scriptFintech University - 4 thousand students will study in this first univ | Fintech University - देश की पहली इस यूनिवर्सिटी में पढ़ेंगे 4 हजार स्टूडेंट्स, इन पाठ्यक्रमों का होगा संचालन | Patrika News

Fintech University - देश की पहली इस यूनिवर्सिटी में पढ़ेंगे 4 हजार स्टूडेंट्स, इन पाठ्यक्रमों का होगा संचालन

Fintech University - अगले साल दिवाली पर तैयार
- फाइनेंस व टेक्नोलॉजी के 31 पाठ्यक्रम में पढ़ेंगे 4 हजार स्टूडेंट्स
- दो ट्विन टावर, एक 16 मंजिल व दूसरा 12 मंजिल का, फाइनेंस के 4 स्कूल होंगे
अपनी फिनटैक यूनिवर्सिटी के बारे में पहली बार पूरी जानकारी पत्रिका में

जोधपुर

Published: April 26, 2022 04:20:32 pm

Fintech University - गजेन्द्र सिंह दहिया/जोधपुर. फाइनेंस और डिजिटल टेक्नोलॉजी को लेकर शहर में बनने जा रही देश की अपनी तरह की पहली राजीव गांधी फिनटेक डिजिटल यूनिवर्सिटी अगले साल दिवाली तक बनकर तैयार हो जाएगी। आईआईटी जोधपुर के पास नागौर रोड पर बन रही फिनटेक डिजिटल यूनिवर्सिटी का निर्माण 16 महीने में पूरा कर लिया जाएगा। इसमें एक साथ 31 पाठ्यक्रम संचालित होंगे जो मुख्यत: फाइनेंस व टेक्नोलॉजी से संबंधित होंगे। यूनिवर्सिटी में मुख्य रूप से फाइनेंस की ही पढ़ाई होगी। इन पाठ्यक्रमों से साल भर में 4000 विद्यार्थी कोर्स करके निकलेंगे।
Fintech University - देश की पहली इस यूनिवर्सिटी में पढ़ेंगे 4 हजार स्टूडेंट्स, इन पाठ्यक्रमों का होगा संचालन
Fintech University - देश की पहली इस यूनिवर्सिटी में पढ़ेंगे 4 हजार स्टूडेंट्स, इन पाठ्यक्रमों का होगा संचालन
राज्य के सूचना प्रौद्योगिक विभाग के देखरेख में फिनटेक यूनिवर्सिटी 41.25 एकड़ क्षेत्रफल में 672.50 करोड रुपए में बनाई जा रही है। यह दो फेज में बनेगी। प्रथम फेज में 390 करोड़ और दूसरे फेज में 232 करोड़ खर्च होंगे। पाठ्यक्रम के संचालन के लिए 50 करोड़ रखे गए हैं। सभी पाठ्यक्रम 4 स्कूल के मार्फत संचालित होंगे। इसमें स्कूल ऑफ फाइनेंशियल इनफॉरमेशन सिस्टम, स्कूल ऑफ फाइनेंसियल टेक्नोलॉजी इंस्ट्रूमेंट एंड मार्केट, स्कूल ऑफ फाइनेंशियल सिस्टम एंड एनालिटिक्स और स्कूल ऑफ फिनटेक इन्नोवेशन एंड एंटरप्रेन्योरशिप शामिल है। सूचना एवं प्रौद्योगिक विभाग ने पिछले सप्ताह मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को इस संबंध में प्रजेंटेशन दिया था, जिसमें पूरी यूनिवर्सिटी का खाका बताया गया।
दो ट्विन टावर सहित आठ इमारतें बनेगी
फिनटेक डिजिटल यूनिवर्सिटी में ट्विन टावर के रूप में दो एकेडमिक ब्लॉक बनेंगे। ब्लॉक ए 12 मंजिल और ब्लॉक बी 16 मंजिल का बनाया जाएगा। इसमें 20 स्मार्ट क्लासरूम होंगे। तीन मंजिल की वर्कशॉप बनाई जाएगी, जिसमें विश्व स्तरीय सुविधाएं होगी। नौ मंजिल का शिक्षक आवास, 7 मंजिल का गैर शिक्षकों का आवास, तीन मंजिल का निदेशक व डीन का कार्यालय, 9 मंजिल का छात्रावास और दो मंजिल का गेस्ट हाउस बनाया जाएगा। सभी इमारतें तीन ब्लॉक में होगी और तीनों ही ब्लॉक एक सीध में होंगे।
8 करोड़ का काम पूरा
फिनटेक यूनिवर्सिटी का काम तेजी से चल रहा है। फिलहाल चारदिवारी काफी बन गई है। सरकार ने विवि के लिए प्रथम किश्त के तौर पर जो 8 करोड़ रुपए दिए थे, उसका काम पूरा हो गया है।
3 से 4 साल के होंगे स्नातक पाठ्यक्रम
फिनटेक डिजिटल यूनिवर्सिटी में सर्टिफिकेट कार्यक्रम एक साल, स्नातकोत्तर कार्यक्रम 2 साल और स्नातक कार्यक्रम 3 से 4 साल तक के होंगे। प्रत्येक क्लास में 30 अथवा 60 विद्यार्थियों को प्रवेश दिया जाएगा। हर साल 10 विद्यार्थी पीएचडी करके निकलेंगे।
7 सर्टिफिकेट पाठ्यक्रम
16 स्नातक पाठ्यक्रम
8 स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम
10 पीएचडी स्टूडेंट
31 कुल पाठ्यक्रम
4000 विद्यार्थी को हर साल मिलेगी डिग्री

फिनटेक डिजिटल यूनिवर्सिटी का निर्माण 16 महीने में पूरा कर लिया जाएगा। अगले साल यह बनकर तैयार हो जाएगी।
- संदेश नायक, आयुक्त, सूचना एवं प्रौद्योगिक विभाग जयपुर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

राजस्थान में इंटरनेट कर्फ्यू खत्म, 12 जिलों में नेट चालू, पांच जिलों में सुबह खत्म होगी नेटबंदीनूपुर शर्मा पर डबल बेंच की टिप्पणियों को वापस लिया जाए, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के समक्ष दाखिल की गई Letter PettitionENG vs IND Edgbaston Test Day 1 Live: ऋषभ पंत के शतक की बदौलत भारतीय टीम मजबूत स्थिति मेंMaharashtra Politics: महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने देवेंद्र फडणवीस के डिप्टी सीएम बनने की बताई असली वजह, कही यह बातजंगल में सर्चिंग कर रहे जवानों पर नक्सलियों ने की फायरिंगपंचायत चुनाव: दो पुलिस थानों ने की कार्रवाई, प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह छाता तो उसने ट्राली भर छाता बंटवाने भेजे, पुलिस ने किए जब्तMonsoon/ शहर में साढ़े आठ इंच बारिश से सडक़ों पर सैलाब जैसा नजारा, जन जीवन प्रभावित2 जुलाई को छ.ग. बंद: उदयपुर की घटना का असर छत्तीसगढ़ में, कई दलों ने खोला मोर्चा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.