scriptझांकी रही आकर्षण का केंद्र, दिन भर चले धार्मिक अनुष्ठान | Patrika News
जैसलमेर

झांकी रही आकर्षण का केंद्र, दिन भर चले धार्मिक अनुष्ठान

नाचना गांव में स्थित शनिदेव मंदिर का दसवां पाटोत्सव शनिवार को धूमधाम के साथ संपन्न हुआ। गौरतलब है कि 60 वर्ष पूर्व भीखचंद भार्गव ने जिप्सम के पत्थरों से मंदिर का निर्माण करवाया था। मुख्य बाजार में स्थित शनिदेव मंदिर का 50 वर्ष बाद जैसलमेर के पीले पत्थरों से 11 जून 2015 को नाचना के समाजसेवी शिवनारायण चांडक ने जीर्णोद्वार करवाया।

जैसलमेरJun 22, 2024 / 07:43 pm

Deepak Vyas

nachan
नाचना गांव में स्थित शनिदेव मंदिर का दसवां पाटोत्सव शनिवार को धूमधाम के साथ संपन्न हुआ। गौरतलब है कि 60 वर्ष पूर्व भीखचंद भार्गव ने जिप्सम के पत्थरों से मंदिर का निर्माण करवाया था। मुख्य बाजार में स्थित शनिदेव मंदिर का 50 वर्ष बाद जैसलमेर के पीले पत्थरों से 11 जून 2015 को नाचना के समाजसेवी शिवनारायण चांडक ने जीर्णोद्वार करवाया। शनिदेव मंदिर का प्रतिवर्ष पाटोत्सव का आयोजन जन सहयोग से होता है। शनिवार सुबह 8 बजे शनिदेव भगवान की पूजा-अर्चना के बाद मनमोहक झांकियो के साथ मंदिर परिसर से शोभायात्रा निकाली गई। शोभा यात्रा में शनि देव भगवान की झांकी आकर्षण का केंद्र रही। शोभा यात्रा शनि देव मंदिर से माहेश्वरी मोहल्ले, सोनीपाड़ा, राजपूत मोहल्ला मुख्य बाजार किला चौक से होते हुए पुन: शनिदेव मंदिर पहुंची। शोभा यात्रा में भगवान महादेव, राम, लक्ष्मण, शनिदेव भगवान आदि झांकियां सजाई। गई बड़ी संख्या में महिला सिर पर कलश धारण किए हुए डीजे की धुन के साथ भजन कीर्तन करते हुए चल रही थी। शोभा यात्रा के दौरान ग्रामीणों ने जगह-जगह पुष्प वर्षा से स्वागत किया अशोक टावरी, मुकेश सोनी व राजू चांडक ने शोभा यात्रा में भाग लेने वाले कार्यकर्ताओं को शरबत वह ठंडा पानी पिलाकर पुणे का काम किया। अशोक का यात्रा का स्वागत किया गया। शोभा यात्रा के दौरान समाजसेवी भंवरसिंह अवाय की तरफ से भगवान शनिदेव का 21 किलो का प्रसाद बनाया गया मुकेश सोनी, अशोक टावरी, राजू चांडक आदि ने शरबत पानी की व्यवस्था कर पुण्य का काम किया।

बही भजनों की सरिता

शनिदेव मंदिर परिसर में रात्रि जागरण में मंदिर सहित आसपास का क्षेत्र वैदिक मंत्रों से गूंज उठा। बाड़मेर के प्रसिद्ध कलाकारों की ओर से भजनों की एक से बढक़र एक प्रस्तुतियां दी। शनिदेव मंदिर ट्रस्ट नाचना के अध्यक्ष दामोदर भार्गव सहित सदस्य पुरुषोत्तमदास, मूलाराम, खेतीदास, हीरालाल, भंवरलाल, तुलसीदास, पूरण प्रकाश, गोविंद, अशोक, मुकेश, भवानी, विवेक की देखरेख में कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

Hindi News/ Jaisalmer / झांकी रही आकर्षण का केंद्र, दिन भर चले धार्मिक अनुष्ठान

ट्रेंडिंग वीडियो