बीमार कुरजां में से एक की उपचार के दौरान मौत, 2 रेस्क्यू सेंटर में भर्ती

फलोदी. प्रतिवर्ष शीतकालीन प्रवास पर खीचन आने वाले मेहमान पक्षियों की अज्ञात कारणों से एक साथ 37 कुरजां की मौत का मामला सामने आने के बाद रविवार सुबह एक बीमार कुरजां ने दम तोड़ दिया।

फलोदी. प्रतिवर्ष शीतकालीन प्रवास पर खीचन आने वाले मेहमान पक्षियों की अज्ञात कारणों से एक साथ 37 कुरजां की मौत का मामला सामने आने के बाद रविवार सुबह एक बीमार कुरजां ने दम तोड़ दिया। दरअसल मृत पक्षियों के साथ ही ३ बीमार कुरजां को रेस्क्यू सेंटर में उपचार के लिए भर्ती करवाया था। जिनमें से एक कुरजां की उपचार के दौरान मौत हो गई।

अब दो का जारी है उपचार-

गुरुवार सुबह खीचन में कुरजां के पड़ाव स्थलों पर अलग-अलग जगहों से ३७ कुरजां शव बरामद किए थे। इन मृत पक्षियों के साथ ही मिली ३ बीमार कुरजां को रेस्क्यू सेंटर में भर्ती करवाया था। शुरूआत में चिकित्सकों द्वारा किए उपचार में इन बीमार पक्षियों के स्वास्थ्य में सुधार हुआ था, लेकिन सुबह अचानक एक कुरजां ने दम तोड़ दिया। पशु चिकित्सक डॉ. भागीरथ सोनी ने रेस्क्यू सेंटर पहुंचकर मामले की जानकारी ली तथा अन्य बीमार कुरजां का उपचार कर स्वास्थ्य जांच की।
पैर कमजोर थे दो कुरजां के

क्षेत्रीय वन अधिकारी बुधाराम विश्नोई ने बताया कि रेस्क्यू सेंटर में भर्ती करवाई तीन कुरजां में से दो कुरजां को चलने में दिक्कत आ रही थी। सुबह तीनों पक्षियों ने दाना लिया था। इसके बाद सुबह करीब ९.३० बजे एक कुरजां ने दम तोड़ दिया। मृत कुरजां का शव आइसबॉक्स में पैककर जोधपुर भेजा जाएगा। अब दो कुरजां रेस्क्यू सेंटर में भर्ती है। जिनका उपचार जारी है।
कब होगा मौत के कारणों का खुलासा

खीचन में एक साथ ३७ कुरजां मौत के मामले में पक्षी प्रेमी व पक्षी विशेषज्ञ मौत के कारणों का खुलासा होने का इंतजार है। वहीं वन्यजीव विभाग द्वारा मृत कुरजां के विसरा के सैम्पल लेकर अलग-अलग तीन लैबोरेट्री में भेजने की बात कही है। (कासं)

Manish Panwar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned