scriptSuspense continues: Consultation with Gehlot completed | सस्पेंस बरकरार: CM गहलोत से मंत्रणा पूरी, अब आज आलाकमान को रिपोर्ट देंगे डी के शिवकुमार | Patrika News

सस्पेंस बरकरार: CM गहलोत से मंत्रणा पूरी, अब आज आलाकमान को रिपोर्ट देंगे डी के शिवकुमार

र्नाटक के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डीके शिवकुमार की मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से सियासी मुलाकात कई अहम सवाल छोड़ गई है।

जयपुर

Updated: August 04, 2021 09:43:02 am

जयपुर। कर्नाटक के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डीके शिवकुमार की मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से सियासी मुलाकात कई अहम सवाल छोड़ गई है। राजनीतिक गलियारों में राजनेता इसके अलग अलग मायने निकाल रहे है, लेकिन ये तय है कि शिवकुमार की यह यात्रा सिर्फ निजी यात्रा ही नहीं थी वे इस मुलाकात को लेकर जो भी बातचीत हुई है उसकी रिपोर्ट वे आज कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को सौंपेंगे। इसके बाद राजस्थान की राजनीति को लेकर फैसले हो सकते है। ये भी तय है कि जो भी फैसले होंगे उसमें सीएम गहलोत की बड़ी भूमिका रहेगी। कांग्रेस हाईकमान गहलोत के फार्मूले को ज्यादा वरीयता देगा। गहलोत कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के सर्वाधिक विश्वासपात्र नेताओं में हैं और जी 23 जैसे गुट की हवा गहलोत ने ही निकाली थी।

ashok_gehlot.jpg
सहमति का फार्मूला — पार्टी सूत्रों के अनुसार कांग्रेस आलाकमान सहमति का फार्मूला बनाना चाहता है और इसी को लेकर एक के बाद एक नेता दिल्ली से जयपुर आ रहे है। पहले वेणुगोपाल और अजय माकन आए थे। दोनों नेताओं ने दो बार सीएम गहलोत से मुलाकात कर सहमति बनाने की कोशिशें की थी। इसके बाद माकन फिर आए और तीन दिन तक विधायकों और अन्य नेताओं से मिले। सीएम गहलोत से मिलकर उनसे चर्चा की। रविवार की रात को हरियाणा की पीसीसी अध्यक्ष कुमारी शैलजा जयपुर आई और अब कल डी के शिव कुमार आए और गहलोत से मंथन किया। गांधी परिवार के नजदीक माने जाने वाले शिव कुमार की गहलोत से पुरानी दोस्ती है और कर्नाटक विधानसभा चुनाव के बाद सीएम गहलोत कर्नाटक गए थे और वहां पर कांग्रेस और जनता दल देवगौडा के साथ मिलकर गठबंधन सरकार बनवाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। सूत्रों के अनुसार गहलोत बड़ी संख्या में मंत्रियों को हटाने के पक्ष में नहीं लग रहे। वे बचे हुए स्थानों को भरने के पक्ष में है। यानि वे विस्तार चाहते हैै। वहीं सूत्रों का कहना है कि प्रदेश प्रभारी अजय माकन बड़े फेरबदल की पैरवी कर रहे हैं ताकि नए सिरे से मंत्री बनाए जा सके और उन्हें विभाग दिए जा सके। अजय माकन तो मीडिया के सामने भी कह चुके है कि पुनर्गठन किया जाएगा। इससे पहले रविवार को हरियाणा प्रदेश कांग्रेस की अध्यक्ष कुमारी शैलजा ने मख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात की थी। वे रात को जयपुर आई थी और मुलाकात के बाद सोमवार सुबह दिल्ली लौट गई थी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.