scriptRajasthan BJP government Stalled Another Congress government Big Scheme disappointed Students in crisis | कांग्रेस सरकार की एक और बड़ी योजना को भाजपा सरकार ने अटकाया, पढ़ाई पर आया संकट छात्र हुए मायूस | Patrika News

कांग्रेस सरकार की एक और बड़ी योजना को भाजपा सरकार ने अटकाया, पढ़ाई पर आया संकट छात्र हुए मायूस

locationजयपुरPublished: Jan 27, 2024 02:28:36 pm

राजस्थान में कांग्रेस सरकार की एक और योजना पर भाजपा सरकार ने रोड़ा अटका दिया है। जिस वजह से ढेर सारे छात्र-छात्राओं की पढ़ाई पर संकट आ गया है। इस संकट से छात्र-छात्राओं के चेहरे उतर गए हैं।

bhajan_lal_sharma_cm.jpg
Bhajan Lal Sharma
विजय शर्मा, राजस्थान में कांग्रेस सरकार की एक और योजना पर भाजपा सरकार ने रोड़ा अटका दिया है। जिस वजह से ढेर सारे छात्र-छात्राओं की पढ़ाई पर संकट आ गया है। इस संकट से छात्र-छात्राओं के चेहरे उतर गए हैं।
विदेश के 150 नामी संस्थानों में उच्च शिक्षा दिलाने वाली कांग्रेस सरकार की योजना को भाजपा सरकार ने फिलहाल अटका दी है। उच्च शिक्षा विभाग ने राजीव गांधी स्कॉलरशिप फॉर एकेडमिक एक्सीलेंस योजना के तहत 500 सीटों पर आवेदन तो ले लिए लेकिन सभी सीटों पर चयन नहीं किया है। विभाग ने 346 सीटों पर छात्रों का चयन कर सूची जारी कर चुका है लेकिन 15 दिसम्बर तक आ जाने वाली तीसरी सूची को आज तक जारी नहीं किया गया। इसका खमियाजा सैकड़ों छात्रों को उठाना पड़ रहा है।
आलम यह है कि छात्रों ने योजना का लाभ देखकर प्रवेश तो ले लिया है लेकिन स्कॉलरशिप लेटर नहीं मिलने के कारण उनकी पढ़ाई पर संकट आ गया है। छात्रों को विभाग के अफसर नसीहत दे रहे हैं कि वे प्लान बी तैयार रखें। छात्रों का कहना है कि 30 जनवरी तक स्कॉलरशिप लेटर नहीं मिला तो यूनिवर्सिटी प्रवेश निरस्त कर देगी।

जिम्मेदार मौन, सचिव भवानी सिंह देथा ने नहीं की बात

इस मामले में विभाग के सचिव भवानी सिंह देथा ने व्यस्त होने हवाला देकर बात करने से इनकार कर दिया। कॉलेज आयुक्त पुखराज सेन ने बात ही नहीं की। वहीं, संयुक्त निदेशक सीमा कश्यप ने बताया कि हमारी बच्चों से बात हो गई है, जैसे ही उच्च अधिकारियों से निर्देश मिलेंगे काम शुरू हो जाएगा।

यह भी पढ़ें

RLP सुप्रीमो हनुमान बेनीवाल को मिली बड़ी धमकी, कमांडों तैनात, समर्थक चिंतित



जो छात्र विदेश गए, उनका भी अटक रहा बजट

योजना के तहत 346 छात्रों का चयन किया गया हैए उनमें से अधिकतर विदेश जा चुके हैं। जो छात्र विदेश जा चुके हैं, उनकी स्कॉलरशिप समय पर नहीं पहुंच पा रही है। सरकार ने 10 करोड़ का बजट स्वीकृत किया है। लेकिन यह राशि बहुत कम है। सवाल यह है कि सरकार शेष छात्रों की स्कॉलरशिप के लिए बजट का इंतजाम कैसे करेगी।

यह भी पढ़ें

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सीपी जोशी का नया खुलासा, बोले - हमारे संपर्क में हैं कांग्रेस के कई नेता

ट्रेंडिंग वीडियो