असहाय मासूमों के हाल जानने घर पहुंची आयोग अध्यक्ष बेनीवाल

- शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में परिवारों की व्यथा सुनी

 

By: Avinash Kewaliya

Published: 15 Jun 2021, 11:52 PM IST

जोधपुर।
राजस्थान राज्य बाल संरक्षण आयोग अध्यक्ष संगीता बेनीवाल मंगलवार को कोरोना काल में अनाथ हुए मासूमों के घर पहुंची। शहरों के साथ ग्रामीण क्षेत्र में उन्होंने परिवारों की व्यथा सुनी और सरकारी स्तर पर हर संभव मदद का आश्वासन दिया।

बेनीवाल सबसे पहले मणाई गांव पहुंची, इसके बाद बिजवाडिय़ा, ओसियां, जोधपुर शहर के चांदपोल, झालामण्ड क्षेत्रों का दौरा किया। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री के प्रयास से असहाय हुए बच्चों की समुचित परवरिश का खर्च राज्य सरकार उठाएगी। इसके साथ ही बालकों की हर संभव मदद के लिए संपूर्ण जानकारी जुटाई जा रही है। असहाय हुए बच्चों की सूचना केंद्र व राज्य सरकार के निर्देश पर राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग की ओर से संचालित बाल स्वराज पोर्टल पर अपलोड की जा रही है। बच्चों के शैक्षणिक विकास के लिए सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की पालनहार योजना में आवेदन करवाया जा रहा है, जिससे उनको राहत मिल सके। राजस्थान पत्रिका ने कोरोना काल में अपनों को खो चुके बच्चों को संबल देने के लिए अभियान शुरू किया था, इसके बाद कई भामाशाह मदद करने को आगे आ रहे हैं।

Avinash Kewaliya
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned