राजस्थान के इतिहास में पहली बार 80 पार पहुंचा पेट्रोल

Petrol Diesel Price Hike In Jaipur: पहली बार 80 पार पहुंचा पेट्रोल, डीज़ल दर में भी वृद्धि जारी

By: nakul

Published: 24 May 2018, 12:20 PM IST

जयपुर।

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि हो रही है। इनकी कीमतों में पिछले एक हफ्ते से भी ज़्यादा समय से लगातार इज़ाफ़ा हो रहा है। राजस्थान भी इनके बढ़ते दामों से अछूता नहीं है। प्रदेश में पेट्रोल के दाम प्रति लीटर 80 रूपए के हो गए हैं। राजधानी जयपुर में पेट्रोल 80 रूपए 24 पैसे की के मौजूदा दर से मिल रहा है। जबकि डीज़ल की कीमत 72 रूपए 98 पैसे हो।

 

लगातार 11वें दिन महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल
पेट्रोल तथा डीजल की कीमत में बढ़ोतरी का सिलसिला 11वें दिन भी जारी रहा। मुंबई में पेट्रोल का दाम 30 पैसे प्रति लीटर की बढ़तोरी के साथ 85 रुपये प्रति लीटर तक पहुंच गए हैं जबकि डीजल 73 रुपये प्रति लीटर पहुंच गया। पिछले 11 दिनों में पेट्रोल तथा डीजल की कीमतों में ढाई रुपये प्रति लीटर से अधिक की बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

 

पेट्रोलियम पदार्थों की कीमत में हो रही बढ़ोतरी को लेकर विपक्ष मोदी सरकार पर निशाना साध रहा है और चुनावी वर्ष में यह भारतीय जनता पार्टी के लिए चिंता का कारण बन सकता है। मोदी सरकार 26 मई को चार वर्ष का कार्यकाल पूरा करने जा रही है और उसके लिए सबसे बड़ी चिंता की वजह पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतों में हो रही बढ़ोतरी है।

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार 26 मई 2014 को केंद्र में बनी थी। तब से लेकर अब तक डीजल के दाम में 18 प्रतिशत से अधिक की बढ़ोतरी हो चुकी है जबकि पेट्रोल की कीमत में आठ प्रतिशत का इजाफा हुआ है।

 

राजस्थान के कई ज़िलों में लोग परेशान
पेट्रोल-डीज़ल के दामों में लगातार हो रही बढ़ोतरी से राजस्थान के कई ज़िलों में लोगों की नाराज़गी बढ़ने लगी है। अलवर, गंगानगर, जयपुर, चूरू, बांसवाड़ा, हनुमानगढ़, बीकानेर , डूंगरपुर में पेट्रोल 80 के पार पहुंच गया है। अलवर में अन्य जिलों से महंगे पेट्रोल-डीजल का कारण मालभाड़ा व एनसीआर सेस है।

 

दरअसल, अलवर जिला एनसीआर में आता है, जिसके चलते पेट्रोल-डीजल पर लगभग 17 से 20 पैसे प्रति लीटर एनसीआर सेस (टैक्स) भी लगता है। इससे अन्य जिलों की तुलना में अलवर में पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ जाती हैं। अलवर में पेट्रोल-डीजल की आपूर्ति भरतपुर व जयपुर से होती है। जितनी दूरी भरतपुर से अलवर की है, लगभग उतनी ही दूरी भरतपुर से धौलपुर की है। इसके बावजूद अलवर में एनसीआर सेस लगने से यहां पेट्रोल-डीजल धौलपुर से महंगा है।

 

दूरी बढऩे से बढ़ रही दरें
राजस्थान की बात करें तो प्रदेश में पेट्रोल-डीजल के चार डिपो हैं। जो भरतपुर, चित्तौडग़ढ़, जयपुर व जोधपुर में स्थित हैं। इन डिपो से जिन जिलों की दूरी कम है, वहां पेट्रोल-डीजल अपेक्षाकृत सस्ता है। दूरी बढऩे के साथ-साथ मालभाड़ा बढऩे से इसकी कीमतें भी बढ़ जाती हैं। अलवर में पेट्रोल-डीजल की आपूर्ति ज्यादातर भरतपुर के धौरमई स्थित ऑयल डिपो से होती है। भरतपुर से अलवर की दूरी लगभग 110 किलोमीटर है। इससे मालभाड़ा लगने से भरतपुर व अलवर की पेट्रोल-डीजल की दरों में ही लगभग एक रुपए प्रति लीटर का अन्तर आ जाता है।


अलवर जिले में पेट्रोल-डीजल के समीपवर्ती जिलों से महंगा होने का कारण एनसीआर टैक्स है। इसे मालभाड़े में शामिल कर पेट्रोल-डीजल की दरें तय की जाती हैं।
हर्षवर्धन सिंह खैरिया, अध्यक्ष अलवर पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन।

Show More
nakul Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned