। कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ लोगों पर हमला करवा रही है।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि राजस्थान में कांग्रेस पार्टी ने पहले बीएसपी विधायकों को तोड़ा और अब मूवमेंट को आघात पहुंचाने के लिए वहां वरिष्ठ लोगों पर हमला करवा रही है, जो अति निंदनीय व शर्मनाक है। कांग्रेस अम्बेडकरवादी मूमेंट के खिलाफ गलत परंपरा डाल रही है। जिसका जैसे को तैसा जवाब लोग दे सकते हैं। कांग्रेस पार्टी को ऐसी घिनौनी हरकतों से बाज आना चाहिए।

यूं हुआ घटनाक्रम
मंगलवार सुबह राष्ट्रीय कॉर्डिनेटर रामजी गौतम और प्रदेश प्रभारी सीताराम मेघवाल कार्यालय पहुंचे। दोनों नेता कार्यालय में प्रवेश करते इससे पहले ही वहां मौजूदा कार्यकर्ता नारेबाजी करने लगे। नाराज कार्यकर्ताओं ने रामजी गौतम और सीताराम मेघवाल का मुंह काला कर दिया और गधों पर बैठाकर घुमाया। कार्यकर्ता इन दोनों के खिलाफ जमकर नारे भी लगा रहे थे। कार्यकर्ता लगातार दोनों पदाधिकारियों पर आरोप लगा रहे थे कि पार्टी में टिकट बेचे जाते हैं। हांलाकि इस घटना के बाद रामजी गौतम और सीताराम मेघवाल चुप्पी साध गए और घटना के बारे में कुछ भी बताने से इंकार कर दिया।

पनप रहा था आक्रोश

कांग्रेस सरकार के पिछले कार्यकाल में भी बसपा के सभी विधायक कांग्रेस में शामिल हो गए थे। वहीं इस बार भी कुछ दिनों पहले पार्टी के राजेन्द्र गुढ़ा, वाजिब अली, जोगिंदर सिंह अवाना, संदीप यादव, दीपचंद खेरिया और लाखन सिंह ने बसपा विधायक दल का विलय कांग्रेस में कर लिया। तभी से बसपा के कार्यकर्ताओं में अंदरूनी आक्रोश पनप रहा था। इससे पहले भी कार्यकर्ताओं में मारपीट हो चुकी है।

Show More
pushpendra shekhawat
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned