कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में चयन करवाने का झांसा देकर 38 हजार ठगे

- कोचिंग संचालक व दो अन्य के खिलाफ एफआइआर दर्ज
- गारंटीड चयन के मांगे थे साठ हजार, कोचिंग शुरू न होने पर उलाहना दिया तो फर्जी अभ्यर्थी बिठाने के मांगे 5 लाख

By: Vikas Choudhary

Published: 18 Dec 2020, 01:13 AM IST

जोधपुर.
बाड़मेर जिले के गडरा रोड तहसील से कांस्टेबल भर्ती परीक्षा की कोचिंग के लिए जोधपुर आए एक अभ्यर्थी से परीक्षा में शर्तिया चयन के नाम पर ३८ हजार रुपए एेंठ लिए गए थे। कोचिंग शुरू न होने पर उसने आपत्ति जताई तो कोचिंग सेंटर संचालक ने फर्जी अभ्यर्थी बिठाने के लिए पांच लाख रुपए की मांग की। ठगी के रुपए वापस न मिलने पर पीडि़त ने महामंदिर थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया।

पुलिस के अनुसार बाड़मेर में गडरा रोड तहसील के ताणुमानजी निवासी विक्रमसिंह (20) पुत्र मुल्तानसिंह ने कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में आवेदन किया था। परीक्षा की तैयारियों के लिए कोचिंग करने वह जोधपुर आया था। किसी से पूछते-पूछते वह जालोरी गेट स्थित मीरां कोचिंग पहुंचा था। 20 सितम्बर को कोचिंग संचालक भंवरलाल पुत्र पूनमाराम बिश्नोई ने कांस्टेबल के गारंटीड बैच के लिए 60 हजार रुपए मांगे थे। जबकि परीक्षा में सिर्फ एक माह ही बचा था। सेंटर संचालक ने प्रतिदिन के आठ पीरियड लेकर कोर्स पूर्ण करवाने का झांसा दिया था। छात्र ने फीस कम करने का आग्रह किया, लेकिन संचालक नहीं माना।
तब पीडि़त अभ्यर्थी ने परिचित से 38 हजार रुपए की व्यवस्था की। इसमें 33750 रुपए सेंटर संचालक के खाते में जमा कराए थे और 4250 रुपए नगद दिए थे। संचालक ने बैच में बीस विद्यार्थी होने का झांसा दिया था। जबकि वहां सिर्फ ४ विद्यार्थी ही थे। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की।

एक भी क्लास नहीं ली, मूल पेपर लाकर देने का झांसा
गारंटीड बैच के साठ हजार रुपए में से 38 हजार रुपए लेने के बावजूद कोचिंग सेंटर संचालक ने कोचिंग की एक भी कक्षा नहीं ली। छात्र ने पढ़ाने का आग्रह किया तो संचालक ने कहा कि वह परीक्षा का मूल पेपर लाकर दे देगा। यदि फिर भी उसे संदेह है तो किसी अन्य विद्यार्थी को बिठा देगा। इसके लिए पांच लाख रुपए मांगे। 2.5 लाख रुपए परीक्षा से पहले और शेष राशि चयन होने पर देने थे। संचालक ने कहा कि उसकी पुलिस के उच्चाधिकारियों व परीक्षा लेने वाली कम्पनी में जान-पहचान है। इसलिए वह उसका चयन करवा देगा। आरोप है कि संचालक के साथ सांवरलाल व रमेश भी शामिल थे।

Vikas Choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned