scriptDelivery Girl: Vandana Parihar became first delivery girl of Jodhpur | Delivery Girl: पति ने छोड़ा तो बच्चों का भविष्य सुधारने के लिए बनी डिलीवरी गर्ल, देखें Video | Patrika News

Delivery Girl: पति ने छोड़ा तो बच्चों का भविष्य सुधारने के लिए बनी डिलीवरी गर्ल, देखें Video

Delivery Girl: जोधपुर की पहली डिलीवरी गर्ल बनी वंदना परिहार
- बनना चाहती थी आईपीएस लेकिन मजबूरी ने बना दिया डिलीवरी गर्ल

जोधपुर

Updated: June 12, 2022 06:48:06 pm

Delivery Girl: जयकुमार भाटी/जोधपुर. कहते है कि कोई भी काम छोटा या बड़ा नहीं होता। हर एक काम बहुत जरूरी और महत्वपूर्ण होता है। यह लोगों का नजरिया है, जो किसी काम को बड़ा या छोटा समझते है। मेरा मानना है कि मेहनत और ईमानदारी से काम करना बहुत जरूरी होता है। छोटे-छोटे कामों से शुरुआत करके ही हम आगे जाकर बड़ा बिजनेस कर सकते हैं। यह कहना है जोधपुर की पहली डिलीवरी गर्ल वंदना परिहार का। जिन्होंने अपनी जिंदगी में बहुत संघर्ष झेलने के बावजूद हार नहीं मानी और अपने बच्चों का भविष्य बनाने में जुटी गई।
Delivery Girl: पति ने छोड़ा तो बच्चों का भविष्य सुधारने के लिए बनी डिलीवरी गर्ल, देखें Video
Delivery Girl: पति ने छोड़ा तो बच्चों का भविष्य सुधारने के लिए बनी डिलीवरी गर्ल, देखें Video
आसान नहीं रहा डिलीवरी गर्ल बनने का सफर
10वीं कक्षा तक पढ़ीं वंदना पिछले डेढ़ वर्षों से पार्सल डिलिवरी कंपनी के साथ काम कर रही हैं। यहां लड़कों के साथ वंदना अकेली महिला है जो घर-घर डिलिवरी का काम करती हैं। वंदना सुबह 10 से शाम 6 बजे तक की शिफ्ट में ज्यादातर रातानाडा इलाके में ही सामान डिलिवर करती हैं। वंदना बताती हैं कि जहां भी जाती हूं लोग बड़ी हैरानी से देखते हैं।

शुरू में पापा-मम्मी व परिवार के लोगों ने इस काम को लेकर विरोध किया। लोगों के कई तरह के ताने भी सुने, बोलते रहते थे कि ये काम पुरुषों का है, लोग क्या कहेंगे। लेकिन मैंने अपनी हिम्मत नहीं हारी और धीरे-धीरे उन्हें सब सही लगने लगा। दो बार स्कूटी का एक्सीडेंट होने से मेरे दोनों हाथ फ्रेक्चर हो गए। जीवन में छोटी-मोटी समस्या व परेशानियां आती रही, लेकिन मेरे जज्बे को झुका नहीं पाई। मैंने ढीक होने के बाद फिर अपना काम संभाला। मुझे सम्भली ट्रस्ट के गोविंद सिंह, पार्सल डिलिवरी कंपनी की सिमरन व प्रीति का भरपूर सहयोग मिला। जिनकी वजह से मुझे जीवन जीने की नई दिशा मिली।
पति की यातना को झेलने के बाद भी उसने छोड़ा
वंदना ने बताया कि पांच भाई बहनों में मैं चौथे नंबर पर हूँ। पिता सीताराम ने बहनों के साथ 16 वर्ष की उम्र में वर्ष 2008 में मेरी भी शादी कर दी। शादी के बाद पति शराब पीकर आए दिन मारपीट करता था। करीब दो-तीन साल तक पति की बहुत यातना सहन की। ऐसे में बेटा कार्तिक व बेटी सोनाली का जन्म होने के बाद उसने हमें छोड़ दिया। जिससे मैं एक बार इतना टूट गई कि मुझे कोई रास्ता नजर ही नहीं आ रहा था। माता-पिता के साथ दो बच्चों की जिम्मेदारी भी मुझ पर आ गई।

मैं बचपन से आईपीएस अधिकारी बनना चाहती थी। लेकिन परिवार की रूढ़िवादी सोच से मुझे शादी करनी पड़ी और मेरी पढ़ाई रुक गई। अब मैं अपना सपना बच्चों को पूरा करते हुए देखना चाहती हूँ। ऐसे में मैं अपने दोनों बच्चों के लालन-पोषण व उच्च शिक्षा के लिए बहुत मेहनत करना चाहती हूँ। मैंने पार्सल डिलिवरी कार्य से पहले भी कई सारे काम किए। जिसमें कई तरह की दिक्कतों का सामना भी किया। फिर सम्भली ट्रस्ट का मार्गदर्शन मिला और आज इस मुकाम तक पहुंची हूँ। अब मुझे किसी भी तरह का डर नहीं लगता। मुझे महिला होने के नाते पार्सल डिलिवरी के साथ घर के भी कार्य करने पड़ते है। जिसमें बच्चों के साथ परिवार के लोगों का सहयोग भी मिलने लगा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Jammu-Kashmir: पहलगाम में 39 ITBP जवानों ले जा रही बस खाई में गिरी, 6 जवान शहीद, अमित शाह ने जताया दुखBihar Cabinet: बिहार सरकार में 'बड़े भाई' की भूमिका में राजद, तेज प्रताप सहित ये 16 विधायक बने मंत्री, ये रही नीतीश कुमार की पूरी टीमKejriwal Press Conference: केजरीवाल ने बताया कैसे बनेगा देश का हर गरीब अमीर, इन 4 बड़े कामों पर दिया जोरदलित वोट छिटकने का डर: डैमेज कंट्रोल में जुटे सत्ता-संगठन, आधा दर्जन मंत्रियों ने जालोर में डेरा डालाकौन होगा बिहार का नेता प्रतिपक्ष: जेपी नड्डा की मौजूदगी में दिल्ली में बैठक, इन मुद्दों पर भी होगी चर्चाFIFA ने भारतीय फुटबॉल महासंघ को किया सस्पेंड; महिला वर्ल्ड कप की मेजबानी भी छीनीमहागठबंधन सरकार बनते आनंद मोहन को मिली आजादी, पटना में परिजनों से मिले, जेल के बदले सर्किट हाउस में बिताई रातसीएम गहलोत का आज से तीन दिवसीय गुजरात दौरा, चुनावी तैयारियों पर पार्टी नेताओं के साथ होगा संवाद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.