युवकों ने पीछा कर डीसीपी की गाड़ी रोकी, मूकदर्शक बने तीन पुलिसकर्मी निलम्बित

युवकों ने पीछा कर डीसीपी की गाड़ी रोकी, मूकदर्शक बने तीन पुलिसकर्मी निलम्बित

Vikas Choudhary | Publish: Sep, 07 2018 11:07:30 PM (IST) Jodhpur, Rajasthan, India

- कांकाणी से गुड़ा विश्नोइयान फांटा रोड पर आधी रात बाद का वाकया
- सिविल कार में बजरी खनन क्षेत्र में आकस्मिक जांच करने पहुंची थी डीसीपी मोनिका


जोधपुर/लूणी.
यूपी नम्बर की सिविल कार में आकस्मिक जांच करने निकली पुलिस उपायुक्त (पश्चिम) मोनिका सेन का गुरुवार रात कांकाणी से गुड़ा विश्नोइयान फांटा के पास जीप में सवार कुछ युवकों ने पीछा किया और उनकी कार रोक चालक से सवाल-जवाब करने लगे। इस दौरान कुछ दूरी पर लूणी थाने की जीप में सवार पुलिसकर्मी मूकदर्शक बने रहे। कार्य के प्रति लापरवाही बरतने पर थाने की जीप में सवार एएसआइ, कांस्टेबल व चालक को शुक्रवार को निलम्बित कर दिया गया। डीसीपी का पीछा करने वाले युवकों को लूणी थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।
पुलिस उपायुक्त सेन ने बताया कि वे सुरक्षा व्यवस्था और अवैध गतिविधियों की आकस्मिक जांच करने के लिए देर रात पाली रोड पर कांकाणी की तरफ निकली थी। कांकाणी से गुड़ा विश्नोइयान फांटा की तरफ मुडऩे पर सुनसान क्षेत्र में पहुंचते ही एक जीप में सवार चार लोगों ने पीछा कर उनकी कार रोक ली। जीप से उतरे युवक डीसीपी के वाहन चालक से आधी रात वहां घूमने के बारे में सवाल-जवाब करने लगे और कार के चारों तरफ खड़े हो गए। कुछ ही दूरी पर लूणी थाने की जीप मौजूद थी।
इसमें सवार पुलिसकर्मी अंधेरे में किसी राहगीर को परेशान करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की बजाय मूकदर्शन बने रहे। पुलिस की अनदेखी पर डीसीपी व गनमैन कार से बाहर निकले। यह देख युवक चौंक गए और पुलिस-पुलिस चिल्लाते हुए भाग निकले। डीसीपी को देख लूणी थाने की जीप में सवार एएसआइ हमीरसिंह के भी होश उड़ गए।
डीसीपी सेन ने एएसआइ हमीर सिंह, कांस्टेबल कुलदीप व वल्लाराम को कार्य के प्रति लापरवाही बरतने के आरोप में निलम्बित कर दिया। तीनों की भूमिका के बारे में जांच के आदेश दिए गए हैं।
डीसीपी सेन ने रात्रि में ही लूणी थानाधिकारी बंशीलाल को मौके से फरार युवकों को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए। इस पर शुक्रवार को गुड़ा विश्नोइयान निवासी ओमप्रकाश पुत्र जोराराम विश्नोई, कांकाणी निवासी भीखाराम पुत्र जगमालराम विश्नोई व फींच निवासी शेखर पुत्र जैताराम विश्नोई को शांति भंग करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया। चौथे की तलाश की जा रही है।
लम्बे अर्से बाद डीसीपी का औचक निरीक्षण
तत्कालीन पुलिस उपायुक्त (पश्चिम) अजयपाल लाम्बा ने आधी रात को औचक निरीक्षण कर गश्त के दौरान पुलिस की कारगुजारियां पकड़ी थी। उनके बाद अब डीसीपी सेन ने पुलिसकर्मियों की लापरवाही पकड़ी हैं। वे पहले भी आकस्मिक जांच कर चुकी हैं, लेकिन उस समय सरकारी कार होने से गश्त करने वाले सतर्क हो गए थे।
बजरी खनन माफियाओं पर नजर
गुड़ा विश्नोइयान, कांकाणी व लूनी क्षेत्र में न सिर्फ रात्रि में बल्कि दिन में भी बजरी का अवैध खनन व परिवहन हो रहा है। खनिज विभाग के साथ पुलिस की भी मिलीभगत है। पुलिस व गिरफ्त में आए तीनों व्यक्तियों का कहना है कि उन्होंने हरिण शिकार करने के संदेह में कार को रोका था। जबकि पुलिस को अंदेशा है कि युवक बजरी के अवैध खनन व परिवहन से जुड़े हो सकते हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned